प्रवर्तन निदेशालय ने यस बैंक के संस्थापक को आधी रात को किया गिरफ्तार

*मुंबई: प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने धन शोधन (Money laundering) के आरोपों में Yes Bank के संस्थापक राणा कपूर (Founder Rana Kapoor) को आधी रात को गिरफ्तार किया*। *मुंबई* शनिवार को करीब 15 घंटे की पूछताछ के बाद ED ने रात तीन बजे राणा कपूर को गिरफ्तार किया। लंबी पूछताछ में ED ने राणा कपूर से येस बैंक के लेन-देन पर कई सवाल पूछे गए। ईडी ने उनके परिवार की कंपनियों और डीएचएफएल के बीच हुए ट्रांजेक्शन पर भी सवाल किए गए। बता दें कि ED ने शिकंजा कसते हुए शनिवार को Yes Bank के संस्थापक राणा कपूर से उनके तथा अन्य लोगों के खिलाफ धन शोधन के एक मामले में गहन पूछताछ की गई। अधिकारियों ने बताया कि कपूर को शनिवार दोपहर में बालार्ड एस्टेट स्थित एजैंसी के कार्यालय लाया गया।


 


प्रवर्तन निदेशालय ने शुक्रवार रात वर्ली इलाके में ‘समुद्र महल’ परिसर में राणा के आवास की तलाशी ली थी और उससे सख्त सवाल-जवाब किए। उन्होंने कहा कि कपूर के खिलाफ मामला घोटाले से प्रभावित DHFL से जुड़ा हुआ है, क्योंकि बैंक द्वारा कंपनी को दिया गया कर्ज कथित रूप से गैर-निष्पादित आस्तियां (एन.पी.ए.) घोषित कर दिया गया है। कपूर के खिलाफ धन शोधन रोकथाम अधिनियम (पी.एम.एल.ए.) के तहत कार्रवाई की जा रही है। वहीं SBI के चेयरमैन रजनीश कुमार ने कहा कि Yes Bank के सभी खाताधारकों को घबराने या डरने की जरूरत नहीं है। उनका रुपया पूरी तरह से सुरक्षित है। जल्द यह संकट दूर हो जाएगा। 


 


RBI भी कर सकता है 8,000-10,000 करोड़ की मदद
Yes Bank को बचाने के लिए RBI बड़ा कदम उठा सकता है। Yes Bank को वित्तीय मदद के तौर पर वह 8 से 10 हजार करोड़ रुपए दे सकता है। सूत्रों के मुताबिक यैस बैंक में नकदी का संकट दूर करने के RBI सैक्शन 17 के तहत यह रकम कर्ज के रूप में दे सकता है। इस रकम पर ब्याज मौजूदा दर से कम वसूला जा सकता है जिससे बैंक पर भार न पड़े।