विश्व रंगमंच दिवस पर महू नगर में भव्य नाटक - विडंबना

विश्व रंगमंच दिवस 27 मार्च को शाम साढ़े सात बजे नटराज रंगमंच महू द्वारा स्थानीय तरुछाया (केन्टोनमेंट गार्डन ) महू में एक बेहतरीन नाटक "विडंबना" का आयोजन किया गया है । जो दर्शकों के लिए पूर्णत: निशुल्क है । यह नाटक दर्शकों को हंसाएगा , गुदगुदाऐगा और रुलाऐगा भी । नाटक के निर्देशक प्रसिद्ध रंगकर्मी श्री पवन नीम ने बताया कि महू नगर में होने वाले इस नाटक में 40 से अधिक कलाकार भाग ले रहे हैं । इस नाटक की विशेषता है कि इसमें स्थानीय प्रतिभाओं को अवसर प्रदान किया गया है । इस नाटक की पटकथा निर्देशक पवन नीम ने तथा संवाद महू नगर के राष्ट्रीय कवि दादा शंकर कलाकार ने लिखे हैं । इस नाटक के माध्यम से महू नगर के भूले बिसरे लोगों को तथा महू नगर की परंपराओं संजीदा करने की कौशिश की गई है । इस नाटक में रंगकर्म के मंझे हुए कलाकार श्री पवन नीम , सरोज नीम , आयूषी मिश्रा , शशांक जैन ,  कृष्णकुमार नायडू ,विजय कश्यप, मीना ठाकुर,,पायल परदेसी , रोनक यादव, अमन पाल , पियूष यादव,हिमांशु सोलंकी, ईशान परयानी , महाराजदीन वर्मा , मोक्षी सिंह लीलादेवी कैथवास , द्रोणाचार्य दुबे आदि पूरे समर्पण के साथ भाग ले रहे हैं । वैसे नटराज रंगमंच महू द्वारा महू नगर में कई बेहतरीन नाटक पूर्व समय में किये जा चुके है जिनमें बाढ़ का पानी तथा अहिल्या बाई लोगों को आज भी याद है । इस नाटक को देखने के महू नगर के गणमान्य नागरिकों में बहुत ही उत्साह है । उक्त जानकारी द्रोणाचार्य दुबेजी ने दी।



टिप्पणियाँ
Popular posts
पति ने उठाया खौफनाक कदम: धारदार हथियार से पत्नी की हत्या कर किया सुसाइड, जांच में जुटी पुलिस
चित्र
त्योहारों के मद्देनजर एसडीएम का चंद्रशेखर आजाद नगर में हुआ दौरा, झोलाछाप डॉक्टरों पर गिरी गाज
चित्र
कर्मसत्ता किसी को नहीं छोड़ती चाहे राजा हो या रंक --प्रिय लक्ष्णा श्री जी म सा
चित्र
मॉम्स ने बताए सर्दी से बचाव के तरीके
चित्र
ठेकेदार की लापरवाही भुगत रहे ग्रमीण, यह कैसा विकास ? ग्रामीणों को हर रोज करनी पड़ती है नाली की साफ सफाई जिम्मेदार सोए कुम्भकर्ण की नींद पानी की निकासी की व्यवस्था नहीं सड़क पर कीचड़ से निकलना तक मुश्किल गांव की सूरत बनाना तो दूर , जगह जगह पसरी गंदगी
चित्र