एक बेनाम व्यापारी की प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री को लोक डाउन के परिप्रेक्ष्य में अत्यंत मार्मिक अपील

माननीय प्रधान मंत्री जी


माननीय मुख्य मंत्री जी


आप लोगों ने14 अप्रैल तक पूर्ण लॉक डाउन देश में घोषित किया है और आगे लाकडाउन बढ़ने की संभावना है। व्यापारियों से अपने प्रतिष्ठान अपनी फैक्ट्री बंद रखने के लिए भी कहा। महोदय आपने व्यापारियों से यह भी कहा कि अपने कर्मचारियों को व्यापार बंद होने पर भी पूरी तनखा दे। 


हमे बस ये जानना है आपने व्यापारियों को क्या समझा हुआ है ? सोने का अण्डा देने वाली ----


आपने व्यापारी भाईयों के लिए कौन से सहयोग की प्लानिंग की हुई है , बलिदान तो आपने मांग लिया। 


चूंकि बंदी तो लागू है, सारे व्यापार पूर्णतया बंद है , कृपया बताए व्यापारी कैसे जिंदा रहेगा। 


तनखा चालू
बिजली बिल चालू
जीएसटी चालू
बैंक ब्याज चालू
किराया चालू
हाउस टैक्स चालू
जल कर चालू
अन्य सभी कर चालू


व्यापारियों के लिए कहीं भी राहत नहीं है। अगर उपरोक्त सभी मदों में राहत मिल जाए तो हम व्यापारी ३० अप्रैल तक देश हित में अपने व्यापार बंद रखने में पीछे नहीं है। 


व्यापारिक आग्रह
   सभी कमर्शियल और घरेलू बिजली बिल अगले ३ माह के लिए ५०% कर दिए जाए। 
   कंपनीज और फर्मो को अगले १२ महीने के लिए देय जीएसटी का ५०% ही भुगतान करना हो।
   अगले ६ महीनों के लिए सभी प्रकार के ब्याज माफ किए जाए। 
   हर प्रकार की ईएमआई को अगले ६ महीने के लिए बिना ब्याज के रोक दिया जाए। 
   कर्मचारी का पीएफ के भुगतान में भी राहत हो और अगले ६ माह तक इसका भुगतान सरकार करे। 
   प्रॉपर्टी कर वित्तीय वर्ष २०२०-२१ के लिए ५०% तक घटा दिया जाए। 


महोदय जैसे आप किसानों को बाढ़ और सूखे के समय राहत आपदा देते है , यह समय हम व्यापारी भाईयों के लिए भी किसी विषम आपदा से कम नहीं है। 


आप उपरोक्त सहयोग कर दें, बाकी व्यापारी संभाल लेंगे।