परीक्षा में चेकिंग के दौरान सिख छात्र की पगड़ी उतरवाई  

धार: धार जिले के धामनोद में एक सिख छात्र की पगडी उतरवाने का मामला सामने आया है। दरअसल सिख छात्र हरपालसिंह कक्षा 12 वी परीक्षा देने परीक्षा केन्द्र पहुंचा था तभी वहां उपस्थित परीक्षा हाॅल में ड्यूटी दे रही शिक्षिकाओं ने उस छात्र की पकडी उतरवाकर चेंकिग की। परीक्षा पश्चात सिख छात्र ने पगडी उतरवाने वाले मामले की शिकायत की तो तत्काल परीक्षा की इस मामले में ड्यूटी दे रही सहायक केन्द्राध्यक्ष ममता चौरसिया को वहां से हटा दिया है।  


सिख छात्र हरपलसिंह जब परीक्षा देने गया तो नियमित चैंकिंग  के दौरान उसकी पगडी को खुलवाया गया हालांकि छात्र ने पगडी होने का विरोध किया और कहा कि पगडी मत उतरवाओ ये मेरी शान है लेकिन उन्होने नियमों का हवाला देकर मेरी पगडी उतरवाई ।


हरपालसिंह (छात्र) मेरा बोर्ड परीक्षा का सेंटर था वह कन्या शाला स्कूल में लगा था तो मेरी चेकिंग हो रही थी। तो मैं जब रूम में जाने वाला था तो मेम ने बोला कि आप ये पगडी पहनकर परीक्षा नहीं दे सकते। तो मैने मेम को बहुत बोला कि ये मेरी शान है मैं इसको कैसे उतार सकता हूॅ। तो उन्होने बोला कि ये तो करना ही पड़ेगा। मैंने बोला कि ऑफिस  रूम में जो भी हैड सर है उनसे में बात करता हूॅ। मैं गया और मैंने सर से बात की। सर ने कहा कि तो एमपी बोर्ड के जो नियम है वह तो करना ही  पडेगा। तो उन्होंने मेरी पगडी को चेक किया और मेरी पगडी को निकाल दी। जोडे में भी चेक किया। फिर मैंने वापस पगडी पहनी और परीक्षा हाॅल में  परीक्षा देने गया तो मुझे गबराहट भी हो रही थी। बहुत दिक्कत फील हो रही थी।


सिख युवक की पगडी उतारने वाले मामले से प्रशासन में हडकंप मच गया और अब प्रशासन कह रहा है कि चेकिंग के दौरान पगड़ी गिर गई थी।  मामले की जांच करने के साथ ही दोषी सहायक केन्द्राध्यक्ष ममता चोरसिया को परीक्षा व्यवस्था को फिलहाल हटा दिया है।


ब्रजेश  पाण्डे (उपायुक्त, आदिवासी विकास)


ये धामनोद हायर सेकेण्डरी विद्यालय में कल जो परीक्षा थी उसमें एक ऐसा तथ्य सामने आया है। वहां पर परीक्षा के पूर्व जो एक नियमित चेकिंग होती है। उसके दौरान एक कोई छात्र था जो कि पगडीधारी था, सिख था। उसकी नकल की चेकिंग के दौरान उसकी पगडी गिर गई थी। उस पर उनके लोगों ने ऐतराज किया। इस घटना की हम जांच करा रहे है। लेकिन ये संवेदनशील प्रकरण है। इसलिए वहां की जो केन्द्राध्यक्ष थी जिनके समक्ष यह घटना हुई उनको परीक्षा कार्य से प्रथक कर दिया। वर्तमान में इनके कथन और छात्रों के कथन लिए जा रहे है। इसमें जो भी दोषी होगा न्याय उचित कार्यवाही की जाएगी।


सिख युवक की पगडी जांच के बहाने से उतारने के मामले में अब तूल पकड लिया और सिख समाज ने भी इस पर घोर आपत्ति दर्ज कराई है। समाज का कहना है कि यह गंभीर मामला है इसे हम बर्दाष्त नहीं करेगे।


 जसबीर सिंह होरा (अध्यक्ष धार सिख समाज)


 सिख समाज एक परोपकारी सेवाभावी समाज है इसने कभी किसी धर्म या किसी को आद्यात पहुंचाया है। हम धार सिख संगत गुरू संघ हटवाडा की ओर से कडे शब्दों में इसकी निंदा करते है। भविष्य में कभी ऐसी पुर्नावृत्ति न हो। जिस व्यक्तियों द्वारा इस प्रकार का कृत्य किया गया है। इनके खिलाफ सख्त कार्यवाही होना चाहिए। 


Popular posts
देवभूमि उत्तराखण्ड के एक वीर सपूत का देवलोक गमन
चित्र
सांसद पत्नी सूरज डामोर व नगर परिषद अध्यक्षा निर्मला डावर लगातार ग्रामीण क्षेत्र में महिलाओं से हो रहीं वोटिंग के लिए रुबरु~यशवंत जैन
चित्र
औद्योगिक क्षेत्र पीथमपुर के युवा तरुणाई शुभम पाराशर का जन्म दिवस मनाया गया धूमधाम से
चित्र
रामचरित्र मानस पर आधारित प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता का हुआ आंबेडकर विश्वविद्यालय में आयोजन, कई महान विभूतियों ने लिया भाग
चित्र
अम्बेडकर विश्वविद्यालय का ‘नक्सल ऑपरेशन एंड लेसन्स’ विषय पर राष्ट्रीय परिसंवाद का आयोजन
चित्र