कोरोना को लेकर महू के लिए अच्छा रहा आज का दिन

 बात अगर कोरोना महामारी की की जाए तो आज का दिन महू के लिए बहुत ही अच्छा रहा। इसका कारण यह है कि महू में 2 आईपीएस अफसर पदस्थ थे जिनमें से एक अमित तोलानी एडिशनल एसपी के पद पर थे वही दूसरे आदित्य मिश्रा मानपुर थाने में प्रशिक्षु आईपीएस अधिकारी थे।


पिछले पखवाड़े दोनों को कोरोना पॉजिटिव पाया गया था जिस कारण से अचानक दोनों को इंदौर के रेड जोन अस्पताल में भर्ती कराया गया था।


चूंकि ऐसे नाजुक समय में इन दोनों की पदस्थापना को रिक्त नहीं रखा जा सकता था तो पूर्व में बड़गौंदा थाने के थाना प्रभारी रहे रॉबर्ट गिरवाल को मानपुर थाने भेज दिया गया था, वही इससे पहले महू में एडिशनल एसपी रहे धर्मराज मीणा को छिंदवाड़ा से बुलाकर वापस महू एडिशनल एसपी का चार्ज दिया गया था।


इस दौरान दोनों अधिकारियों का इलाज बखूबी इंदौर में चल रहा था और आज सुबह खुशखबरी आई कि दोनों अधिकारी स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हो रहे हैं। आज ही करोदिया, बंजारी और धारनाका में पुलिस का डोमिनेशन मार्च था और उसमें कमाल की बात यह रही एडिशनल एसपी अमित तोलानी अस्पताल से स्वस्थ होकर सीधे उस मार्च में पहुंच गए और पूरे मार्च में अपनी टीम का नेतृत्व किया।


एक बात और जो भावुक कर देने वाली थी वह यह थी कि उनके मातहत अधिकारियों ने तो उनका स्वागत तालियां बजाकर किया ही, जिस-जिस इलाके से डोमिनेशन मार्च को लेकर वह निकले, उन इलाकों में भी उनका तालियों से स्वागत किया गया।


तोलानी ने भी किसी विजेता की तरह हाथ हिलाकर ताली बजाने वालों का अभिवादन किया। यहां हमने इन्हें विजेता इसलिए कहा क्योंकि कोरोना से लड़कर इतने कम दिनों में वापस अपने कार्य पर आ जाना किसी बड़ी विजय से कम नहीं है। यह बीमारी और उसक डटकर मुकाबला करना किसी युद्ध लड़ने से कम नहीं है।


ऐसे में इन दोनों कोरोना योद्धाओं का जिस तरह से स्वागत हुआ, उससे लोगों में भरपूर सकारात्मक ऊर्जा का प्रवाह हुआ। इसी तरीके से आदित्य मिश्रा का मानपुर पहुंचने पर भव्य स्वागत किया गया।



टिप्पणियाँ
Popular posts
पति ने उठाया खौफनाक कदम: धारदार हथियार से पत्नी की हत्या कर किया सुसाइड, जांच में जुटी पुलिस
चित्र
त्योहारों के मद्देनजर एसडीएम का चंद्रशेखर आजाद नगर में हुआ दौरा, झोलाछाप डॉक्टरों पर गिरी गाज
चित्र
कर्मसत्ता किसी को नहीं छोड़ती चाहे राजा हो या रंक --प्रिय लक्ष्णा श्री जी म सा
चित्र
मॉम्स ने बताए सर्दी से बचाव के तरीके
चित्र
ठेकेदार की लापरवाही भुगत रहे ग्रमीण, यह कैसा विकास ? ग्रामीणों को हर रोज करनी पड़ती है नाली की साफ सफाई जिम्मेदार सोए कुम्भकर्ण की नींद पानी की निकासी की व्यवस्था नहीं सड़क पर कीचड़ से निकलना तक मुश्किल गांव की सूरत बनाना तो दूर , जगह जगह पसरी गंदगी
चित्र