अंबेडकर विश्वविद्यालय ,महू में प्राथमिक उपचार पाठ्यक्रम

 कुलपति प्रोफेसर (डॉ) आशा शुक्ला ने बताया कि प्राथमिक उपचार ऐसा जरूरी प्रशिक्षण है जो सभी नागरिकों को अनिवार्य रूप से आना चाहिए।

इसी भावना के साथ डॉ बी आर अंबेडकर सामाजिक विश्वविद्यालय महू ने अपना सामाजिक दायित्व एवं बोध का निर्वाह किया और देश में सर्वप्रथम 30 घंटों का नवाचार प्राथमिक उपचार पाठ्यक्रम शुरू किया।

सात दिवसीय यह पाठ्यक्रम 50 से 75 व्यक्तियों की बेच बनाकर सोशल डिस्टेंसिंग और सैनिटाइजेशन का पूरा ध्यान रखते हुए किया जा रहा है। इस कोर्स में सभी प्रकार की चिकित्सीय इमरजेंसी में ठीक ढंग से प्राथमिक उपचार प्रशिक्षण दिया जाता है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन के आंकड़ों के अनुसार अगर इमरजेंसी में सही समय पर प्राथमिक उपचार मिल जाए तो आकस्मिक मृत्यु दर आधे से ज्यादा घट सकता है ‌

इस तरह विश्वविद्यालय ने अभी तक करीब 150 प्राथमिक उपचारक तैयार किए।

प्रशिक्षण भाषणनुमा ना होते हुए वार्तालाप और प्रयोग के तरीके से होता है और इस वजह से हर एक प्रशिक्षणार्थी पूरे पाठ्यक्रम को आत्मसात कर सकता है।

 यहां यह बताना अत्यंत आवश्यक है क्योंकि बैच में सभी के लिए प्रशिक्षण देता है जिन्होंने भी दसवीं पास कर रखी है।

नवीन बैच न्यूनतम शुल्क मात्र ₹300 से तारीख 18 से 24 जनवरी 2021 को डॉ अंबेडकर सामाजिक विज्ञान विश्वविद्यालय, डोंगरगांव, महू में आयोजित किया जा रहा है। जिसके लिए पूर्व रजिस्ट्रेशन किया जा रहा है। 18 जनवरी 2021 को स्पाॅट रजिस्ट्रेशन भी किया जा सकता है।

विशेष: पत्रकार बंधुओं के लिए यह कोर्स नाम मात्र रजिस्ट्रेशन शुल्क मात्र ₹100 रखा गया है।




Popular posts
अम्बेडकर विश्वविद्यालय, महू में भक्तिमयी शबरी पर कार्यक्रम का मंचन
चित्र
रामचरित्र मानस पर आधारित प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता का हुआ आंबेडकर विश्वविद्यालय में आयोजन, कई महान विभूतियों ने लिया भाग
चित्र
आंबेडकर विश्वविद्यालय, महू की "बाबू जगजीवन राम पीठ" के प्रोफेसर के रूप में डॉ शैलेंद्र मणि त्रिपाठी ने किया अपना कार्यभार ग्रहण
चित्र
औद्योगिक क्षेत्र पीथमपुर के युवा तरुणाई शुभम पाराशर का जन्म दिवस मनाया गया धूमधाम से
चित्र
अम्बेडकर विश्वविद्यालय का ‘नक्सल ऑपरेशन एंड लेसन्स’ विषय पर राष्ट्रीय परिसंवाद का आयोजन
चित्र