नगरपालिका अध्यक्ष प्रतिनिधि की पहल पर प्रबुद्धजनों , सामाजिक संगठनों व उधोगों के सहयोग से शहर के गरीबों को वितरित की जाएगी खाद्य सामग्री , पैदल जा रहे लोगों व अन्य जरूरतमंदों को भोजन के पैकेट वितरित

पीथमपुर :: पीथमपुर नगरपालिका की अध्यक्ष कविता वैष्णव के पति भाजपा नेता संजय वैष्णव की पहल पर पीथमपुर की संस्था आराधना के बैनर तले क्षेत्रीय विधायक नीना विक्रम वर्मा के मार्गदर्शन में कोरोना वायरस की वैश्विक महामारी को देखते हुवे देशव्यापी लॉक डाउन के चलते पीथमपुर नगर में अधिकांश बाहरी श्रमिक परिवार सहित रहते उन्हें अधिकतर ऐसे लोग हैं जो 7000 से 10000 रुपए महीना कमाकर मकान किराया , बच्चों की पढ़ाई व अपने रोजमर्रा के खर्चे के अलावा अपने गाँव में अपने माता पिता या अन्य परिजनों के लिए भी राशि भेजते हैं तो कई दिहाड़ी मजदूरी करके अपना पेट पालते हैं तो कुछ ऐसी इकाइयां भी जो कुछ सालों से बंद हो गई और वहाँ काम करने वाले लोग दिहाड़ी मजदूरी करके अपना घर चला रहे हैं ऐसे हजारों लोगों में नगरपालिका अध्यक्ष प्रतिनिधि वैष्णव ने विभिन्न माध्यमों से ऐसे लगभग 1500 परिवारों की सूची बनवाई । ऐसे लोगों के लिए श्री वैष्णव ने अपने सहयोगियों व संस्थाओं से फ़ोन पर चर्चा कर आटा , चावल , दाल ,तेल , मसाले सहित विभिन्न रोजमर्रा में उपयोगी खाद्य सामग्री एकत्र करवाकर उसके लिए पैकेट बनवाए जिसमें एक परिवार के लिए कम से कम 15 दिन का राशन हो बनाए जा रहे हैं जिसे अलग अलग क्षेत्रों में चयनित लोगों को नगरपालिका की गाड़ी व कर्मचारी के द्वारा संस्था आराधना के एक एक सदस्य साथ में जाकर संबंधित परिवार को देंगे ।000
उधोगों से चर्चा कर भोजन के पैकेट भी वितरित करवाए जाएंगे प्रतिदिन :: श्री वैष्णव ने बताया कि उन्होंने क्षेत्र की लार्ज औधोगिक इकाई जैसे फोर्स मोटर , आयशर मोटर्स , महेंद्रा ,ल्युपिन , सिप्ला , एसआरएफ ,प्रतिभा सहित लगभग दो दर्जन फेक्टरियों से अलग अलग संख्या में भोजन के पैकेट तैयार करवाकर नगरपालिका के झोन कार्यालयों , स्थानीय पुलिस अधिकारियों व कर्मियों , जनप्रतिनिधियों , नगरपालिका के कर्मचारियों के सहयोग से क्षेत्र के ऐसे लोगों जिनके पास खाना बनाने खाने का कोई आधार नही हो अथवा मुख्य मार्गों से पैदल ही अपने गंतव्यों की तरफ जाने वाले लोगों को भोजन के पैकेट दिए जा रहे हैं ।
श्री वैष्णव ने बताया कि उन्हें मार्गों पर सूरत से गुना , ग्वालियर, मथुरा एवं भोपाल से झाबुआ की ओर पैदल जा रहे लोगों को स्थानीय रेन बसेरा में ठहरवा कर विभिन्न माध्यमों से भेजने की व्यवस्था भी की जा रही हैं। 
नीजि संस्थाए व व्यक्तिगत स्तर पर भी गरीबों के सेवा के लिए सामने आए लोग :: कोरोना के कारण अचानक हुवे लम्बे लॉक डाउन से लोगों को हो रही परेशानी में लोगों के मदद में जहाँ सरकार सभी प्रयास कर रही हैं वही समाज के विभिन्न वर्गों के लोगों के अलावा जनप्रतिनिधियों व खासकर पड़ोस ,मोहल्ले या गाँव में रहने वाले लोगों की मदद के लिए समाजसेवी आगे आ रहे हैं । पीथमपुर के डॉक्टर हेमंत हिरोले अपने सहयोगियों की मदद से पीथमपुर
की कई बस्तियों में जाकर भोजन के पैकेट वितरीत किए । सागौर के एकता ग्रुप के हाजी निसार एहमद मिरदा व भुरू भाई , उपाध्यक्ष हँसराज पटेल , रामनारायण चौधरी ,पार्षद मनोज धाकड़ , युवा नेता प्रकाश धाकड़ , पार्षद रणजीत भंडारी आदि लोगों ने अपने अपने क्षेत्र के लोगों की मदद के लिए आगे आए । एकता कंपनी के भुरू भाई ने बताया कि प्रशासन इजाजत दे तो वे इंदौर से खाद्य सामग्री दाल ,चावल ,आटा व मसाला आदि सामग्री क्षेत्र के जरूरतमंदों को वितरित कर सकते हैं ।