इंदौर में बदलेगा सांची मिल्क पार्लर का स्वरूप, हटाए गए 73 सांची पार्लर फिर होंगे स्थापित

   


इंदौर । चार दशक पुराने सांची मिल्क पार्लर का स्वरूप अब बदला-बदला सा नजर आएगा । जहां इसका कलर बदला गया है वहीं से आकर्षक बनाया गया है। जल्दी ही पूरे शहर में एक साथ नए कलेवर में सांची मिल्क पार्लर स्थापित होंगे। उसके साथ ही सड़क निर्माण और विकास कार्य अवरुद्ध होने पर हटाए गए 73 सांची पार्लर को पुन: स्थापित किया जाएगा। 

   इंदौर दूध संघ मांगलिया संयंत्र के मुख्य कार्यपालन अधिकारी एनए द्विवेदी ने बताया कि शहर में अभी 74 सांची मिल्क पार्लर है। इन्हें आकर्षक बनाने के लिए 8 बाय 10 की गुमटी तैयार की जाएगी, जिसके लिए जल्द ही टेंडर निकाले जाएंगे । इन मिल्क पार्लर पर सांची के 26 आइटम मौजूद रहेंगे जो ग्राहकों को आकर्षित करेंगे। मिल्क पार्लर संचालक को भी अपना प्रोडक्ट बेचने में आसानी होगी। इसके अलावा सड़क निर्माण और विकास कार्य में बाधक होने पर हटाए गए 73 मिल्क पार्लर को पुन: स्थापित किया जाएगा और उन्हें नई जगह दी जाएगी। इस तरह इंदौर शहर में नए कलेवर के सांची पॉइंट की संख्या 147 हो जाएगी। यहां पर दूध,घी,दही ,कुकीज,पनीर, लस्सी आइसक्रीम आदि सामग्री मौजूद रहेगी। श्री द्विवेदी का कहना है कि इसके अलावा शहर के 100 स्थानों पर सांची के प्रोडक्ट बेचने के लिए दुकानों व मॉल से संपर्क किया जा रहा है और जल्द ही पूरे शहर में सांची के प्रोडक्ट आसानी से मिल सकेंग। वही सांची शॉपी योजना के तहत भी कोई भी ग्रहणी या युवक रोजगार प्राप्त कर सकता है इसके लिए उसे 10 बाय 10 की दुकान पर सांची का एक काउंटर लगाना होगा और इसके लिए दूध संघ किराए के रूप में 6 माह तक अधिकतम 5000 रुपए देगा। साथ ही डीफ्रिजर भी उपलब्ध कराया जाएघा। इस तरह सांची के प्रोडक्ट की बिक्री में और बिक्री हो सकेगी। 



टिप्पणियाँ
Popular posts
स्टेयरिंग फेल होने से घर में घुसी पिकअप, ड्राइवर की मौके पर ही मौत तीन घायल, - घटना के बाद ग्रामीणों ने स्टेट हाईवे पर लगाया जाम, वाहनों की लंबी कतार
चित्र
कोठीदा का मिट्टी वाला बांध हुआ लिकेज, एक दर्जन से अधीक ग्राम के लोग घबराए
चित्र
तबाही का मंझर आंखों के सामने~~~ 2 दिन से चल रहा डेम में लीकेज सही करने का काम, बाँध को खाली करने की जा खुदाई में आ रही दिक्‍कत दोनों ओर बनाई जा रही चेनल
चित्र
दोषियों पर कारवाई क्यो नही:, वीडियो से मिली डेम की लगी जानकारी जिम्मेदार अधिकारी को पानी रिसने की नही थी जानकारी, जल संसाधन मंत्री तुलसी सिलावट ने उद्योग मंत्री दत्तीगांव के साथ किया मुआयना
चित्र
बाग में पटवारी की मिलीभगत से दूसरे जमीन घोटाले में भी केस दर्ज
चित्र