चंद्रशेखर आज़ाद नगर की 27 करोड़ की पेयजल योजना चढ़ी भ्र्ष्टाचार की भेंट

 यशवंत जैन 



 कम्पनी पी सी स्नेहल प्रा ली  द्वारा क्या जा रहा कार्य 

कम्पनी के ठेकेदार भरत पटेल और क़्वालिटी कंट्रोलर टाटा कन्स्टेसी के मनोज राउत की मिली भगत से करोड़ो का घोटाला

योजना को पांच वर्ष बीतने पर भी घरो में पानी नही 

घटिया सड़क निर्माण, सभी वार्डो में वार्डो में बिछाई पाईप लाइनों में रेडयूशर डाल कर बड़े पाइप की जगह छोटे पाइप जॉइंट कर किया भ्र्ष्टाचार

ठेकेरदार ने नलजल योजना में बिछाई पाईपलाइन में भी कम गेज के पाईप लगाकर की लाखों की कमाई

चंद्रशेखर आज़ाद नगर :- चंद्रशेखर आज़ाद नगर में नलजल योजना का प्रोजेक्ट सन 2017 से शुरू होकर 2022 तक कार्य अधूरा पड़ा है विगत पांच वर्ष में कम्पनी व ठेकेरदार ने सात बार अभी तक कार्य मे रुकावट का कारण बता कर जमकर भ्र्ष्टाचार किया गया है । मध्यप्रदेश में इसी कम्पनी के अलावा अन्य कम्पनी के कार्य पूर्ण होकर जनता को पानी मिलना शुरू हो गया परन्तु चंद्रशेखर आजादनगर की जनता आज भी नलजल योजना के फिल्टर पानी से अछुती है।

कम्पनी के एम्प्लोयी एवं ठेकेदार भरत पटेल ने इन पांच वर्षों में नलजल योजना की लाइन बिछाने से लेकर फिल्टर एवं पानी की टँकी में उपयोग की जाने वाली सामग्री में करोड़ो का भ्र्ष्टाचार किया है  यही नही नगर में पाइपलाइन बिछाने के लिए सड़क के किनारे आरसीसी सड़क को खोद कर पाइपलाइन एक से डेढ़ फुट पर डाली गई और सड़क रिपेयर का घटिया काम टाटा कन्सल्टेंसी के क़्वालिटी कंट्रोलर मनोज राउत ने वार्ड 14 बस स्टैंड से वार्ड 05 कन्याशाला के सामने ओर नगर की अन्य सड़क को घटिया आरसीसी के माल से बनाया है जो जगह जगह गड्ढे से भरी पड़ी है और क़्वालिटी कंट्रोलर मनोज राउत उस दौरान साइट पर उपस्तिथ नही रहकर मजदुरो से काम करवाता रहा जब मीडिया ने मनोज राउत से सवाल किया कि आपके द्वारा सड़क रिपेयर में घटिया माल उपयोग किया गया है तो इस पर कुछ भी जवाब नही दे पाया और सफाई देने लगा कि काम क़्वालिटी से किया गया है जबकि मोके पर बनी सड़क इस घटिया निर्माण का खुला उदाहरण दे रही है बस स्टैंड पर बनी सड़क पर घटिया निर्माण से बनी सड़क पर बड़े बड़े गड्ढे साफ दिखाई दे रहे है । पीसी स्नेहल कम्पनी के ठेकेदार भरत पटेल भी इस पूरे मामले में जिम्मेदार है इनदोनो की मनमानी से चंद्रशेखर आजादनगर की पेयजल योजना में इनके द्वारा करोड़ो का भ्र्ष्टाचार आज आज़ाद नगर में 5 पांच वर्ष बीतने के बाद भी जनता की पानी नही मिल पाया है ओर कागजो पर हाइड्रो टेस्ट कर लाखो रुपये के बिल भी निकाल चुके है बिना टेस्टिंग के आज पेयजल योजना का लाभ जनता को नही मिलना 27 करोड़ का सरकार को चुना लगाने की बात है । 







टिप्पणियाँ
Popular posts
पति ने उठाया खौफनाक कदम: धारदार हथियार से पत्नी की हत्या कर किया सुसाइड, जांच में जुटी पुलिस
चित्र
त्योहारों के मद्देनजर एसडीएम का चंद्रशेखर आजाद नगर में हुआ दौरा, झोलाछाप डॉक्टरों पर गिरी गाज
चित्र
कर्मसत्ता किसी को नहीं छोड़ती चाहे राजा हो या रंक --प्रिय लक्ष्णा श्री जी म सा
चित्र
मॉम्स ने बताए सर्दी से बचाव के तरीके
चित्र
ठेकेदार की लापरवाही भुगत रहे ग्रमीण, यह कैसा विकास ? ग्रामीणों को हर रोज करनी पड़ती है नाली की साफ सफाई जिम्मेदार सोए कुम्भकर्ण की नींद पानी की निकासी की व्यवस्था नहीं सड़क पर कीचड़ से निकलना तक मुश्किल गांव की सूरत बनाना तो दूर , जगह जगह पसरी गंदगी
चित्र