निर्मला पाठक जी को जियान न्यूज़ की ओर से विनम्र श्रद्धांजलि

जीवन जीने की कला का एक पाठ समझाने वाली इन्दोर के यातायात में अपना अमूल्य समय और योगदान देने वाली सरल और कठोर  निर्मला  पाठक जी को अनेकों अवसरों पर इंदौर के विभिन्न चौराहों पर निःस्वार्थ, पूर्ण समर्पण और लगन से शहर हित में यातायात को सुगम बनाने में अमूल्य योगदान देते देखने का स्वयं साक्षी रहा हूँ।   समाज का कर्तव्य है कि ऐसी महामना जो अब स्वर्गवासी हो गई हैं और जिनकी सम्पूर्ण जीवन यात्रा अनेकों उतार-चढ़ावों,संघर्षों,अभावों से पूर्ण थी उन्हें मृत्यु उपरांत ही सही उचित सम्मान मिले। क्यों न उनकी स्मृतियों को कालखण्ड में जीवित रखने के लिए हम ऐसा कोई प्रयास/आंदोलन करें  परिणामस्वरूप उनके नाम से कोई उद्यान,मार्ग,चौराहे,सभागार,विद्यालय यातायात पुलिस के किसी भी सुधार कार्यक्रम का  नामकरण हो सके। यही उन्हें समाज और शहर की वास्तविक श्रद्धांजलि होगी ऐसी मेरी मान्यता है।