कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने किया जिले के दूरस्थ अंचल का भ्रमण

 आशीष यादव, धार

जिले के दूरस्थ अंचल ग्राम कातरखेडा, विभिन्न ग्रामो में किया निर्माण कार्य एवं भवनों का अवलोक 

कलेक्टर डॉ पंकज जैन बुधवार को जिले के दूरस्थ अंचल डही क्षेत्र में भ्रमण पर रहे। इस दौरान एसडीएम कुक्षी नवजीवन पंवार साथ मौजूद रहे।

भ्रमण के दौरान सबसे पहले वे डही क्षेत्र के पिथनपुर पहुंचे और यहां उन्होंने उद्यानिकी विभाग की नर्सरी को देखा। साथ ही वहां के पौधों और पानी की उपलब्धता की जानकारी ली और निर्देश दिए कि नर्सरी को प्रार्यवेट नर्सरी जैसा बेहतर किया जाए। उन्होंने वहां काम कर रही आजीविका समूह की महिलाओं से चर्चा कर पौधे बनाने की जानकारी ली। उन्होंने उद्यानिकी विभाग के अधिकारी से नर्सरी से होने वाली इनकम की जानकारी ली और कहा कि जब प्राइवेट व्यक्ति सरकारी नर्सरी से पौधे ले जाए तब उस नर्सरी की क्वालिटी का पता चलता है। इसे उस तरह ही विकसित करें ताकि लोग यहॉ से अधिक से अधिक पौधे ले जाए। उन्होंने कहा कि यहॉ आम के पौधों के बीच गेप फीलिंग कराएं जाए। यहां के बादाम के पौधे बहुत अच्छे है, उन्हे शासकीय भवन के परिसर में लगाया जाए और यदि पौधे फिर भी बच जाते है तो उन्हें मुख्यालय पहुंचाया जाए। उन्होंने निर्देश दिए कि क्षेत्र में एक ही नर्सरी होने पर यहां के लोगों को नर्सरी खोलने के लिए लोन दिया जाए। जिससे यहॉ के लोगों को रोजगार का अवसर मिल सके। यहां उन्हें बताया गया कि नाले के पानी से बारिश में पौधों को नुकसान पहुंचता है। उन्होंने निर्देश दिए कि मनरेगा के अंतर्गत बोल्डरवॉल बनाया जाए। इसके बाद वे पड़ियाल पहुंचे और मध्यप्रदेश ग्रामीण बैंक के ग्राहक सुविधा केंद्र का अवलोकन कर वहॉ दी जा रही सेवाओं के बारे में जानकारी ली। साथ ही केंद्र द्वारा आधार कार्ड से पैसे की प्रक्रिया को संचालनकर्ता द्वारा करवा कर देखा। इसके बाद उन्होंने आजीविका मिशन अंतर्गत उन्नति उत्पादन समूह द्वारा बनाए जा रहे मिर्च पाउडर की प्रक्रिया को देखा और विभागीय अधिकारी को निर्देश दिए कि इसकी पैकेजिंग स्टैंडर्ड किया जाए और इसकी बाहर मार्केटिंग भी की जाए जिससे यहॉ के उत्पाद का आस-पास के क्षेत्र में भी विक्रय किया जा सके।

उन्होंने काजलमाता मंदिर की पहाड़ी पर पहुँचकर मनरेगा योजना अंतर्गत किए गए पौधरोपण कार्य को देखा और पौधारोपण भी किया। उन्होंने कहा कि यहाँ के पौधों को सुरक्षित रखा जाए और पास की पहाडी पर भी पौधारोपण किया जाए। इसके बाद उन्होंने आजीविका मिशन के समूह नर्मदा द्वारा संचालित शिवानी पॉल्ट्री फॉर्म देखा और समूह की आमदनी की जानकारी ली। उन्होंने संबंधित विभाग के अधिकारी को कहा कि इसी तरह अन्य व्यक्तियों को भी इस कार्य के लिए प्रेरित करें। ग्राम भगांवा में उन्होंने नलजल योजनाओं अंतर्गत लगाई गई पाइपलाइन को देख मौके पर रहवासी के घर से पानी बुलावा कर टेस्ट करवाया। उन्होंने पीएचई विभाग के अधिकारी को निर्देश दिए कि यहां जिस एक मकान में नल कनेक्शन नहीं किया गया है उसे वहाँ शीघ्र कनेक्शन करवाया जाए। कोई भी घर पेयजल योजना से वंचित ना रहे यह बात सुनिश्चित की जाए। साथ ही यहॉ जितने भी सोर्स है उन्हे आईडेन्टीफाई किया जाए।

