शासकीय आयुर्वेद चिकित्सालय राऊ द्वारा एक विश्वविद्यालय को की गई कोरोना से बचाव के लिए दवाइयां वितरित

 कोरोना महामारी नियंत्रण कार्यक्रम के अंतर्गत शासकीय आयुर्वेद चिकित्सालय राऊ के आयुष विभाग के सौजन्य से आज एक शैक्षणिक संस्थान को दवाइयां वितरित की गई। इन दवाइयों में मुख्य रूप से आयुर्वेद और होम्योपैथी की वे दवाइयां हैं जो कोरोना जैसी महामारी से बचाव के लिए बहुत कारगर सिद्ध हुई है। उक्त दवाइयां एक सामाजिक कार्यकर्ता द्वारा उक्त शैक्षणिक संस्थान जो कि डोंगरगांव में स्थित है, को आज पहुंचायी गयी।


 इस अवसर पर जियान न्यूज़ से बात करते हुए राऊ आयुर्वेदिक चिकित्सालय के अधीक्षक डॉक्टर जगदीश पंचोली ने बताया कि इन दवाओं के सेवन करने से शरीर के अंदर की रोग प्रतिरोधक क्षमता काफी बढ़ जाती है और कोरोना तो क्या कोई भी बीमारी मनुष्य पर इन दवाओं को लेने के बाद हावी नहीं हो पाती है।


साथ ही उन्होंने स्वस्थ रहने के लिए प्राकृतिक चिकित्सा के का नुस्खा भी बताया। उन्होंने कहा कि अगर व्यक्ति आंवला, हल्दी, तुलसी, काली मिर्च, गिलोय और नीम का नियमित रूप से किसी न किसी रूप में सेवन करता रहता है तो वह जीवन भर निरोगी रहता है और उसके शरीर की प्रतिरोधक क्षमता हमेशा बहुत अच्छी रहती है।


इस अवसर पर डॉ महेंद्र सिंह मेहता, डॉ शिवदयाल बर्डे, डॉ भरत शर्मा आदि उपस्थित थे।