मुख्यमंत्री  ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से कोरोना को लेकर की जिलेवार समीक्षा

*इंदौर सहित प्रदेश के सभी कोरोना प्रभावित तथा अन्य जिलों की सीमाओं को पूरी तरह सील किया जाये*


*मुख्यमंत्री  ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से जिलेवार समीक्षा की*


इंदौर।मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से इंदौर-भोपाल सहित प्रदेश के सभी कोरोना प्रभावित जिलों में कोरोना वायरस से पीड़ित व्यक्तियों तथा कोरोना वायरस से उत्पन्न स्थिति की जिलेवार समीक्षा की। इस दौरान इंदौर के कलेक्टोरेट में वीडियो कांफ्रेंसिंग में संभागायुक्त श्री आकाश त्रिपाठी, आईजी श्री विवेक शर्मा, कलेक्टर श्री मनीष सिंह तथा डीआईजी श्री हरिनारायणचारी मिश्र उपस्थित हुये। वीडियो कांफ्रेंसिंग  में प्रदेश के सभी संभागों के संभागायुक्त और जिला कलेक्टर तथा पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।
 मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने समीक्षा के दौरान निर्देश दिये कि कोरोना वायरस से सर्वाधिक प्रभावित इंदौर और भोपाल जिलों में विशेष एहतियात रखी जाये। कोरोना वायरस से प्रभावित इन जिलों के साथ ही अन्य जिलों में भी लॉकडाउन का सख्ती से पालन करवाया जाये। इन जिलों की सभी सीमाओं को सील किया जाये। कोई भी व्यक्ति न तो इन जिलों में आ पाये और न ही कोई इन जिलों से अन्य जिलों में जा पाये। उन्होंने कन्टोनमेंट क्षेत्रों में भी सख्ती से प्रतिबंधात्मक आदेशों का पालन कराने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि कन्टोनमेंट क्षेत्रों में प्रोटोकॉल का पालन कराया जाये। वीडियो कांफ्रेंसिंग  में कलेक्टर श्री मनीष सिंह ने इंदौर में की जा रही व्यवस्थाओं की जानकारी दी। 
 मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि सभी अत्यावश्यक वस्तुओं की आपूर्ति पर ध्यान दिया जाये। सभी जिलों में आपदा प्रबंधन ग्रुप का गठन कर उन्हें सक्रिय किया जाये। इस ग्रुप में गैर शासकीय संगठन, जनप्रतिनिधियों, डॉक्टर्स, विशेषज्ञों आदि को भी शामिल किया जाये। दूध, दवाइयों, सब्जी, किराना आदि की आपूर्ति भी सुलभ बनाई जाये। इसके लिये जिलेवार स्थिति के अनुसार कार्ययोजना बनाकर व्यवस्था बनायें। उन्होंने प्रभावित क्षेत्रों में घर-घर जाकर सर्वे की व्यवस्था को भी बेहतर बनाने के निर्देश दिये। उन्होंने जनता को जागरूक करने के लिये निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि आमजन को जागरूक किया जाये कि लक्षण दिखायी देने पर तुरंत बतायें। बीमारी को छिपाये नहीं। सही स्थिति सामने लायें। उन्होंने आरोग्य सेतु एप को डाउनलोड करने के लिये अभियान चलाने के निर्देश भी दिये। 
 मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिये कि यह सुनिश्चित किया जाये कि कहीं भी जमाखोरी एवं कालाबाजारी नहीं हो। जमाखोरी एवं कालाबाजारी करने वालों के विरूद्ध सख्त कार्यवाही करने के निर्देश भी दिये। उन्होंने कहा कि चिन्हित कोविड हॉस्पिटलों में ऑक्सीजन सहित अन्य सभी जरूरी संसाधनों की उपलब्ध निरंतर बनाये रखें। उन्होंने निर्देश दिये कि प्रायवेट मेडिकल अस्पतालों में इलाज की सुविधा बनायी रखी जाये। इलाज करने से मना करने वालों के विरूद्ध सख्त कार्यवाही करें। इस संबंध में एस्मा भी लागू कर दिया गया है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने गेंहू सहित अन्य उपज की खरीदी व्यवस्था की भी समीक्षा की।