आधुनिक दौर के पँचायत चुनाव~ समय के साथ बदलते दौर में बदलते चुनाव तरीके से प्रचार कर रहे गांवों में सरपंच प्रत्याशी~ ग्रामीण इलाकों में बदला प्रचार करने का तरीका हर रोज आ रहे नए नुस्खे

आशीष यादव धार

समय के साथ बदलते परिवेश और बदलते आधुनिकता के जमाने में बदलते प्रसार करने के तरीके वही सात साल बाद त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में इस बार पोस्टर बैनर की बजाय इंटरनेट मीडिया में प्रचार का नया अंदाज सबको खूब लुभा रहा है। दरअसल इस बार गांव में हर घर और हर हाथ में एंड्राइड मोबाइल होने से नेता जी चुनाव प्रचार के हाईटेक तरीके को ज्याद तवज्जों दे रहे है। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में इस बार पोस्टर बैनर के साथ इंटरनेट मीडिया में प्रचार का नया अंदाज सबको खूब लुभा रहा है। दरअसल इस बार गांव में हर घर और हर हाथ में एंड्राइड मोबाइल होने से नेता जी चुनाव प्रचार के हाईटेक तरीके को ज्याद तरजीह दे रहे हैं।


पहले ओर आज में रात दिन का अंतर

पिछले पंचायत चुनाव के दौरान देखने में आता था कि गांवों की गलियां पोस्टर-बैनर से पट जाती थीं, लेकिन वक्त के साथ चुनाव प्रचार का तरीका भी तेजी से बदला है। इस बार उम्मीदवार प्रचार के लिए पोस्टर बैनर से ज्यादा इंटरनेट मीडिया का उपयोग बखूबी कर रहे हैं। जिला व जनपद पंचायतों के सदस्य सहित ग्राम पंचायतों के सरपंच व पंच पद के प्रत्याशी इस बार फेसबुक, व्हाटसएप से प्रचार करने पर ज्यादा जोर दे रहे हैं। व्हाटसएप पर सुबह सुप्रभात और शाम को शुभरात्रि जैसे अभिवादन वाला मैसेज सेंड करके मतदाताओं को लुभाया जा रहा है। वार्ड संख्या के हिसाब से प्रत्याशियों ने अलग-अलग ग्रुप बना रखे हैं। मोबाइल पर प्रचार गावों में चर्चा का विषय बना है, जो लोगों को पसंद भी आ रहा है। मजे की बात तो ये है कि उम्रदराज अधिकांश उम्मीदवारों को मोबाइल में केवल काल रिसीव और काल करना ही आता है, लेकिन वे भी नए जमाने के हाईटेक प्रचार में किसी से पीछे नहीं हैं। दरअसल वे अपने घर के युवाओं और बच्चों से अपनी फोटो खिंचवाकर अपलोड कराते हैं और गांव के समग्र विकास की अपील वाटसअप ग्रुप में सेंड करके अपनी बात लोगों तक पहुंचा रहे हैं। ग्रामीणों के सवालों के जवाब भी मैसेज के रूप में सेंड कर रहे हैं। गांव में घर-घर जनसंपर्क का लाइव वीडियो इंटरनेट मीडिया पर वायरल करके प्रत्याशी अपने पक्ष में माहौल बनाने का कोई मौका नहीं छोड़ रहे हैं। प्रत्याशी ही नहीं बल्कि उनके समर्थकों से लेकर पारिवारिक लोग भी फेसबुक, व्हाटसएप जैसे तमाम प्लेटफार्म पर चुनाव प्रचार की पोस्ट सेंड करके वोट देने की अपील करने में पीछे नहीं हैं।


विकास किया या नही उनके फोटो डाल रहे:

वही ग्राम पंचायत चुनाव को देखते हुए व्हाट्सएप फेसबुक के माध्यम से गांव में कौनसा विकास हुआ कौन सा विकास नहीं हुआ इसके फोटो ग्रुप व अन्य इंटरनेट के माध्यम से सार्वजनिक किए जा रहे हैं इंटरनेट पर चुनावी घमासान में सबसे मजे की बात तो ये है कि जिस उम्मीदवार के घर के बाहर नाली से पानी बह रहा हो, गंदगी के ढेर लगे हों उस घर के फोटो वायरल करके कहा जा रहा है कि जो घर साफ नहीं कर पाया वो गांव का विकास क्या करेगा। इस तरह से सवाल-जवाब वाले हाईटेक चुनाव प्रचार का मतदाता भी खूब मजा ले रहे हैं। वही कोन व्यक्ति भारी है कौन किसके पक्ष में यह भी देखा जा रहा है

