जयंति समारोह में वीवीआईपी से गुलज़ार होने वाली अंबेडकर जन्मस्थली पर कोरोना का साया

महू। बाबासाहेब आंबेडकर के महू स्थित स्मारक पर बाबा साहेब की 100 वीं स्वर्ण जयंती महोत्सव 1991 पर सर्वश्री अटल बिहारी बाजपेई, लालकृष्ण अडवाणी, राजीव गांधी, कांशीराम, मायावती, स्व माधवराव सिंधिया, फारुख अब्दुल्ला जैसी हस्तियां पधारी थीं। भव्य संगमरमर स्मारक बनने के बाद 14 अप्रेल जयंती समारोह में अर्जुन सिंह, दिग्विजय सिंह, स्व. सुभाष यादव, स्व जमना देवी, वेंकया नायडू, दलाई लामा, करमापा लामा, रा.स्व. संघ के सरसंघचालक के सी सुदर्शन, देश के पूर्व ग़ृहमंत्री सुशील कुमार शिंदे, कुमारी शैलजा,  पी चिदम्बरम, राज बब्बर,  मंत्री रविशंकर प्रसाद, पूर्व रक्षा मंत्री पल्लम राजू, अनुसूचित जाती आयोग के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष बूटा सिंह, वर्तमान रक्षा राज्यमंत्री उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ योगी,  कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी भी महू आये।  


मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान, सुमित्रा महाजन, कैलाश विजयवर्गीय,  मेघालय के राज्यपाल, मप्र के महामहिम राज्यपाल, देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, महामहिम राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद आदि फ़िल्म और खेल से जुड़े अनेक लोगो ने स्मारक आकर पुष्पांजलि अर्पित कर चुके हैं।                    


1991 के बाद बीते 30 साल के इतिहास में जन्मस्थली पहली बार सूनी रहेगी। कोरोना के खौफ से यहां औपचारिक जयंति उत्सव भी नहीं मनाया जाएगा।


कुछ फाइल फोटो संदर्भ के लिए.......