गाव की सरकार चुने के लिए हुए मतदान देर रात तक हुई मत पत्र की गणना, सुबह से ही केन्द्रों पर लगी भीड़ पहले चरण में 77 प्रतिशत मतदान

आशीष यादव, धार 

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव कार्यक्रम के तहत 25 जून को जिले में प्रथम चरण के मतदान के तहत 5 विकासखंडों में निर्वाचन की प्रक्रिया शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न हो गई। प्रात: 7 से दोपहर 3 बजे तक मतदान किया गया। जिले में कई स्थानों पर केन्द्र के अंदर पहुंचे मतदाताओं ने समय समाप्ति के बाद भी अपने मताधिकार का प्रयोग किया। लंबे समय बाद जिले में मतदाता पर्ची के माध्यम से मतदान करवाया जा रहा है। शनिवार को कुक्षी, डही, बाग, निसरपुर, बदनावर में वोट डाले गए। पुरुषों की अपेक्षा मतदाताओं ने अधिक मतदान किया है। 5 विकासखंडों में औसत रूप से 77 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया। मतदान के पश्चात सभी सामग्रियों को सुरक्षित किया गया है। क्षेत्र में कहीं भी विवाद और तनाव की स्थिति नहीं बनी है। संवेदनशील केन्द्रों पर भी पूर्ण रूप से शांति रही। 

सुबह उत्साह से हुई शुरुआत 

जिले में तीन चरण मे त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के तहत सरपंच, पंच, जनपद व जिला पंचायत के वार्डों में निर्वाचन होना है। प्रथम चरण की शुरुआत में मतदान को लेकर सुबह लोगों में उत्साह दिखाई दिया। शुरुआती 2-3 घंटों में बाग को छोड़कर अन्य स्थानों पर औसत रूप से 13 प्रतिशत मतदान हो चुका था। केन्द्रों पर ग्रामीणों की लाईने लगी हुई थी। वहीं सेक्टर अधिकारी और पुलिस के अधिकारी लगातार केन्द्रों पर भ्रमण करते रहे। करीब 4 लाख 61 हजार 109 मतदाताओं में से 3 लाख 31 हजार 131 मतदाताओं ने अपने मताधिकार का उपयोग किया। सबसे मुख्य बात यह है कि पुरुषों की तुलना में 6 हजार से अधिक महिलाओं ने वोट डाले हैं। जिले में 1 लाख 62 हजार 754 पुरुष मतदाताओं के वोट डले है। वहीं 1 लाख 68 हजार 377 महिलाओं ने वोट पॉवर का उपयोग किया है। थर्ड जेंडर के कुल 8 लोगों में किसी ने भी वोट नहीं डाला। 

अब रूझान से हार-जीत का आंकलन 

प्रथम चरण में 5 विकासखंडों में सर्वाधिक मतदान 73.91 बदनावर में दर्ज किया गया है। इस क्षेत्र के 4 जिपं वार्डों के लिए मतदान किया गया है। बदनावर से प्रदेश के मंत्री राजवर्द्धनसिंह दत्तीगांव विधायक है। चुनाव के बाद देर रात तक केन्द्रों पर लोगों के रूझान को देखकर हार-जीत का आंकलन जोड़ते हुए राजनैतिक दलों के कार्यकर्ता होटलों से लेकर कार्यालय और चौराहों पर चर्चा करते नजर आए। निर्वाचन क्षेत्र में मतदान की दृष्टि से द्वितीय स्थान पर सर्वाधिक मतदान बाग में 71.39 प्रतिशत दर्ज किया गया। तीसरे नंबर पर कुक्षी में 70.92 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया है। चौथे नंबर पर डही में 70.64 प्रतिशत मतदान हुआ। चारों क्षेत्रों की तुलना में कम मतदान निसरपुर में 69.80 हुआ है।  

ई प्लेटफार्म से केन्द्रों की निगरानी 

कुक्षी अनुभाग के इलाकों में मतदान केन्द्रों की मतदान जानकारी की निगरानी ई प्लेटफार्म से की गई। कुक्षी में एसडीएम नवजीवन सिंह पंवार (आईएएस) ने आईटी प्रोफेशनल की मदद से निर्वाचन कंट्रोल रूम पर इस तरह से व्यवस्था की थी जिसमें प्रत्येक केन्द्र पर मतदान समाप्त होने और मतदान प्रक्रिया चलने की जानकारी ग्रीन और रेड फ्लैग के माध्यम से दिखाई दे रही थी। डूब क्षेत्र निसरपुर के करीब 1500 के लगभग मतदाता चिखल्दा से लेकर गणपुर एवं अन्य बसाहटों में बस गए थे। शत प्रतिशत मतदान के लक्ष्य को लेकर प्रशासन ने ‘सुविधायुक्त’ मतदान करवाया। करीब 15 के लगभग बसें नवीन बसाहटों एवं अन्य क्षेत्रों में मतदाताओं को लाने के लिए लगाई। इसका परिणाम यह रहा कि निसरपुर क्षेत्र में 69.80 प्रतिशत मतदान हुआ है। उल्लेखनीय है कि कई केन्द्र बस्तियों से 8-8 किलोमीटर दूर थे। ऐसे में लोगों को वोट डालने जाने की संभावनाएं कम थी। 