खर्च कम हो रहा ओर प्रचार

ग्राम पंचायत सरपंच पद के प्रत्याशियों ने बताया कि अब गांव-देहात में हर किसी के पास मोबाइल फोन हैं। ऐसे में प्रचार का इंटरनेट साइट से अच्छा दूसरा कोई विकल्प नहीं हो सकता। इससे पोस्टर-बैनर का खर्च भी बच रहा है। कम खर्च में अधिक से अधिक लोगों से आसानी से संपर्क करके अपनी बात उन तक पहुंचा रहे हैं। एक-एक प्रत्याशी के तीन-तीन वाट्सएप ग्रुप बनाए हैं। इन ग्रुपों में प्रत्याशी अपने प्रचार के साथ-साथ दूसरे प्रत्याशियों की जमकर बुराई भी कर रहे हैं। ग्रुप में प्रत्याशी अपने बारे में गाने भी प्रसारित कर रहे हैं, जो स्थानीय गायकों ने गाए हैं। वही हर एक मीनट के अंतराल में एक नई पोस्ट डाल कर अपने प्रत्याशी का प्रचार कर रहे हैं वही इसके लिए तो कहीं सरपंच पद के प्रत्याशियों ने व्यक्तियों को रख रखा है जिसका वह प्रचार कर रहे हैं

पुरानी परंपरा बंद

आधुनिकता के दौर में चुनाव भी आधुनिक होने लगे हैं वही आधुनिकता को देखते हुए सरपंच प्रत्याशी भी इस बार आधुनिक तरीके से अपना प्रचार प्रसार कर रहे हैं गांव के मतदाता यशवंत तंवर बताइए कुछ साल पहले तक दीवारों पर पंचायत चुनाव के स्लोगन लिखकर प्रचार प्रसार करते थे एक जमाना होता था जहां गांव की हर गली में चुनाव- प्रचार से सटी रहती थी मगर आज पुराने दौर को कोसों दूर छोड़ते हुए इंटरनेट से आधुनिक जमाने ने प्रचार की जगह ले ली हुई आज गांव में फ्लेक्स बैनर भी कम लगने लगे हैं वह नेट के माध्यम से घर-घर संदेश पहुंचा कर प्रचार किया जा रहा है जिला व जनपद पंचायतों के सदस्य सहित ग्राम पंचायतों के सरपंच व पंच पद के प्रत्याशी इस बार फेसबुक व्हाट्सएप से प्रचार करने लगे व अपने पक्ष में मतदान करने की अपील कर रहे है।




फोटो - गुपो में प्रसार प्रचार करने प्रत्याशी

टिप्पणियाँ
Popular posts
स्टेयरिंग फेल होने से घर में घुसी पिकअप, ड्राइवर की मौके पर ही मौत तीन घायल, - घटना के बाद ग्रामीणों ने स्टेट हाईवे पर लगाया जाम, वाहनों की लंबी कतार
चित्र
कोठीदा का मिट्टी वाला बांध हुआ लिकेज, एक दर्जन से अधीक ग्राम के लोग घबराए
चित्र
तबाही का मंझर आंखों के सामने~~~ 2 दिन से चल रहा डेम में लीकेज सही करने का काम, बाँध को खाली करने की जा खुदाई में आ रही दिक्‍कत दोनों ओर बनाई जा रही चेनल
चित्र
दोषियों पर कारवाई क्यो नही:, वीडियो से मिली डेम की लगी जानकारी जिम्मेदार अधिकारी को पानी रिसने की नही थी जानकारी, जल संसाधन मंत्री तुलसी सिलावट ने उद्योग मंत्री दत्तीगांव के साथ किया मुआयना
चित्र
बाग में पटवारी की मिलीभगत से दूसरे जमीन घोटाले में भी केस दर्ज
चित्र