किराना व्यवसायी गुमशुदा, एसडीएम और उनकी पत्नी पर प्रताड़ना का आरोप

 


एक महिला ने एसडीएम और उनकी पत्नी पर प्रताड़ना का आरोप लगाया है। महिला का कहना है कि उसका पति प्रताड़ित होकर घर छोड़कर चला गया है। गुमशुदा पति की रिपोर्ट पत्नी ने कुक्षी पुलिस थाने में कराई है। यह मामला धार जिले के कुक्षी तहसील का है, यहां पर कुक्षी नगर के किराना व्यवसायी राजेश धारीवाल की गुमशुदगी की रिपोर्ट कुक्षी पुलिस थाने पर उनकी पत्नी प्रीति धारीवाल द्वारा दर्ज कराई गई है, जिसमें कहा गया है कि कुक्षी के अनुविभागीय अधिकारी राजस्व एसडीएम विवेक कुमार एवं उनकी पत्नी के द्वारा मेरे पति के साथ प्रताड़ना की गई है, जिससे व्यथित होकर मेरे पति राजेश धारीवाल घर छोड़कर कहीं चले गए हैं। साथ ही उनका मोबाइल फोन भी स्विच ऑफ आ रहा है। इसके पहले मेरी एक बार उनसे बात हुई है, जिस पर उन्होंने प्रताड़ना की बात कही है।


गुमशुदा हुए राजेश धारीवाल की पत्नी पति धारीवाल ने बताया कि हमारा किराना का व्यवसाय है और किराना का सामान एसडीएम के घर बिक्री हेतु जाता था, जिसके लेन देन लेकर ही विवाद हुआ है। वहीं इस पूरे मामले पर एसडीएम ने अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा है कि इस प्रकार की कोई हमारे द्वारा प्रताड़ना नहीं की गई है। इसके अलावा न ही किसी प्रकार की हमने पुलिस या अन्य किसी को शिकायत की है और न ही करेंगे। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि राजेश धारीवाल अपने परिवार की चिंता करते हैं। पुनः घर वापस लौटे और अपने व्यवसाय चलाएं। इस ऑडियो वीडियो को लेकर एसडीम विवेक कुमार ने बताया राजेश धारीवाल पुलिस थाना कुक्षी के सामने इनकी किराना दुकान है एवं इनकी दुकान से मेरे निवास पर सामग्री आती थी। वही राजेश धारीवाल द्वारा एसडीम निवास पर भी परिवारजनों के साथ अभद्रता की वही फोन पर भी अभद्रता की गई। इस अभद्रता को लेकर हमारे द्वारा कोई भी कार्यवाही नहीं चाही गई और ना ही कोई भी कार्यवाही इस मामले को लेकर भविष्य में कोई भी कार्यवाही की जाएगी। एसडीम विवेक कुमार ने बताया राजेश धारीवाल जी जहां कहीं भी हो वे घर पर आ जाएं अपने परिवार का ख्याल करें एवं अपने परिवार की चिंता करें एवं अपना कार्य सुचारू रूप से कार्य करें वहीं इस मामले को लेकर थाना प्रभारी कमल सिंह गहलोत ने बताया बीते दिन राजेश धारीवाल की पत्नी द्वारा अपने पति की गुमशुदगी को लेकर सूचना दी गई थी जिस पर पुलिस थाना कुक्षी द्वारा उन्हें ढूंढा भी जा रहा है। एवं एसडीएम द्वारा कार्यवाही को लेकर उस थाने में कोई आवेदन नहीं दिया गया है और ना ही कार्यवाही को लेकर निर्देश दिए गए हैं।