शहर के व्यस्त इलाकों में स्कूल बसों के लिए निर्धारित होंगे स्टॉपेज

शहर के व्यस्त इलाकों में स्कूल बसों के लिए निर्धारित होंगे स्टॉपेज
डीपीएस में हुई ट्रांसपोर्ट रिव्यू कमेटी की बैठक, ट्रैफिक पुलिस व परिवहन विभाग के अफसरों ने दिया सुझाव


इंदौर. स्कूली बसों में बच्चों की सुरक्षा और सुविधाओं के मद्देनजर दिल्ली पब्लिक स्कूल ने ट्रैफिक पुलिस, परिवहन विभाग और शिक्षा विभाग के सहयोग से एक ट्रांसपोर्ट रिव्यू कमेटी का गठन किया है। इसकी पहली बैठक 27 फरवरी को डीपीएस निपानिया में आयोजित की गई। बैठक में डीएसपी ट्रैफिक ईस्ट जोन श्री उमाकांत चौधरी, एआरटीओ श्री ह्रदेश यादव, ट्रैफिक काउंसलर श्री प्रफुल्ल जोशी, शिक्षा विभाग खजराना संकुल के श्री इकबाल और जेएसडब्ल्यूएस ग्रुप से डायरेक्टर (ऑपरेशन्स) श्री फैसल मीर खान शामिल हुए। बैठक की शुरुआत में डीपीएस इंदौर प्रिंसिपल श्री अजय के शर्मा और डीपीएस राऊ प्रिंसिपल श्रीमती आशा नायर ने अतिथियों का पुष्पगुच्छ से स्वागत किया। जेएसडब्ल्यूएस डायरेक्टर श्री फैसल मीर खान ने डीपीएस की ट्रांसपोर्ट व्यवस्था और स्कूल द्वारा बच्चों की सुरक्षा के लिए अपनाए जा रहे नवाचार जैसे जीपीएस, ईआरपी, सीसीटीवी कैमरा, पैनिक बटन आदि सुविधाओं की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि जेएसडब्ल्यूएस मैनेजमेंट बच्चों की सुरक्षा और सुविधाओं के लिए सतत प्रयासरत रहता है। इसमें ड्राइवर्स को प्रोत्साहन देना, लेडी गार्ड और हेल्पर्स की सतत ट्रेनिंग, टेक्नोलॉजी का ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल करना जैसी पहल शामिल है। डीएसपी ट्रैफिक श्री उमाकांत चौधरी ने शहर में स्कूल बसों के स्टॉप के लिए एक निश्चित पॉइंट बनाने के लिए जल्द ही सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में निर्णय लेने को कहा। साथ ही एआरटीओ श्री ह्रदेश यादव के सुझाव पर कनाडिया फ्लायओवर पर आए दिन होने वाली ट्रैफिक समस्या के निराकरण के लिए स्कूलों में ट्रैफिक वार्डन नियुक्त करने पर सहमति जताई। श्री चौधरी ने कहा कि स्कूल वार्डन के साथ ट्रैफिक पुलिस का एक जवान निजी स्कूल के ट्रैफिक वार्डन के साथ मौजूद रहेंगे, जो ट्रैफिक का सुचारू संचालन सुनिश्चित करेंगे। इस पहल को जल्द ही अन्य स्कूलों के साथ साझा किया जाएगा।