अति गम्भीर कुपोषित बच्चो को सुपोषित करने का अभियान शुरू,कार्यकर्ताओ को दिया प्रशिक्षण

महू।जिले भर में अति गम्भीर कुपोषित बच्चो के प्रबंधन हेतु अभियान चलाया जा रहा है।शुक्रवार को महिला एव बाल विकास विभाग जिला इन्दौर के डाॅ अम्बेडकर नगर महू के एकीकृत बाल विकास  परियोजना महू ग्रामीण 1 अन्तर्गत सेक्टर सिमरोल,चोरल एव  हरसोला के साथ ही महुगांव में आगनवाडी कार्यकर्ताओं और एएनएम को अति कुपोषित बच्चो(शीसेम)के प्रबंध सम्बंधी अभियान का   प्रशिक्षण दिया गया। परियोजना अधिकारी सुशिल कुमार चक्रवर्ती ने बताया कि शीसेम अभियान समुदाय आधारित अति गंभीर कुपोषित बच्चों के प्रंबधन के लिए स्वास्थ्य विभाग और महिला बाल विकास के सहयोग से चलाया जायेगा।सबसे पहले एएनएम बच्चों की भूख की जांच करे चिन्हाकित करेगी। कुपोषित बच्चों को एनआरसी या समुदाय में रहकर ठीक किया जा सकता है। समुदाय आधारित प्रबंधन के दौरान स्वास्थ्य विभाग द्वारा तीन दिन तक अभियान चलाकर कुपोषित बच्चों को सुपोषित किया जाना है। पूर्व में कुपोषित बच्चों के संबध में लबाई के अनुसार वजन कम होने की स्थिति में बच्चे को कुपोषित माना जाता था। 10 फरवरी से 20 फरवरी तक आगनवाडी कार्यकर्ता कुपोषित बच्चों को चिहिन्त करेगी इसके बाद उन्हें सुपोषित करने का अभियान चलाया जाएगा। प्रशिक्षण के दौरान परियोजना अधिकारी श्री सुशील कुमार चक्रवर्ती, सरपच दिनेश सिलावाडिया, सेक्टर पर्यवेक्षक अर्जिता यादव, रजनी खण्डेलवाल,सीमा बुले ,माया उपाध्याय,आषा ठाकुर एव स्वास्थ्य विभाग से अशोक बंशीवाल  राजेश यादव, जयप्रकाश पटेल, यमन यादव ब्लाक समन्वयक एव बंशी मीणा परियोजना सहायक सहित सभी कार्यकर्ताएं व् हितग्राही महिलाएं मौजूद थी।