मतदान समाप्ति के बाद गणना 

जिले में यूं तो तीनों चरणों के चुनाव के पश्चात 14 जुलाई को पंच, सरपंच व जनपद के चुनाव परिणामों की घोषणा होगी, लेकिन मतदान परश्चात केन्द्रों पर निर्वाचन कार्यक्रमों के तहत मतों की गणना की गई है। अब इसका सारणीकरण किया जाएगा। केन्द्रों पर मतदान के बाद शाम तक मतदान दल के कर्मचारी मतों को जमाने और गणना करने में जुटे रहे। उल्लेखनीय है कि प्रत्येक केन्द्र पर एक पीठासीन अधिकारी एवं चार मतदान अधिकारियों की नियुक्ति की गई थी।  


केन्द्रों पर वैक्सीनेशन भी किया गया 

निर्वाचन के दौरान केन्द्रों पर पहुंचे मतदाताओं में वैक्सीने लगाने की पात्रता में शामिल मतदाताओं को टीके भी लगाए गए। कई केन्द्रों पर जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ जैन वैक्सीनेशन दल से जानकारियां भी ली। उल्लेखनीय है रोजी-रोटी की तलाश में कुक्षी अनुभाग से बड़े क्षेत्रों में लोग अन्य जिलों व राज्यों में काम के लिए जाते हैं। बड़ी संख्या में ऐसे लोग वैक्सीन के प्रथम डोज से भी वंचित रह गए थे। मतदान के दौरान उनके आने की संभावनाओं के मद्देनजर टीकों की व्यवस्था रखी गई थी। 

पत्नी को वोट मिले इसलिए शराब लेकर पहुंचा 

डही क्षेत्र के स्कूलपुरा में शनिवार को नासीर खान नाम के व्यक्ति पर शराब बांटने का आरोप लगा है। नासीर की पत्नी जनपद सदस्य के तौर पर वार्ड क्रमांक 17 से चुनाव मैदान में है। उनके निर्वाचन क्षेत्र में स्कूलपुरा कातरखेड़ा भी शमिल है। इस क्षेत्र में शराब बांटने और वोट देने की अपील पहुंचे नासीर का ग्रामीणों ने विरोध किया। उनसे शराब के क्वार्टर छूडा लिए गए। विरोध को देखते हुए नासीर मौके से भाग गया। इस दौरान कुछ ग्रामीणों ने विडियो भी बनाया था। पुलिस ने इस मामले में लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम की धारा सहित आबकारी एक्ट में प्रकरण दर्ज किया है। 

बालोदा-बखतगढ़ में हल्का विवाद 

यूं तो जिले में प्रथम चरण में शांतिपूर्ण तरीके से मतदान की प्रक्रिया संपन्न हो गई है। इसके बावजूद कुछ केन्द्रों पर कार्यकर्ताओं के मध्य मतदान को लेकर कहासुनी भी हुई है। बदनावर विकासखंड के बालोदा और बखतगढ़ में प्रत्याशियों के समर्थको में जमकर कहासुनी हुई। आरोप-प्रत्यारोप के बीच पुलिस भी मौके पर पहुंची थी। यहां पर प्रकरण दर्ज किए गए हैं।






टिप्पणियाँ
Popular posts
स्टेयरिंग फेल होने से घर में घुसी पिकअप, ड्राइवर की मौके पर ही मौत तीन घायल, - घटना के बाद ग्रामीणों ने स्टेट हाईवे पर लगाया जाम, वाहनों की लंबी कतार
चित्र
कोठीदा का मिट्टी वाला बांध हुआ लिकेज, एक दर्जन से अधीक ग्राम के लोग घबराए
चित्र
तबाही का मंझर आंखों के सामने~~~ 2 दिन से चल रहा डेम में लीकेज सही करने का काम, बाँध को खाली करने की जा खुदाई में आ रही दिक्‍कत दोनों ओर बनाई जा रही चेनल
चित्र
दोषियों पर कारवाई क्यो नही:, वीडियो से मिली डेम की लगी जानकारी जिम्मेदार अधिकारी को पानी रिसने की नही थी जानकारी, जल संसाधन मंत्री तुलसी सिलावट ने उद्योग मंत्री दत्तीगांव के साथ किया मुआयना
चित्र
बाग में पटवारी की मिलीभगत से दूसरे जमीन घोटाले में भी केस दर्ज
चित्र