अमेरिका से एक झटके में सारे प्रतिबन्ध हटावा दिए भारत सरकार ने

रतलाम में API का प्रोडक्शन होता है 500 टन माल तैयार है भारत की खपत 80 टन है  24 घण्टे 572 कर्मचारी उत्पादन में लगे हैं |
भारतीय दवा कंपनियों पर अमेरिका ने प्रतिबन्ध लगा रखा था, 9 सालों से एक डिमांड की झटके में अमेरिका से सारे प्रतिबन्ध हटावा दिए समय की बड़ी दवा कंपनियों को बहुत बड़ा बजार मिल गया ।।
पूरा विश्व भारत से उम्मीद लगाए हैं और वास्तविकता ये है कि..अमेरिका चाहता था कि भारत Hydroxychloriquine दवा तत्काल उसे बेचना शुरू करे.... किन्तु चतुर बनिए की तरह...
भारत सरकार ने तीन डिमांड रख दी:


1. भारतीय दवा कंपनियों के लिए अमेरिकी बाज़ार खोलो...
2. FDA के नाम पर जितनी पाबंदियां लगाई गई हैं हटाओ...
3. आगे भी हमारी दवा कंपनियों को परेशान न किया जाए...


अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने पहले धमकी दी फिर 24 घंटे के अंदर अमेरिका ने तीनों माँगें मान ली..


ट्रम्प ने कहा भी था.. 
Modi is a tough *negotiator !
अब ट्रम्प अपनी जनता के सामने कितनी भी डींगें हांक ले... भारत ने इस तथाकथित सुपरपावर को अपनी पावर तो दिखा ही दी है...मोदी की अब अमेरिका प्रशंसा भी कर रहा है ।
मोदी है तो मुमकिन है।💪
जय हिन्द
वंदे मातरम  🇮🇳🇮🇳....


और कुछ लोगो कह रहे कि भारत अमेरिका के सामने झुक गया 😂 अरे मित्रो पूरी जानकारी तो निकालो पहले...FDA हटवाना कोई बच्चो का खेल नही था, भारत-अमेरिका के बीच लंबे समय से FDA पर लड़ाई चल रही थी..


Popular posts
आंबेडकर विश्वविद्यालय, महू की "बाबू जगजीवन राम पीठ" के प्रोफेसर के रूप में डॉ शैलेंद्र मणि त्रिपाठी ने किया अपना कार्यभार ग्रहण
चित्र
अम्बेडकर विश्वविद्यालय, महू में भक्तिमयी शबरी पर कार्यक्रम का मंचन
चित्र
रामचरित्र मानस पर आधारित प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता का हुआ आंबेडकर विश्वविद्यालय में आयोजन, कई महान विभूतियों ने लिया भाग
चित्र
शक्ति उपासना राष्ट्रीय कवि सम्मेलन के आयोजन को लेकर डा. दवे के नेतृत्व वाले दल ने लिया जायजा
चित्र
विश्व हिंदू परिषद जिला महू की मातृशक्ति-दुर्गा वाहिनी द्वारा शस्त्र पूजन, महाआरती का किया गया आयोजन
चित्र