*महिला के ईसाई होने पर संघ के स्वयंसेवको ने ईसाई पद्धति से कराई अंतिम क्रिया

 *कोरोना से लड़के की मौत के बाद माँ का भी निधन।*


*महिला के ईसाई होने पर संघ के स्वयंसेवको ने ईसाई पद्धति से कराई अंतिम क्रिया।*


जानकारी के अनुसार इंदौर के नंदानगर में स्थित बीमा अस्पताल में माया लाखड़ा नर्स काम करती थी । अस्पताल में कार्य के दौरान वह कोविड पॉजिटिव हुई । और जिसका इलाज मध्यभारत अस्पताल महू में चल रहा था । इलाज के दौरान 23 अप्रैल को कोरोना से उनकी मृत्यु महू के मध्यभारत अस्पताल में हो गई । बता दे कि महिला के बेटे की मृत्यु भी दो दिन पूर्व कोरोना से हो गई थी और महिला के पति की भी मृत्यु कई वर्ष पूर्व ही हो चुकी थी । ऐसे में महिला के परिवार में अंतिम क्रिया करने वाला कोई भी नहीं बचा था । अस्पताल में काम करने वाले कर्मचारियों ने महिला की मृत्यु की सूचना राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्वयंसेवक विनोद मिश्रा को दी। बताया की एक ईसाई महिला की मृत्यु कोरोना से हो गई है । जिसका अंतिम संस्कार करने वाला कोई नही है । तब विनोद मिश्रा ने संघ के विभाग के सह कुटुंब प्रोबोधन साथी स्वयंसेवक अनिल सौलंकी की सहायता ली व इंदौर से पास्टर को बुलवाकर महू के कब्रिस्तान में महिला का अंतिम क्रिया, ईसाई पद्धति से करवाई ।