बड़ी कार्रवाई~ तिवारी-जैन पर धोखाधड़ी का प्रकरण दर्ज, लायसेंस निरस्ती की कार्रवाई भी प्रारंभ, बंधक रखे करोड़ों के 19 भूखंड की अफरा-तफरी पर नपा की शिकायत पर पुलिस ने की एफआईआर दर्ज, गैर जमानती धारा 406 भी लगाई

आशीष यादव, धार

मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान के निर्देश पर बदमाशों के खिलाफ जारी अभियान के तहत धार पुलिस ने जमीन के जादूगरों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की है। वर्तमान में करोड़ों कीमत के बंधक 19 प्लाटों की अफरा-तफरी के मामले में कॉलोनाईजर इंदौर निवासी गौतम पिता गजेन्द्र जैन और अनूज उर्फ भोला तिवारी निवासी सिल्वरहिल धार के विरुद्ध धोखाधड़ी सहित अन्य धाराओं में प्रकरण दर्ज किया है। यह प्रकरण नगरपालिका द्वारा की गई शिकायत के बाद दर्ज हुआ है। महज 24 घंटे के भीतर पुलिस ने जमीन की अफरा-तफरी मामले में शिकायत दर्ज की है।उल्लेखनीय है कि 5 माह पूर्व 28 नवंबर 2021 को भी धार पुलिस ने करीब 250 करोड़ (वर्तमान कीमत) की भूमि अफरा-तफरी मामले में भी 26 लोगों एवं 1 संस्था के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया था।


यह है मामला

धार में कलेक्टर कार्यालय से महज 500 मीटर दूरी पर निहाल नगर साई रेसीडेंसी नाम से कॉलोनी है। इस कॉलोनी में विकास कार्य परमिशन हेतु नगरपालिका में गरीब वर्ग के लिए आरक्षित 19 प्लांट बंधक रखे गए थे। इस मामले में नगरपालिका को सूचना दिए बगैर और बगैर पूर्णता प्रमाण पत्र प्राप्त किए बंधक भूखंडों को विक्रय कर शासन के साथ धोखाधड़ी की गई थी। नगरपालिका सीएमओ निशिकांत शुक्ला के संज्ञान में यह मामला आने के बाद जानकारी जुटाई गई। जिसके बाद कॉलोनी मालिक गिन्नी रियलिटी के गौतम जैन और मुख्तियार धार निवासी भोला तिवारी के विरुद्ध धारा 420 और 406 में प्रकरण दर्ज किया गया है। इसमें धारा 406 गैर जमानती है।


लायसेंस निरस्ती की कार्रवाई शुरु

पुलिस में दोनों आरोपितों के विरुद्ध प्रकरण दर्ज कराने के बाद कॉलोनाईजर का लायसेंस निरस्ती की कार्रवाई भी प्रक्रिया में शुरु हो गई है। नगरपालिका ने अनुविभागीय अधिकारी राजस्व धार को पत्र लिखकर मामले के संबंध में जानकारी दी है। एसडीएम से कॉलोनी का नवीनीकरण लायसेंस निरस्त करने के लिए लिखा है। इस पर भी शीघ्र कार्रवाई होगी। उल्लेखनीय है कि वर्ष 2016 में प्लाट बंधक रखे गए थे।


इनका कहना है

नगरपालिका के माध्यम से आवेदन पत्र प्राप्त हुआ था। इसके आधार पर संबंधितों के विरुद्ध प्रकरण दर्ज कर लिया गया है। इसके पश्चात जो भी आगे की कार्रवाई होगी वह की जाएगी~~ आदित्य प्रतापसिंह, एसपी धार


बंधक प्लाटों को विक्रय करने का कृत्य धोखाधड़ी की श्रेणी में है। इस तरह के मामलों की पुनर्रावृत्ति ना हो और मामले में लिप्त लोगों को उनके दोष के अनुसार सजा मिले इस उद्देश्य से आवेदन दिया गया था। पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर लिया है~~ निशिकांत शुक्ला, सीएमओ नपा धार


धार नगरपालिका एवं जिले के अन्य नगरीय क्षेत्रों में कॉलोनाईजरों द्वारा लंबे समय से जो प्लाट बंधक रखे गए हैं। उन सबकी जांच होना चाहिए। यदि इस तरह का मामला और कहीं भी घटित हुआ है तो कार्रवाई होना चाहिए। गरीबों के लिए आरक्षित बंधक भूखंड साई रेसीडेंसी निहाल नगर में किन लोगों ने खरीदे है इसकी भी जांच होना चाहिए। यदि गरीब वर्ग ने ही खरीदे हैं तो व्यवस्था अनुरुप कार्य है। यदि गरीबों के आरक्षित प्लाट सक्षम लोगों को विक्रय किए गए हैं तो इस मामले में भी कार्रवाई होना चाहिए~~ नीलेश पांडे, नागरिक अधिकार समिति


यह कॉलोनी मेरी है ही नहीं - भोला तिवारी, धार 



टिप्पणियाँ
Popular posts
*धरती माँ की प्यास बुझाने के लिए महु में होंगा हलमा*
चित्र
म.प्र. के गुना में हुए शिकार, शिकारियों द्वारा तीन पुलिसकर्मियों की हत्या & शिकारियों की पृष्ठभूमि का वरिष्ट पत्रकार अतुल गुप्ता द्वारा बहुत ही सटीक विश्लेषण
चित्र
तिरला पुलिस के 3 दिन के रिमांड पर भू कारोबारी भोला तिवारी, जमीन खरीदी में धोखाधड़ी के मामले में महिला की शिकायत पर दर्ज हुआ था प्रकरण
चित्र
प्रेशर से फीस मांग नहीं सकते,छात्रवृत्ति मिली आधी रोकस ने थमा दिए 1 करोड़ चुकाने के नोटिस, मुश्किल में 12 नर्सिंग कॉलेज के संचालक, कोविड काल में ट्रेनिग की राशि मांग
चित्र
अलीराजपुर जिले की स्थापना दिवस पर चंद्रशेखर आजाद नगर में गौरव रैली का आयोजन
चित्र