5 लाख की कीमत का पिकअप वाहन 72 घंटे में पुलिस ने पकड़ी रतलाम एक जंगल में पिकअप छोड़कर भाग गए बदमाश

आशीष यादव, धार 

पुलिस को कैमरे की मदद से 5 लाख की कीमत का पिकअप वाहन 72 घंटे के अथक प्रयास के बाद रतलाम जिले से कचनारा जंगल से पहाड़ो के पीछे सुनसान इलाके में मिला है। अमझेरा पुलिस टीम वाहन चोरी होने के बाद से लगातार सर्चिंग कर रही थी। इसके चलते 72 घंटे में ही पुलिस को सफलता मिल गई।


अमझेरा थाना प्रभारी जयपाल बिल्लोरे ने बताया 8 अक्टूबर की रात अस्पताल चौराहा के समीप ईदरिस यूनस खान का पिकअप क्रमांक एमपी-11-जी-1530 रात में अज्ञात बदमाशों द्वारा चोरी कर ले गए थे। इसकी सूचना मिलने बाद अगले दिन सुबह से ही टीम बनाकर सर्चिंग शुरू कर दी गई। टीम द्वारा सबसे पहले मागोद ओर बादेड़ी में लगे कैमरों की छानबीन की। इसमें पता चला कि पिकअप को बदमाश बदनावर की तरफ ले गए है। 


इसी से पुलिस को लिंक मिलना शुरू हुई। यहीं से लिंक जुड़ना शुरू हो गई। आगे कानवन टोल टैक्स पर वाहन क्रॉस करता वीडियो भी पुलिस को मिला। इस पर तत्काल टीम आगे बढ़ी। इस बीच बदमाशों को पुलिस के पीछा करने की भनक लग गई। जिसके चलते बदमाशों ने रतलाम के समीप कचनारा जंगल के पहाड़ो के पीछे सुनसान इलाके में पिकअप छोड़कर भाग गए। 


वाहन जब्त करने के बाद पुलिस ने बदमाशों का पीछा भी किया। लेकिन अंधेरा होने का फायदा उठाते हुए बदमाश भाग गए। पुलिस ने मंगलवार को प्रेस वार्ता लेकर मामले का खुलासा किया। अमझेरा टीआई बिल्लोरे ने बताया बदमाशों की तलाश जारी है। शीघ्र ही सफलता मिलेगी। इस सफलता में राजेन्द्र सिगोड़, रामगोपाल बैरागी, कैलाश कटारे आदि का विशेष योगदान रहा। 


हाइवे पर पुलिस ने लगाया सूचना बोर्ड – मंगलवार को अमझेरा पुलिस ने इंदौर-अहमदाबाद राष्ट्रीय राजमार्ग पर सूचना एवं सावधानी के बोर्ड लगाया है। इस बोर्ड पर लिखा गया है कि रात्रि में सुनसान इलाके में अगर किसी भी वाहन का पंचर हो जाए तो तत्काल डायल 100 या पुलिस को सूचना दे। जिससे किसी प्रकार घटना न हो। यह बोर्ड खरेली-मांगोद के बीच लगाया गया है। 



टिप्पणियाँ
Popular posts
पति ने उठाया खौफनाक कदम: धारदार हथियार से पत्नी की हत्या कर किया सुसाइड, जांच में जुटी पुलिस
चित्र
त्योहारों के मद्देनजर एसडीएम का चंद्रशेखर आजाद नगर में हुआ दौरा, झोलाछाप डॉक्टरों पर गिरी गाज
चित्र
कर्मसत्ता किसी को नहीं छोड़ती चाहे राजा हो या रंक --प्रिय लक्ष्णा श्री जी म सा
चित्र
मॉम्स ने बताए सर्दी से बचाव के तरीके
चित्र
ठेकेदार की लापरवाही भुगत रहे ग्रमीण, यह कैसा विकास ? ग्रामीणों को हर रोज करनी पड़ती है नाली की साफ सफाई जिम्मेदार सोए कुम्भकर्ण की नींद पानी की निकासी की व्यवस्था नहीं सड़क पर कीचड़ से निकलना तक मुश्किल गांव की सूरत बनाना तो दूर , जगह जगह पसरी गंदगी
चित्र