भ्रमण के दौरान इसके बाद वे ग्राम छेंडियापीपल पहुँचे और प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना अंतर्गत बनाए जा रहे निर्माणाधीन ब्रिज को देख सम्बन्धित अधिकारी को निर्देश दिए कि बारिश के पूर्व इस कार्य को पूर्ण कर लिया जाए। इसके साथ ही उन्होंने क्वालिटी कंट्रोल के लिए बनाई गई लेब का भी अवलोकन किया। भ्रमण के दौरन उन्होंने डही के ट्रेंचिंग ग्राउंड पहुँचकर स्वच्छता सर्वेक्षण के लिए यहां की जा रही गतिविधियों के बारे में संबंधित अधिकारी से पूछताछ की तथा यहां कार्य करने वाली महिलाओं से भी चर्चा कर कार्य के लिए दी जा रही राशि की पूछताछ की। उन्होंने सीएमओ को निर्देश दिए कि शहरी क्षेत्र में साफ सफाई की रेगुलर बेहतर व्यवस्था की जाए। साथ ही रोड के पास से अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही की जाए।

इसके बाद कलेक्टर डॉ जैन ने जिले के दूरस्त अंचल ग्राम कातरखेड़ा में माइक्रो लिफ्ट इरीगेशन योजना के तहत चल रही दो साईट का अवलोकन कर चल रहे कार्य की प्रगति को देखा और प्रोजेक्ट की विस्तार से जानकारी ली तथा संबंधित अधिकारी को निर्देश दिए कि दुसरी जगह जहाँ यह कार्य पूर्ण हो गया है वहाँ जाकर इस कार्य मे आने वाली समस्याओे के बारे में जाने जिससे वह समस्या यहॉ न आए। इस दौरान उन्होंने बोट से क्षेत्र का अवलोकन भी किया। कलेक्टर इसके बाद सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र डही पहुंचे और अस्पताल में भर्ती मरीजों की जानकारी ली। उन्होंने इस दौरान एक्सरे कक्ष, पैथोलॉजी लैब और प्रसूति वार्ड का अवलोकन किया। इसके साथ ही प्रसूति वार्ड में भर्ती मरीजों व उनके परिजनों से अस्पताल द्वारा दी जा रही स्वास्थ्य सुविधाओं की जानकारी ली। पैथोलॉजी लैब में टेस्टिंग व साफ सफाई कार्य नहीं किए जाने पर नाराजगी जाहिर करते हुए व्यवस्थाओं में सुधार लाने के लिए निर्देशित किया। इसके साथ ही निर्देश दिए कि आशा कार्यकर्ता व एएनएम को निर्देशित किया जाए कि वे गर्भवती महिलाओं की जानकारी पोर्टल पर नियमित रूप से अपलोड करें।  इस कार्य में जो भी लापरवाही बरते उनके विरुद्ध कार्रवाई की जाए । अस्पताल में नेचुरल वेंटीलेशन की व्यवस्था की कार्यवाही सुनिश्चित की जाए। अस्पताल के शौचालय की नियमित रूप से साफ सफाई होती रहे।

जैन सामूदायिक स्वास्थ्य केंद्र कुक्षी पहुॅचे और पैथाालॉजी लैब, एक्सरे रूम, प्रसूति वार्ड, सोनोग्राफी कक्ष, ऑंपरेशन थेएटर का निरीक्षण किया और निर्देश दिए कि आशा, एएनएम के द्वारा लोगो को परिवार नियोजन के लिए प्रेरित किया जाए। इसके लिए कांउस्लिंग भी आयोजित की जाए। उन्होंने डॉक्टरों को निर्देश दिए कि मरीजो को दिए जा रहे डोज का नोट भी पर्ची में डाला जाए इसके लिए नर्सो को निर्देशित करें। निरीक्षण के दौरान भवन/शौचालय में सीपेज के दिक्कत को दूर करने के लिए उन्होंने पीडब्ल्यूडी विभाग के अधिकारी को निर्देशित किया। 



टिप्पणियाँ
Popular posts
*धरती माँ की प्यास बुझाने के लिए महु में होंगा हलमा*
चित्र
तिरला पुलिस के 3 दिन के रिमांड पर भू कारोबारी भोला तिवारी, जमीन खरीदी में धोखाधड़ी के मामले में महिला की शिकायत पर दर्ज हुआ था प्रकरण
चित्र
प्रेशर से फीस मांग नहीं सकते,छात्रवृत्ति मिली आधी रोकस ने थमा दिए 1 करोड़ चुकाने के नोटिस, मुश्किल में 12 नर्सिंग कॉलेज के संचालक, कोविड काल में ट्रेनिग की राशि मांग
चित्र
अलीराजपुर जिले की स्थापना दिवस पर चंद्रशेखर आजाद नगर में गौरव रैली का आयोजन
चित्र
नगर परिषद के वार्ड 04, 11, 13,14, 06 में करोड़ो की लागत से बनने वाले सीसी व पहुच मार्ग का सांसद ,विधायक , नगर परिषद अध्यक्षा ने किया भूमि पूजन
चित्र