स्कूल भवन में रखा गया मजदूरों को क्वॉरेंटाइन के लिए तो उन्होंने जर्जर प्रतीत होते स्कूल को चमन कर दिया

राजस्थान के सीकर में एक गांव  के प्राथमिक स्कूल में गुजरात मध्य प्रदेश इत्यादि जगहों से आए मजदूरों को क्वॉरेंटाइन में रखा गया था 


उन मजदूरों ने देखा कि दो दशकों से स्कूल की पेंटिंग नहीं हुई है साफ सफाई नहीं हुई है तब उन मजदूरों ने सरपंच के सामने पेंटिंग करने का प्रस्ताव रखा 


तुरंत ही पेंट, चूना, ब्रश इत्यादि का इंतजाम हुआ और उन मजदूरों ने अपने क्वॉरेंटाइन के दौरान पूरे स्कूल की शक्ल सूरत बदल दी 


 और इसके लिए उन्होंने कोई पैसा नहीं लिया बल्कि सरपंच से कहा कि हम यहां पर हैं मुफ्त में खा रहे हैं तब हमारा फर्ज है कि हम कुछ न कुछ इस स्कूल को दें


दूसरी तरफ एक वह है जो तोड़फोड़ कर रहे हैं, नर्सों के सामने नंगे घूम रहे हैं, थूक कर गंदगी फैला रहे हैं।


सोच की यही फर्क उन लोगों को घृणा का पात्र बनाती है जो कोरोनावायरस महामारी से बचाव के लिए मोहल्लों-मोहल्लों में गश्त लगाती पुलिस और उनके घरों पर दस्तक देते स्वास्थ्य कर्मियों पर हमला करते हैं।



टिप्पणियाँ
Popular posts
विदिशा के लटेरी खटियापराए की घटना के बाद हुई कारवाई के विरोध में किए शस्त्र जमा, कर्मचारीयो पर हुई करवाई के बाद से नाराज है कर्मचारी
चित्र
तबाही का मंझर आंखों के सामने~~~ 2 दिन से चल रहा डेम में लीकेज सही करने का काम, बाँध को खाली करने की जा खुदाई में आ रही दिक्‍कत दोनों ओर बनाई जा रही चेनल
चित्र
Infantry School Mhow Amrit Mahotsav Celebration - Cyclothon organized
चित्र
जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक मर्यादित,धार में गरिमा एवं हर्षोल्लास के साथ मनाया गया स्वतंत्रता दिवस समार
चित्र
आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत हर घर तिरंगा अभियान की निकली रैली, गाँव गाँव मे रैली निकालकर दिया सदेश
चित्र