महू एसडीएम के निर्देश पर सिमरोल में हुई फर्जी डॉक्टरों पर प्रभावी कार्यवाही

 आज सिमरोल क्षेत्र में अपनी-अपनी क्लीनिक और डिस्पेंसरिया चला रहे फर्जी डॉक्टरों में उस समय हड़कंप मच गया जब महू से बीएमओ डॉक्टर संजय जैन के नेतृत्व में एक दल उनकी जांच करने पहुंच गया.


इन फर्जी डॉक्टरों जिन्हें बंगाली डॉक्टर भी कहा जाता है ने काफी समय से सिमरोल समेत संपूर्ण महू तहसील में अपना कब्जा जमाए रखा है और कई बार यह लोग लोगों की जान से खिलवाड़ भी करते हैं. बी एम् ओ संजय जैन ने बंगाली डॉ परितोष नोमिल पर सबसे पहले कार्रवाई की. 


बंगाली डाक्टरों के यहां से बड़ी मात्रा में दवाइयां भी ज़ब्त की गई जिसमें प्रेगनेंसी टेस्टिंग किट, पेरासिटामोल, खांसी बुखार की दवाई, मल्टीविटामिन और अन्य प्रतिबंधित दवाइयां भी प्राप्त हुई.


400 से 500 खाली इंजेक्शन भी मिले, उसके अलावा कांच का इंजेक्शन मिला और दवाइयों पर इतनी धूल ज़मी हुई थी कि उनको पहचानना भी मुश्किल था.


 इन अस्पतालों में सफाई का किसी भी तरह से कोई ध्यान नहीं रखा गया है, भयंकर गंदगी फैली हुई है.