आजाद नगर का युवा डॉक्टर इंदौर में कर रहा पॉजिटिव मरीजों का इलाज-- यशवंत जैन


चंद्र शेखर आजाद नगर(भाबरा)-

कोरोना महामारी से पूरा देश परेशान हैं। ऐसी विषम परिस्थिति में अलीराजपुर तहसील के  अंतर्गत आने वाले भाबरा गांव के युवा डॉक्टर दीपक जैन ने इंदौर जाकर पॉजिटिव मरीजों का इलाज कर एक मिसाल पेश की है। युवा डॉक्टर के इस जब्बे को गांव व शहर में रहने वाले डॉक्टर भी सलाम कर रहे हैं। दरअसल दीपक जैन पिता नारायण जैन भाबरा  नगर  के निवासी हैं। उन्होंने कोरोना केवायरस जैसी महामारी की नजर अंदाज करते हुए खुद की जान को जोखिम में डाल कर निस्वार्थ पॉजिटिव मरीजों का इलाज करके सेवा का कार्य कर रहे हैं। उनका हौसला ही मनोबल बढ़ा रहा है। उन्होंने हमसे  बातचीत करते हुए कहा कि वह सुबह 9 से 1 बजे तक MR10 सुखलिया क्लिनिक पर रहते हैं। इसके बाद दोपहर 2 से रात 10 बजे तक क्योर वेल हॉस्पिटल  कॉविड सेंटर में ड्यूटी डॉक्टर सेवा दे रहे हैं। इसके अलावा बचे हुवे समय में मोबाइल फोन के द्वारा मरीजों को परामर्श सलाह और बचाव के उपाय बता रहे है। डॉ दीपक जैन का कहना है कि कोरोना महामारी से मरीजों की जान बचाना ही डॉक्टर का फर्ज है। और इसमें उनके घर परिवार के सदस्य भी उनके साथ है और उनका हौसला बड़ा रहे है और  वे अपने फर्ज को बखूबी निभा रहे हैं। ड्यूटी के दौरान सुरक्षा को देखते हुए पीपीटी किट पहनकर काम कर रहे हैं। इस भीषण गर्मी में उनका उद्देश्य है कि मरीजों का इलाज करना है। उनका मानना है कि इसी सेवाभाव से कोरोना महामारी पर विजय प्राप्त करेंगे। उन्होंने कोरोना संक्रमण के हालतों को देखकर लोगों से भी अपील की है कि अपने परिवार की सुरक्षा के लिए बिना वजह के घर से ना निकले। घर में सुरक्षित रहे। कुछ ज्यादा जरूरी काम है मुंह पर मास्क तथा सेनेटाइजर से हाथ साफ करे। इसके अलावा सोशल डिस्टेसिग के नियमों का भी पालन करें।. 

पत्रिका से चर्चा में डॉ दीपक जैन ने बताया कि वे महान क्रांतिकारी अमरशहीद चंद्रशेखर आज़ाद की जन्मस्थली से है इस ट्राइबल क्षेत्र में स्वाथ्य सुविधाओ के साथ डॉक्टर्स  की बहुत ही कमी है कोरोना की इस वैश्विक महामारी के चलते चंद्रशेखर आज़ाद नगर के कई लोग इस बीमारी के चलते नही बच पाए ।ऐसे में इंदौर शहर मेरा पूरा प्रयास रहेगा कि कोरोना संक्रमित मरीजो की सेवा और उनका इलाज अधिक से अधिक कर उन्हें स्वथ्य कर घर भेजने का रहेगा क्यो की घर पर उनके माता पिता भाई बहन उनका बेशब्री से इंतजार कर रहे होंगे।

फ़ोटो 01 पीपीटी किट में डॉ दीपक जैन