आश्चर्यजनक किन्तु सत्य - इस बेंच के आधे में बैठकर ही कोई भी पी सकता है शराब

 गुजरात और महाराष्ट्र के बॉर्डर पर स्थित है एक रेल्वे स्टेशन जिसका नाम है नवापुर.   यूँ तो यह स्टेशन भी वैसा ही एक रेल्वे स्टेशन है जैसे देश भर में बाकी स्टेशन है पर यहाँ की एक ऐसी खासियत है जिसके बारे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं. 

दरअसल, इस स्टेशन का एक हिस्सा महाराष्ट्र में आता है तो दूसरा हिस्सा गुजरात में. इसी स्टेशन पर यात्रियों के विश्राम के लिए  बहुत सारी  बेंच लगी हैं  और उनमें से एक बेंच जो स्टेशन के लगभग  बीचोबीच है,  बड़े कमाल की है. बेंच का आधा हिस्सा गुजरात में आता है तो आधा हिस्सा महाराष्ट्र में. 

 रेलवे ने भी  इस बात को  बखूबी दर्शाया है  और बाकायदा पेंट से  एक लाइन खींची है जिसके एक तरफ महाराष्ट्र लिखा है तो एक तरफ गुजरात.  वैसे तो बेंच पर इस तरह की मार्किंग करना कौतूहल पैदा करता है पर रेलवे ने इसे अपनी जिम्मेदारी समझी ताकि यात्रियों को पता चल सके कि जो काम गुजरात में मना है वह बेंच के गुजरात वाले हिस्से पर बैठकर ना किया जाए और जो काम महाराष्ट्र में मना है वह बेंच के महाराष्ट्र वाले हिस्से पर बैठकर ना किया जाए. 

 जहां तक महाराष्ट्र में किसी तरह के निषेध के बारे में पता किया तो ऐसा कुछ नहीं मिला पर गुजरात में जैसा कि जगजाहिर है, कि शराब बिल्कुल निषेध है. 

ऐसी स्थिति में अगर कोई व्यक्ति गुजरात वाली साइड पर बैठकर शराब पीता है तो वह अपराध करता है पर अगर महाराष्ट्र वाली साइड पर बैठकर शराब पीता है तो वह अपराध की श्रेणी में नहीं आयेगा. 

है न मजेदार बात 🙄🙄

b