किसी मजदूर को परेशान नहीं होने देंगे, सभी को सकुशल लाएंगे घर- मुख्यमंत्री

किसी मजदूर को परेशान नहीं होने देंगे : सभी को सकुशल लाएंगे घर



राजस्थान से मध्यप्रदेश आए मजदूर, गुजरात से 2400 मजदूर बसों से रवाना



प्रदेश में 8000 मजदूर अपने गृह जिलों के लिए रवाना
 
भोपाल । मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान  ने कहा है कि सरकार ने दूसरे राज्‍यों में फंसे मध्यप्रदेश के मजदूरों को बसों से प्रदेश वापस लाने का कार्य प्रारंभ कर दिया गया है। हमने उत्‍तर प्रदेश, गुजरात, महाराष्‍ट्र, राजस्‍थान आदि राज्‍यों के मुख्यमंत्रियों से बात कर ली है। राजस्‍थान से हमारे मजदूर आने शुरू हो गए हैं। गुजरात से 2400 मजदूर 98 बसों से मध्‍यप्रदेश के लिए रवाना हो चुके हैं। अन्‍य राज्‍यों से भी मजदूरों को शीघ्र प्रदेश वापस बुलाया जाएगा।


मुख्‍यमंत्री ने बताया कि प्रदेश में ही अन्‍य जिलों में फंसे मजदूरों को बसों से उनके गृह जिलों/गांवों में लाने का कार्य किया जा रहा है। यह क्रम निरंतर जारी रहेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि मजदूर धैर्य रखें, सभी को लाए जाने की व्‍यवस्‍था की जाएगी। हम अपने मजदूरों को पैदल नहीं चलने देंगे, परेशान नहीं होने देंगे।


मुख्‍यमंत्री ने बताया कि सभी मजदूरों की स्‍क्रीनिंग और स्‍वास्‍थ्‍य परीक्षण करवाया जाएगा तथा उन्‍हें होम क्वारेंटाइन में रखा जाएगा। आवश्‍यकता होने पर उन्‍हें गांव के बाहर एक केन्‍द्र में भी रखा जा सकता है। इस कार्य में वे प्रशासन का पूरा सहयोग करें। श्री चौहान ने गांव वालों से अनुरोध किया है कि वे बाहर से लौटने वाले अपने मजदूर भाइयों का सहयोग करें। पूर्ण मानवीय दृष्टिकोण रखें।


बाहर से परिवारजनों को लाने के लिए ई-पास की व्यवस्थाएँ


मुख्‍यमंत्री ने बताया कि कई परिवारों के बच्‍चे अन्‍य राज्‍यों और अन्‍य जिलों में हैं, माँ-बाप उन्‍हें वापस बुलाना चाहते हैं। हम उनके लिए भी ई-पास की व्‍यवस्‍था कर रहे हैं। ई-पास के लिए लिंक https://mapit.gov.in/covid-19/ पर लॉगइन करें। वे अपने साधनों से अपने घर लौट सकेंगे, परन्‍तु इंदौर, भोपाल, उज्‍जैन जैसे संक्रमित जिलों से कोई आएगा-जाएगा नहीं।