राजकोट के मयूरध्वज सिंह झाला ने की चीन पर करारी चोट

कुछ लोग चीन को सबक सिखाने के लिए करते हैं सिर्फ बड़ी-बड़ी बातें हैं पर राजकोट के मयूरध्वज सिंह झाला ने अपने कर्म से की चीन पर करारी चोट.


हमारे देश में जब भी चीन का नाम आता है तो लोग अपने शब्दों में जोश दिखाने लगते हैं बात अगर चीन की की जाए तो चीन का नाम आते ही एक सुर में यह बात होती है कि चीन के सामान का बहिष्कार करना चाहिए पर बाजार में सामान खरीदते समय हम धीरे से अपनी पसंद के चीनी सामान खरीद लेते हैं, यह सोच कर कि कोई देख नहीं रहा है और एक इंसान के खरीदने से क्या फर्क पड़ता है.


भारतीयों की ऐसी ही मानसिकता भारतीय बाजार पर कब्जा जमाए रखने में चीन की असली ताकत है. पर राजकोट के मयूरध्वज सिंह झाला ने शब्दों से नहीं कर्मों से मारा है चीन को. उन्होंने कुछ माह पहले चीन की एमजी हेक्टर कार बुक करवाई थी पर चीन की हाल की हरकत से नाराज होकर उन्होंने बुकिंग कैंसिल करवाई और कैंसिलेशन में एमजी हेक्टर कंपनी को जो पत्र लिखा उसमें सब कुछ साफ-साफ लिख दिया. 



Popular posts
अम्बेडकर विश्वविद्यालय, महू में भक्तिमयी शबरी पर कार्यक्रम का मंचन
चित्र
रामचरित्र मानस पर आधारित प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता का हुआ आंबेडकर विश्वविद्यालय में आयोजन, कई महान विभूतियों ने लिया भाग
चित्र
आंबेडकर विश्वविद्यालय, महू की "बाबू जगजीवन राम पीठ" के प्रोफेसर के रूप में डॉ शैलेंद्र मणि त्रिपाठी ने किया अपना कार्यभार ग्रहण
चित्र
औद्योगिक क्षेत्र पीथमपुर के युवा तरुणाई शुभम पाराशर का जन्म दिवस मनाया गया धूमधाम से
चित्र
अम्बेडकर विश्वविद्यालय का ‘नक्सल ऑपरेशन एंड लेसन्स’ विषय पर राष्ट्रीय परिसंवाद का आयोजन
चित्र