मध्य प्रदेश के 15 जिलों की पहली अग्निवीर सेनिकों की रिक्रूटमेंट रैली स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया स्टेडियम धार में एक सितम्बर से शुरू होगी

आशीष यादव, धार 

मध्य प्रदेश के 15 जिलों की पहली अग्निवीर सेनिकों की रिक्रूटमेंट रैली स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया स्टेडियम धार में शुरू होगी। पहली अग्निवीर भर्ती की भारतीय सेना में अग्निवीरों की भर्ती शुरु हो गई है। इन नौजवानों की भर्ती के लिए सेना ने देश के अलग-अलग हिस्सों में रिक्रूटमेंट रेलिया शुरु कर दी हैं। अग्निपथ स्कीम के तहत मध्यप्रदेश में जोनल रिक्रूटमेंट ऑफिस (जेडआरओ) जबलपुर द्वारा पहली अग्निवीर भर्ती धार जिले में भर्ती कार्यालय महू द्वारा एक सितंबर से 10 सितंबर आयोजित की जा रही है। इसमें अग्निवीर जनरल ड्यूटी, अग्निवीर क्लर्क, अग्निवीर ट्रेडमेन तथा अग्निवीर टेक्निकल के लिए भर्ती की जाएगी। महू एआरओ में करीब 60 हजार नौजवानों ने आवेदन किया है। ऐसे में 10 दिन तक रोजाना 5 हजार से ज्यादा नौजवान यहाँ अग्निवीर बनने के लिए पहुंचेंगे। निदेशक भर्ती कार्यालय कर्नल बलजीत सिंह ने बताया कि अग्निवीरों की भर्ती प्रक्रिया ठीक वैसी ही है जैसाकि अभी तक आम सैनिकों की होती आई थी। सिर्फ दो बदलाव किए गए हैं, पहला ये कि आयु में दो वर्ष की ढील दी गई है। ये इसलिए क्योंकि कोरोना महामारी के चलते पिछले दो सालों से सेना में भर्ती नहीं हुई थी। दूसरा ये कि जिन आवेदकों नो आईटीआई (आईआईटी नहीं) का सर्टिफिकेट कोर्स किया हुआ है ,उन्हें फाइनल स्कोर में एक्सट्रा मार्क्स (नंबर) मिलेंगे।

कर्नल बलजीत सिंह ने बताया कि सभी अभ्यर्थी जिन्होंने अपना पंजीयन जॉइन इंडियन आर्मी की वेबसाइट पर किया है, उनको एडमिट कार्ड भेज दिया गया है। एडमिट कार्ड पर दिए गए तारीख पर उम्मीदवार अपने साथ आवश्यक दस्तावेज ऑनलाइन प्रवेश पत्र का प्रिंट आउट, मूल शिक्षा प्रमाण पत्र, मार्कशीट और उच्च शिक्षा प्रमाण पत्र, स्कूल कॉलेज से स्थानांतरण/स्कूल छोड़ने का प्रमाण पत्र, अधिकृत हस्ताक्षरकर्ता द्वारा जारी जाति प्रमाण पत्र और अधिकृत हस्ताक्षरकर्ता द्वारा विधिवत हस्ताक्षरित अधिवास/जन्म/निवास प्रमाण पत्र, आधार कार्ड, एक ही निगेटिव से बने नवीनतम पासपोर्ट आकार के फोटो (आकार 5&4 सेमी) की न्यूनतम पंद्रह कॉपी अपने साथ लाएं। उम्मीदवार अपने साथ आधार से लिंक मोबाइल भी लेकर आएं। अगर अभ्यर्थी दस्तावेज लेकर नहीं आएगा तो उसे भर्ती में शामिल नहीं होने दिया जाएगा। इन बातों का रखें ध्यान रखें कि अलग-अलग/कम्प्यूटरीकृत फोटोग्राफ स्वीकार नहीं किए जाएंगे। धूप का चश्मा और टोपी के साथ फोटोग्राफ स्वीकार नहीं किया जाएगा। फोटो में उम्मीदवार का चेहरा दोनों कानों को दिखाते हुए बहुत स्पष्ट होना चाहिए। इसके साथ ही उम्मीदवार के पास यदि एनसीसी सर्टिफिकेट, स्पोर्ट्स सर्टिफिकेट, आईटीआई/डिप्लोमा प्रमाणपत्र, लाइट मोटर वाहन (एलएमवी) ड्राइविंग लाइसेंस है, तो वो भी साथ लाना होगा। वेबसाइट पर शपथ पत्र प्रारूप के अनुसार शपथ पत्र भी लाना होगा।

भर्ती प्रक्रिया की जानकारी देते हुए निदेशक महू ने बताया की सभी आवेदकों को सबसे पहले 1600 मीटर की रेस में हिस्सा लेना होता है। एक तय समय सीमा में इस दौड़ को पूरा करने वाले नौजवानों को अगले चरण के लिए रजिस्ट्रेशन करना होता है। यहां सभी आवेदकों का बायोमैट्रिक से लेकर रजिस्ट्रेशन के दौरान दिए गए दस्तावेज और जानकारी क्रॉसचेक की जाती है। सेना के अधिकारी इन आवेदकों के सभी जानकारी अपने सिस्टम के डाटा बेस में जमा कर लेते हैं। रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया के बाद फिजीकल फिटनेस और स्टेमेना की बारी आती है इसके लिए आवेदकों को पुल अप. 9 फीट जंप और हर्डल्स पर जिगजैग चलना होता है। इसके बाद होता है मेडिकल फिटनेस यानि कद, वजन और सीना कितना है। ये सब प्रक्रिया पूरी होने के बाद इन सफल आवेदकों का 16 अक्टूबर को लिखित एग्जाम महू में होगा जिसके लिए मेडिकल के बाद एडमिट कार्ड दिया जाएगा। सभी उम्मीदवारों को चेतावनी देते हुए निदेशक ने कहा की फर्जी व नकली दस्तावेजों के साथ अगर कोई भी उम्मीदवार पकड़ा जाएगा, तो ऐसे धोखेबाजों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। निदेशक भर्ती कार्यालय ने उम्मीदवारों से दलालों और असामाजिक तत्वों से सावधान रहने का आग्रह किया है। 



टिप्पणियाँ
Popular posts
धार में आयोजित होगा देश का प्रतिष्ठित साहित्योत्सव नर्मदा साहित्य मंथन का द्वितीय सौपान भोजपर्व!
चित्र
स्वतंत्रता के अमृत महोत्सव के अवसर पर समर्थ पार्क में निवासरत पूर्व सैनिकों का किया गया सम्मान
चित्र
त्योहारों के मद्देनजर एसडीएम का चंद्रशेखर आजाद नगर में हुआ दौरा, झोलाछाप डॉक्टरों पर गिरी गाज
चित्र
Workshop under STRIDE project for e- development of BRAUSS campus held
चित्र
राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 का क्रियान्वयन संभावना और चुनौती पर अंबेडकर राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 का क्रियान्वयन संभावना और चुनौती पर अंबेडकर राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 का क्रियान्वयन संभावना और चुनौती पर अंबेडकर विश्वविद्यालय में राष्ट्रीय संगोष्ठी में राष्ट्रीय संगोष्ठी में राष्ट्रीय संगोष्ठी
चित्र