श्री षड्दर्शन संत मंडल द्वारा कलेक्टर से ओंकारेश्वर में बाहरी व्यक्तियों को प्रवेश नहीं देने संबंधी ज्ञापन

ओंकारेश्वर- श्री षड्दर्शन संत मंडल द्वारा कलेक्टर के नाम एक ज्ञापन जारी किया गया है जिसमें श्री ओम्कारेश्वर ज्योतिर्लिंग मंदिर एक महा बाद खोलने को बाहरी लोगों के नगर में प्रवेश नहीं होने देने के संबंध में अवगत कराया श्री सर दर्शन संत मंडली का कहना है कि ओमकारेश्वर तीर्थ क्षेत्र है यहां सावन पर्व के दौरान हजारों नहीं लाखों की संख्या में लोग आएंगे उस स्थिति में इतनी अधिक संख्या में आने वाले लोगों को प्रशासन कैसे नियंत्रित करेगा यह व्रत यह बड़ी चिंता का विषय है प्रशासन को महामारी के प्रकोप को ध्यान में रखते हुए इस पर पुनर्विचार करना चाहिए।


मंडल के सचिव व वरिष्ठ संत रामसुन्दर गीरी मौनी बाबा ने कहा की अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के अनुसार अंतरराष्ट्रीय संस्था के आकलन में यह दावा किया गया है कि देश में जून-जुलाई में कोरोनावायरस के संक्रमण के मामले बढ़ सकते हैं। लेकिन यह सिर्फ आकलन भर ही नही है. उनके मुताबिक जो रुझान हैं उससे तो यही लगता है कि मामले बढ़ेंगे. 


  उस हिसाब से यह संभव है कि हमारे यहां मामले जून-जुलाई में चरम पर जा सकते है."


उसी को दृष्टिगत रखते हुए ओंकारेश्वर मंदिर को दर्शनार्थियों के लिए खोलने व लॉकडाउन बढ़ाने की मांग की जा रही हैं । क्योंकि आगामी सावन पर्व में यहाँ देश के विभिन्न प्रांतों से हजारों, लाखों की संख्या में श्रद्धालुओं का आगमन होगा। यदि उस स्थिति में कहीं भी जरा सी चूक हुई तो यह नगरवासीयों व पूरे देश पर भारी पड़ सकती है। ओर कहीं ना कहीं तो चुक होना लाजमी है।



Popular posts
आंबेडकर विश्वविद्यालय, महू की "बाबू जगजीवन राम पीठ" के प्रोफेसर के रूप में डॉ शैलेंद्र मणि त्रिपाठी ने किया अपना कार्यभार ग्रहण
चित्र
अम्बेडकर विश्वविद्यालय, महू में भक्तिमयी शबरी पर कार्यक्रम का मंचन
चित्र
रामचरित्र मानस पर आधारित प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता का हुआ आंबेडकर विश्वविद्यालय में आयोजन, कई महान विभूतियों ने लिया भाग
चित्र
शक्ति उपासना राष्ट्रीय कवि सम्मेलन के आयोजन को लेकर डा. दवे के नेतृत्व वाले दल ने लिया जायजा
चित्र
विश्व हिंदू परिषद जिला महू की मातृशक्ति-दुर्गा वाहिनी द्वारा शस्त्र पूजन, महाआरती का किया गया आयोजन
चित्र