नहर में गिरी बस, अब तक 39 शव निकाले गए, 54 लोग थे सवार; PM मोदी का 2-2 लाख रुपये देने का एलान



भोपाल। मध्य प्रदेश में एक बड़ा हादसा हो गया। सीधी में 54 यात्रियों से भरी बस नहर में गिर गई। नहर से अभी तक सात लोगों को बचाया गया है। वहीं ताजा जानकारी के मुताबिक, अबतक नदी में डूबने से 39 लोगों की मौत की पुष्टी गई है। 39 शवों को बाहर निकाला लिया गया है। बचाव कार्य लगातार जारी है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी सभी जरुरी निर्देश दे दिए हैं। वहीं पीएम नरेंद्र मोदी ने बस दुर्घटना के कारण जान गंवाने वाले लोगों के परिजनों के लिए प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से 2-2 लाख रुपये की अनुग्रह राशि की मंजूरी दी है। वहीं गंभीर रूप से घायल लोगों को 50,000 रुपये का एलान किया गया है। पीएमओ द्वारा यह जानकारी दी गई है।

अमित शाह ने मुख्यमंत्री शिवरजा सिंह चौहान से की बात

उधर, गृह मंत्री अमित शाह ने मुख्यमंत्री शिवरजा सिंह चौहान से हादसे के बारे में बात ही। गृह मंत्री ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी। शाह ने ट्वीट करते हुए लिखा,’ सीधी जिले में हुआ बस हादसा बहुत दुःखद है, मैंने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी से बात की है। स्थानीय प्रशासन राहत व बचाव के लिए हर संभव मदद पहुंचा रहा है। मैं मृतकों के परिजनों के प्रति गहरी संवेदनाएं व्यक्त करता हूं व घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं।

ये हादसा रीवा-सीधी बॉर्डर के पास छुहियाघाटी में हुआ। बाणसागर परियोजना की ये नहर है, जिसमें बस गिरी है। नहर से निकाले लोगों की पहचान अभी नहीं हुई है। बाकी यात्रियों की तलाश जारी है। एक टीम मौके पर मौजूद है, ऑपरेशन चल रहा है। जिस समय यह हादसा हुआ उस वक्त बस सीधी से सतना जा रही थी। बताया जा रहा कि ड्राइवर के बस से नियंत्रण खोने प


र यह हादसा हुआ।

रिपोर्ट की मानें तो नहर इतनी गहरी है कि बस पूरी तरह उसमें डूब गई है। क्रेन के जरिए बस को बाहर निकालने की कोशिश की जारी है। बाणसागर डैम से निकलने वाले पानी को बंद करा दिया गया है। ताकी बस को तेज बहाव से रोका जा सके। बताया गया है कि बस में बघवार, चोरगढ़ी समेत आसपास के भी यात्री सवार थे। बस हादसे को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सीधी कलेक्टर से बात की

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि नहर काफी गहरी है। हमने तत्काल बांध से पानी बंद करवाया और राहत और बचाव दलों को रवाना किया। कलेक्टर, एसपी और एसडीआरपीफ (SDRF) की टीम वहां पहुंच गई है। बस निकालने के प्रयास हो रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि राहत और बचाव कार्य करने वाली टीम से वह लगातार संपर्क में बने हुए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस हादसे में 7 लोगों को बचाया जा चुका है।

1 लाख हजार घरों में गृह प्रवेश का कार्यक्रम रुका

बता दें कि आज प्रदेश में 1 लाख 10 हजार घरों में गृह प्रवेश का कार्यक्रम सम्पन्न होने वाला था, जिसे इस हादसे के चलते कैंसल कर दिया गया है। मुख्यंमंत्री ने कहा कि उन्हें सुबह 8 बजे ही इस हादसे की सूचना मिली कि सीधी जिले के बाणसागर नहर में यात्रियों से भरी एक बस नहर में गिर गई है। इसलिए यह कार्यक्रम करना उचित नहीं होगा।

तुलसी सिलावट ने घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताया

मध्य प्रदेश के मंत्री तुलसी सिलावट ने इसे दुर्भाग्यपूर्ण घटना बताया है। उन्होंने कहा कि इस दुखद घटना ने पूरे प्रदेश के दिल और दिमाग को झकझोर कर रख दिया है। मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री सुबह से ही हादसे की मिनट टू मिनट डिटेल ले रहे हैं। आगे उन्होंने कहा मुख्यमंत्री के निर्देश अनुसार, हम सीधी जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि संबंधित अधिकारियों से बातचीत करने के बाद तो पता चला है कि लगभग 30 शव वहां मिल चुके हैं।

इस हादसे के बाद पास के ग्रामीण और अन्य लोग बस में फंसे लोगों को बाहर निकालने में जुटे हुए हैं। मौके पर बड़ी संख्या में ग्रामीण इकट्ठे हो गए हैं। घटना की जानकारी मिलते ही बस में सवार लोगों के स्वजन भी मौके पर पहुंच रहे हैं।


Popular posts
आंबेडकर विश्वविद्यालय, महू की "बाबू जगजीवन राम पीठ" के प्रोफेसर के रूप में डॉ शैलेंद्र मणि त्रिपाठी ने किया अपना कार्यभार ग्रहण
चित्र
रामचरित्र मानस पर आधारित प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता का हुआ आंबेडकर विश्वविद्यालय में आयोजन, कई महान विभूतियों ने लिया भाग
चित्र
अम्बेडकर विश्वविद्यालय, महू में भक्तिमयी शबरी पर कार्यक्रम का मंचन
चित्र
विश्व हिंदू परिषद जिला महू की मातृशक्ति-दुर्गा वाहिनी द्वारा शस्त्र पूजन, महाआरती का किया गया आयोजन
चित्र
शक्ति उपासना राष्ट्रीय कवि सम्मेलन के आयोजन को लेकर डा. दवे के नेतृत्व वाले दल ने लिया जायजा
चित्र