महू के टैक-एडवेंचर ग्रुप द्वारा लगातार जारी है जरूरतमंदों की मदद

 जिस दिन से जनता कर्फ्यू लगा है, लगभग तभी से महू में पदस्थ एक सैन्य अधिकारी की पहल पर साइकिलिंग और ट्रेकिंग के लिए बने ग्रुप "टैक-एडवेंचर" ने उन लोगों की मदद करना शुरू किया जिनके यहां लाँकडाउन के कारण आर्थिक तंगी के हालात पैदा हो गए।


तब से यह सिलसिला लगातार चल रहा है और कल इसी ग्रुप के सौजन्य से महू के आदिवासी गांव मांगलिया, कुशलगढ़ और जिकरियाखेड़ी में राशन के पैकेट्स का वितरण पत्रकार राजेश जौहरी के माध्यम से किया गया। इन पैकेट्स में आटा, चावल, दाल, शक्कर, चायपत्ती, तेल और साबुन दिया गया है जो किसी भी आम परिवार के लिए बहुत ही उपयोगी हैं।


इस ग्रुप के बारे में एक दिलचस्प बात यह पता चली है कि इसमें कई सैन्य अफसर सदस्य हैं और वह इस पुण्य कार्य में अपना योगदान तो देना चाहते हैं पर अपना नाम नहीं आने देना चाहते हैं।


इसी कारण से ग्रुप अपने सिविलयन मित्रों के माध्यम से इस सेवा कार्य को संचालित करता है। एक बात और इस ग्रुप के बारे में पता चली है कि यह सभी सैन्य अफसर अपने बच्चों को भी सेवा का पाठ बखूबी पढ़ा रहे हैं। चूंकि बच्चों की छुट्टियां हैं, बच्चों का हर दिन का काम पैकेट्स बनाना और उनकी पैकिंग करना भी होता है।