मोर टक्का में हुई दुर्घटना के बावजूद प्रशासन नहीं हो रहा है सतर्क - ललित दुबे

 ओंकारेश्वर ( नि प्र ) नर्मदा नदी में पिछले दिनों मोरटक्का में हुई नौका दुर्घटना के बावजूद खंडवा प्रशासन नहीं हुआ सतर्क खानापूर्ति करने के लिए की जा रही कार्रवाई से नाविकों में आक्रोश नाविक संघ के पदाधिकारियों ने आरोप लगाते हुए कहा कि कुछ नाविक शासन प्रशासन के द्वारा बनाए गए नियमों का पालन कर रहे किंतु कुछ नावे अवैधानिक रूप से चल रही संघ द्वारा नावो की सूची देने के बावजूद भी प्रशासन कार्रवाई नहीं कर रहा संघ अध्यक्ष कैलाश भवरिया ने कहा कि नगर परिषद द्वारा अवैधानिक रूप से चल रही नाव के इंजन जप्त करने की कार्रवाई सीएमओ मोनिका पारधी द्वारा की गई थी किंतु सत्ता पक्ष के नेताओं द्वारा राजनीतिक दबाव देकर अवैधानिक रूप से चल रही नाव मालिकों को संरक्षण देने के कारण जब तक किए गए इंजन कुछ ही घंटों बाद दिलवा दिए जाने से अभी भी कुछ नाम मालिक Bina life jacket एवं बनाए गए नियमों की अवहेलना कर नाव को चला रहे हैं जीससे नाविकों में भी असंतोष व्याप्त है शिवरात्रि मेले की व्यवस्थाओं को लेकर हुई बैठक में भी महज खानापूर्ति की गई नाविक संघ के अध्यक्ष कैलाश भूरिया भोलाराम केक्ट अन्य नाविको ने कहा कि लगभग 172 नावे नगर परिषद में पंजीकृत है 50 नावो का रिकॉर्ड नगर परिषद में नहीं है उनमें कुछ नई नावे तो अनादि काल से चल रही कुछ नावे लथा कथित लोग नावे बनाकर चला रहे है ऐसे नाविकों की सूची नगरपरिषद सीएमओ तहसीलदार थानाप्रभारी को दी गई है उसके बावजूद भी मुंह देख कर कार्रवाई कर रहे हैं पर्याप्त मात्रा में घाटों का अभाव नाविक संघ ओकारेश्वर द्वारा नियम बनाए गए जिसका कुछ नाव मालिक संचालक पालन नहीं कर रहे भोला राम केवट ने कहा कि गोमुख घाट के मंदिर जाने के लिए10 रू प्रति सवारी गोमुख घाट से ब्रह्मपुरी घाट जाने 20 रू.प्रति सवारी गोमुख घाट से नागर घाट जाने के लिए 20 रू तथा संगम एवं परिक्रमा के लिए प्रति सवारी 150 रु तय किया गया है उसके बावजूद भी कुछ नाविक की सूची नगर परिषद तहसीलदार थाना प्रभारी को दिए जाने के बावजूद भी राजनीतिक संरक्षण के चलते कार्रवाई नहीं की जा रही है निकट भविष्य में घटना दुर्घटना होती है तो प्रशासन केवल नाविक संघ के पदाधिकारियों को ही परेशान करेगा इस संबंध में प्रदेश के मुख्यमंत्री को भी ओकारेश्वर की सारी स्थिति से अवगत कराकर निर्भीक निष्पक्ष कार्रवाई की मांग शासन प्रशासन से की है ओकारेश्वर के अभय घाट पर लकड़ी काटकर बड़ी मात्रा में नावों का निर्माण हो रहा है वन विभाग भी ध्यान नहीं दे रहा_ क्या कहते हैं जिम्मेदार_ समय-समय पर वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देश पर नाविकों पर कार्रवाई की गई है और कार्रवाई लगातार जारी रहेगी शिवरात्रि पर्व के दौरान नियमों की अवहेलना करने वालों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी मोनिका पारधी। नगरपरिषद सीएमओ ओकारेश्वर