झोलाछाप निहार विश्वास की एफआईआर को लेकर बीएमओ का संरक्षण खुलासा

कलेक्टर के पत्र पर एस डी एम ने दो बार दिया पत्र 


बीएमओ ने किया नजर अंदाज


झोलाछाप की डिग्रियों को लेकर गोल मोल दे रही जवाब


चंद्रशेखरआजादनगर :- विगत दिनों चंद्रशेखर आज़ाद नगर विकासखण्ड के ग्राम बरझर में झोलाछाप निहार विश्वास के क्लिनिक पर तहसीलदार यशपाल मुझाल्दा,नायब तहसीलदार जितेंद्र सोलंकी, व डॉ अमित शर्मा के द्वारा बी एम ओ की उपस्तिथि में कार्यवाही की गई थी। झोलाछाप निहार विस्वास की एफआईआर को लेकर बीएमओ मुजुला चौहान की कर्तव्यनिष्ठ रवैये किसत्यता का खुलासा सामने आया है । जिसमे स्वयं बीएमओ की सन्दिग्धता दिखाई दे रही है और वे अपनी ड्यूटी को टालमटोल कर प्रशासन को भृमित कर रही है। ओर झोलाछाप को आज दिन तक प्रशय देने का काम कर रही है।जब कार्यवाही के दौरान झोलाछाप निहार विस्वास के क्लिनिक पर निहार विश्वास को एलोपैथिक दवाइयों से मरीजो का उपचार करते देखा जा कर क्लिनिक सेएलोपैथिक दवाइयां एक्सपायरी मात्रा में व 10 वी पास निहार की प्रथम द्रष्टया में फर्जी डिग्री भी जब्त कर मोके पर पंचनामा बनाकर बीएमओ मंजुला चौहान को मामले में एफआईआर के लिए सोपा था। बीएमओ द्वारा झोलाछाप निहार विश्वास के खिलाफ कार्यवाही नही करने को लेकर पत्रिका ने प्रमुखता से समाचार प्रकाशित किया था। उक्त समाचार की कटिंग के सम्बंध में अलीराजपुर कलेक्टर सुरभिगुप्ता के पत्र क्रमांक/शिकायत/328,220 अलीराजपुर 23 अप्रेल के संदर्भ में चंद्रशेखर आज़ाद नगर एस डी एम महेश बड़ोले ने बीएमओ मंजुला चौहान को पत्र भेजकर झोलाछाप निहार विश्वास के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई की नही यदि एफआईआर दर्ज कराई गई हो तो उसकी छायाप्रति एवं की गई कार्यवाहि से अवगत कराने के लिए लिखा गया। इस के बाद दूसरा पुनः स्मरण पत्र17/6/20 को दिया जाने के बाद एक माह तक किसी भी प्रकार की कार्यवाही से सम्बंधित जवाब देना मुनासिब नही समझा गया। पत्रिका ने बीएमओ मंजुला चौहान से चर्चा करने पर पूर्व में पत्रिका को आश्वासन देकर कहा गया था कि झोलाछाप सभी से चिकित्सा सम्बंधित प्रमाणपत्र मांगे जा कर इनका डाटा बनाया जा रहा है । मगर दो माह से ज्यादा समय बीत जाने के बाद भी बीएमओ द्वारा इन पर कोई कार्यवाही नही की गई । 


सी एच एमओ ने भी दिए थे आदेश एफआईआर के


पत्रिका ने सीएमएचओ डॉ ढोके को फोन पर चर्चा में भी झोलाछाप निहार विश्वास की एफआईआर के सम्बंध में आदेश बीएमओ मंजुला चौहान को दिए गए थे । पत्रिका ने सीएमएचओ के आदेश का समाचार भी प्रकाशित किया था। मगर आज तक बरझर के झोलाछाप निहार विश्वास के खिलाफ एफआइआर को लेकर प्रशासन को भृमित किया जा रहा है और झोलाछाप निहार विस्वास की एफआईआर को लेकर प्रशय दिया जा रहा है । झोलाछाप के द्वारा धड़ल्ले से खुले आम गरीब ग्रामीणों की जान से खिलवाड़ हो रहा है । मगर स्वाथ्य विभाग के आलाधिकारी मोन होकर बीएमओ को खुलेआम संरक्षण दे रहे है।


इनका कहना 


झोलाछाप छाप निहार विस्वास के खिलाफ एफआईआर से सम्बंधित कलेक्टर के पत्र के संदर्भ में बीएमओ मंजुला चौहान को दो बार पत्र दे कर तत्काल कार्यवाही से अवगत करवाने के लिए लिखा गया था । बीएमओ के द्वारा 1 जुलाई को पत्र के संदर्भ में जवाब दिया गया कि पूर्व झोलाछाप के खिलाफ कोर्ट में लम्बित प्रकरण के चलते निहार विश्वास के खिलाफ़ एफआईआर नही की गई। बीएमओ के जवाब से कलेक्टर को अवगत कराया जा रहा है।- महेश बड़ोले, एसडीएम, चंद्रशेखर आज़ाद नगर 


 


Popular posts
आंबेडकर विश्वविद्यालय, महू की "बाबू जगजीवन राम पीठ" के प्रोफेसर के रूप में डॉ शैलेंद्र मणि त्रिपाठी ने किया अपना कार्यभार ग्रहण
चित्र
रामचरित्र मानस पर आधारित प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता का हुआ आंबेडकर विश्वविद्यालय में आयोजन, कई महान विभूतियों ने लिया भाग
चित्र
अम्बेडकर विश्वविद्यालय, महू में भक्तिमयी शबरी पर कार्यक्रम का मंचन
चित्र
विश्व हिंदू परिषद जिला महू की मातृशक्ति-दुर्गा वाहिनी द्वारा शस्त्र पूजन, महाआरती का किया गया आयोजन
चित्र
शक्ति उपासना राष्ट्रीय कवि सम्मेलन के आयोजन को लेकर डा. दवे के नेतृत्व वाले दल ने लिया जायजा
चित्र