अम्बेडकर विश्वविद्यालय महू ने किया “संत गुरु रविदास का समाज सुधार में योगदान” विषय पर वेब व्याख्यान का आयोजन

 डॉ बी आर अम्बेडकर सामाजिक विज्ञान विश्वविद्यालय, डॉ अम्बेडकर नगर (महू) इंदौर में सामाजिक विज्ञान अध्ययनशाला के संत रविदास पीठ के अंतर्गत दिनांक 24 अगस्त 2021 को “संत गुरु रविदास का समाज सुधार में योगदान” विषय पर स्मृति वेब व्याख्यान का आयोजन किया गया I कार्यक्रम की अध्यक्षता विश्वविद्यालय की कुलपति, माननीय प्रोफेसर आशा शुक्ला ने किया I कार्यक्रम के सहअध्यक्ष प्रो डी के वर्मा एवं मुख्य वक्ता के रूप में प्रो राजेंद्र सिंह बडगुजर महात्मा गाँधी केन्द्रीय विश्वविद्यालय मोतिहारी बिहार, रहे I कार्यक्रम के संयोजक डॉ धनराज डोंगरे ने स्मृति वेब व्याख्यान का परिचय देते हुए कहा कि संत रविदास समाज सुधार के महत्वपूर्ण आधार स्तम्भ रहे है उनके विचार आज भी समाज को मार्गदर्शन देते है कार्यक्रम सह-अध्यक्ष एवं अधिष्ठाता डॉ डी के वर्मा ने स्वागत वक्तव्य में  गुरु रविदास के सामाजिक सुधारों के प्रयास की चर्चा करते हुए कहा कि सामाजिक बधुत्व की अवधारणा संत रविदास के विचारो में निहित है,उनके विचारों को सामाजिक विज्ञान के पाठ्यक्रमों में शामिल करना उचित होगा I कार्यक्रम के मुख्य वक्ता प्रो राजेन्द सिंह बडगुजर महात्मा गाँधी केन्द्रीय विश्वविद्यालय मोतिहारी बिहार ने अपने वक्तव्य में  कहा कि संत रविदास ने,समाज में मानवीयता की स्थापना में महत्त्वपूर्ण योगदान दिया है, प्रेम एवं नैतिकता पर बल दिया, रविदास जी की वाणी दासता से मुक्ति का मूलमंत्र है, वे सामाजिक बराबरी का सपना देखते थे I सच्चाई को धर्म मानते थे, अत: संत रविदास ने आदर्श राज्य की कल्पना की है I कार्यक्रम की अध्यक्ष विश्वविद्यालय की कुलपति माननीय प्रोफेसर आशा शुक्ला ने अपने उद्बोधन में कहा कि, समाज वयवस्था में सुधार के लिए संत रविदास हमेशा याद किये जायेंगे, मानवता, रिश्तों में घनिष्ठता, एवं सकारात्मक सामाजिक मूल्य आज समाज की आवश्यकता है I वैश्विक बंधुत्व आज समाज की जरुरत बन गई है संत रविदास का समाज सुधार में योगदान महत्वपूर्ण है उनके विचार आज भी समतामूलक समाज के निर्माण  लिए समाज को दिशा दे रहे है I धन्यवाद ज्ञापन विश्वविद्यालय के कुलसचिव महोदय श्री अजय वर्मा ने दिया एवं  कार्यक्रम का संचालन संयोजक डॉ धनराज डोंगरे ने किया I