इंदौर जिले के आदिवासी गांव मांगलिया में कोरोना वायरस को लेकर हुई महत्वपूर्ण मीटिंग

 कोरोना वायरस का कहर जब हर शहर हर जिले हर प्रदेश और हर देश में फैल रहा है ऐसे में मध्यप्रदेश के इंदौर जिले के मऊ तहसील में एक छोटा सा गांव है मांगलिया, जो पूरी तरह से आदिवासी बहुल है।



यहां के आदिवासी बंधुओं ने इस घातक बीमारी के खिलाफ एक पहल करते हुए आज सुबह गांव वालों की मीटिंग बुलाई और मीटिंग में यह तय किया की आसपास के पिकनिक स्पॉट जैसे मेहंदी कुंड, बामनियाकुंड, कुशलगढ़, नानी मेहंदीकुंड, चोरल डेम आदि स्थानों पर अगर कोई झुंड में घूमने आते हैं तो उन्हें वहां से भगाया जाए। क्योंकि यह भी हो सकता है कि इस तरह के लोग इंदौर और अन्य शहरों से बीमारी लाकर उनके गांव में उसे फैला दें।


इस मीटिंग की एक और खासियत यह थी कि सभी लोग मास्क पहने हुए थे और डब्ल्यूएचओ द्वारा जो निर्धारित दूरी है सोशल डिस्टेंसिंग की ऐसी बीमारियों को लेकर, उसका पूरा पूरा पालन किया गया था।


गांव के ही एक प्रगतिशील नौजवान रामस्वरूप चौहान ने बताया कि आज की मीटिंग बहुत सफल रही और पूरे गांव ने एकमत से मीटिंग में लिए गए फैसलों को लागू करने की हामी भरी।