कोरोना से ठीक होने के बाद इसलिए मर रहे है लोग--ङॉ राजेश लेखी
पीथमपुर के वरिष्ठ डॉ राजेश लेखी ने मुलाकात के बाद जब यह सवाल उनसे किया गया की कोविड से ठीक होने के बाद भी लोग क्यों मर रहे है , बॉलीवुड से लेकर मीडिया इंडस्ट्री तक में कई लोग हृदय घाट से मरे , जब इस विषय पर उनसे चर्चा की गई तो डॉ लेखी ने बताया कि महामारी से ठीक होने बाद 10 से 15 दिन में लोग अचानक…
चित्र
वेक्सिनेशन ओन व्हील के लिए जिला दंडाधिकारी को डॉ लेखी का प्रस्ताव
मरीजों के लिए कई बार मसीहा साबित हुए डॉ लेखी का नया कॉन्सेप्ट ।  पीथमपुर औद्योगिक क्षेत्र और ग्रामीण क्षेत्रों के लिए वैक्सीनेशन ऑन व्हील का प्रस्ताव पीथमपुर के वरिष्ठ चिकित्सक डॉ राजेश लेखी ने एक आवेदन के माध्यम से धार जिला कलेक्टर , बीएमओ एवं सीएचएमओ से किया है । डॉक्टर लेखी ने बताया कि तीसरी ल…
चित्र
भाजपा जिला अध्यक्ष ने दिग्विजय सिंह के राष्ट्र द्रोही बयान की कड़े शब्दों में की निंदा- यशवंत जैन
*पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने अपना पाकिस्तानी चेहरा उजागर किया , देशद्रोही बयान देकर अपनी ओछी मानसिकता को प्रदर्शित किया : *लक्ष्मण सिंह नायक* *कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने हमेशा तुष्टीकरण की राजनीति कर देश को तोड़ने का काम किया  *कल सिह भाबोर*  *भाजपा जिला अध्यक्ष लक्ष्मण सिंह नायक ने दिग…
चित्र
‘नई शिक्षा नीति-2020 में स्कील डेवलपमेंट में शिक्षकों की भूमिका’ पर संगोष्ठी
स्कील डेवलपमेंट में शिक्षकों की अहम भूमिका - खंबायत महू (इंदौर)। ‘एक विकसित समाज में शिक्षकों की भूमिका बहुआयामी होती है और जब चर्चा स्कील डेवलपमेंट की हो तो शिक्षक सबसे अधिक महत्वपूर्ण होते हैं’. यह बात पंडित सुंदरलाल शर्मा इंस्ट्य्यिूट ऑफ़ वोकेशनल एजुकेशन, एन.सी.ई.आर.टी के संयुक्त निदेशक श्री राज…
चित्र
आखिर कब होगी बैंक अनलॉक- यशवंत जैन
बरझर । जिले में दो महीने से चल आ रहा लोकडौन तो खुल गया लेकिन ग्रामीण बैंक में अब भी काम काज नही हो पा रहा है ।आखिर कब इस बैंक का अनलॉक होगा यह तो खुद बैंक वालो को भी नही पता ।।    वैसे तो क्षेत्र की एक मात्र बैंक होने का गौरव प्राप्त मध्यप्रदेश ग्रामीण बैंक आज की ऑनलाइन सुविधा से पूरी तरह महरुम ह…
चित्र
मोहनदास करमचंद गांधी की परपोती आशीष लता रामगोविंद को अफ्रीका में हुई सजा का तथ्यात्मक विश्लेषण
मोहनदास   करमचंद   गांधी   जिन्हें  बहुत   से   लोग   महात्मा   भी   कहते   हैं,   मृत्यु   के  73  वर्ष   बाद   एक   बार   फिर   से   याद   किए   जा   रहे   हैं   इस   बार   चरके   से   देश   को   आजादी   दिलाने   के   लिए   नहीं   नाही   ब्रिटिश   क्रॉउन   के   प्रति   अगाध   समर्पण   के   लिए …
चित्र