उपेंद्रानन्द महाराज ने शुरू किया सहायक नदियों के संरक्षण का महा अभियान~ यशवंत जैन

 *सहायक नदियां प्रवाहमान रहेगी तभी मां नर्मदा का प्रवाह अविरल बहेगा-- उपेंद्रानन्द महाराज*


चंद्रशेखर आज़ाद नगर :- अखिल भारतीय मां नर्मदा भक्त मंडल की नर्मदा शुद्धि करण व सहायक नदियों का संरक्षण एवं पर्यावरण संवर्धन जनजागरण यात्रा का आज छकतला गांव में ग्रामीणों को सम्बोधित करते हुए उपेंद्रानन्द बाबाजी ने कहा सहायक नदियों को प्रवाहमान करने से ही मां नर्मदा का प्रवाह अविरल बहता हवा जल आने वाली पीढ़ी को देखने को मिलेगा आपने आगे बताया प्रकृति को संभालेंगे के तो वह हमारी चिंता करेगी हमारे पूर्वज प्रकृति पूजक रहे है और प्रकृति के साथ छेड़छाड़ करके हम देख चुके है विकास के नाम पर प्रकृति का हनन करना उचित नही है प्रकृति को प्रकृति के हाल पर छोड़ने से तमाम प्रकार की आपदाओं से बचा जा सकता है कोरोना काल मे यह हम सब अनुभव कर चुके है अतः प्रकृति जन्य विकास से ही विश्वगुरु बना जा सकता है विकास के नाम पर प्रकृति का हनन उचित नही है ।

इस अवसर पर स्वामी रमण गिरि महाराज ने सभी से एक पोधा लगाकर उसे वृक्ष बनाने का संकल्प करवाया । दिव्यांग दिव्यांग उपेंद्रानन्द बाबा की यह १२ परिक्रमा हे । इस यात्रा में प्रतिदिन एक पोधा रोपण एवं उन्हें वृक्ष बनाने का संकल्प करवा जा रहा हे । इस यात्रा में १६ दिसंबर से अभी तक ३२३५ लोगो को संकल्प करवाया गया । इस बार ११ हजार लोगो को संकल्प कराने का लक्ष हे । अभी तक उपेंद्रानन्द बाबा २ लाख लोगो से पौधे लगवा चुके हे और पिछले ११ वर्षो में लगभग ९ लाख नर्मदा शुद्धिकरण का संकल्प करा चुके है ।

इस यात्रा में तीन जिलों के भक्त मंडल के कार्यकर्ता चल रहे हैं यात्रा में प्रतिदिन त्रिवेणी के पौधे लगाकर (बड़ पीपल नीम )उन्हें वृक्ष बनाने का संकल्प ग्राम वासियों को दिलवाया ।इस अवसर पर जिला सहकारी बैंक के प्रबंधक राजेश जी जोशी , राकेश वाणी , मनोज सविता , ब्रजेश श्रीवास्तव , करणसिंह जमरा सभी लोग से उपस्थित रहे उक्त जानकारी नारिंग जी मोरी ने दी।