धार डीआरपी लाइन में शस्त्रों का हुआ पूजन, कलेक्टर-एसपी ने दी यज्ञ में आहुतियां, पूजन के बाद किया हर्ष फायर, मंत्रोच्चार से हुआ परंपरागत कार्यक्रम

आशीष यादव, धार 

शहर के डीआरपी लाइन में दशहरे पर शस्त्र पूजन किया गया। परंपरागत मंत्रोच्चार के साथ पूजन हुआ यज्ञ में आहुतियां दी गई साथ ही पूजन के बाद हर्ष फायर भी किया गया कार्यक्रम में एसपी आदित्य प्रताप सिंह सहित कलेक्टर डॉ. पंकज जैन भी शामिल हुए। कोरोना के दो सालों बाद बुधवार को भव्य स्तर पर शस्त्र पूजन कार्यक्रम लाइन में आयोजित हुआ सुबह 9 बजे से पुलिस अधिकारी लाइन में पहुंचे थे जहां पर विधिवत पूजन कर कार्यक्रम हुआ एसपी सिंह ने पारंपरिक पगड़ी व परिधान को पहनकर पूरे विधि-विधान से पूजा अर्चना की। एक घंटे चली पूजा के दौरान वैदिक मंत्रोचर से पुलिसकर्मियों के उपयोग में आने वाले शस्त्रों का पूजन एसपी सिंह से करवाया। इसके बाद यज्ञ में आहुति भी पुलिस अधिकारियों द्वारा दी अंत में आरती कर प्रसाद का वितरण भी किया गया। साथ ही दशहरे के अवसर पर एसपी सिंह द्वारा परंपरानुसार हर्ष फायर किया व वरिष्ठ अधिकारियों ने पूजा में उपस्थित सभी पुलिसकर्मियों को दशहरे की शुभकामनाएं दी। इसके बाद पुलिस अधिकारियों द्वारा अपने-अपने वाहनों की पूजा भी की गई। कार्यक्रम के अंत में दशहरे के पर्व पर पुलिस लाइन में पौधारोपण भी अतिथियों के द्वारा किया गया।

पुलिस लाइन में शस्त्र पूजा के बाद एसपी आदित्य प्रताप सिंह ने विजयादशमी के मौके पर सुख शांति की कामना के साथ ही लोगों को विजयदशमी पर्व की शुभकामनाएं दी। इस दौरान पुलिस अधिक्षक सिंह ने बताया विजय दशमी असत्य पर सत्य की जीत का पर्व है। कार्यक्रम में लाइन के शस्त्रागार में रखे गए सारे असलहों को लाकर रखा गया। 303 राइफल, एसएलआर, कार्बाइन, इंसास, पिस्टल, रिवाल्वर आदि को आकर्षक ढंग से सजा कर रखा है। इसके बाद मंत्रोच्चार के साथ पूजन शुरू हुआ, फिर हवन-आरती के साथ पूजन हुआ। कार्यक्रम में एएसपी देवेंद्र पाटीदार, उप पुलिस अधीक्षक नीलेश्वरी डावर, होमगार्ड कमांडेंट आरपी मीणा, रक्षित निरीक्षक अरविंद दांगी शामिल हुए। 



टिप्पणियाँ
Popular posts
पति ने उठाया खौफनाक कदम: धारदार हथियार से पत्नी की हत्या कर किया सुसाइड, जांच में जुटी पुलिस
चित्र
त्योहारों के मद्देनजर एसडीएम का चंद्रशेखर आजाद नगर में हुआ दौरा, झोलाछाप डॉक्टरों पर गिरी गाज
चित्र
कर्मसत्ता किसी को नहीं छोड़ती चाहे राजा हो या रंक --प्रिय लक्ष्णा श्री जी म सा
चित्र
मॉम्स ने बताए सर्दी से बचाव के तरीके
चित्र
ठेकेदार की लापरवाही भुगत रहे ग्रमीण, यह कैसा विकास ? ग्रामीणों को हर रोज करनी पड़ती है नाली की साफ सफाई जिम्मेदार सोए कुम्भकर्ण की नींद पानी की निकासी की व्यवस्था नहीं सड़क पर कीचड़ से निकलना तक मुश्किल गांव की सूरत बनाना तो दूर , जगह जगह पसरी गंदगी
चित्र