जयस व अन्य आदिवासी संगठनों ने दिया कलेक्टर को ज्ञापन, उठाई विभिन्न पंचायतों की समस्याएं

 इंदौर से आकाश कोहली की रिपोर्ट 

आदिवासी संगठनों ने आज इंदौर कलेक्टर श्री मनीष सिंह से मिलकर उन्हें ज्ञापन दिया और बिंदु बार अलग-अलग पंचायतों में आदिवासी समाज को आ रही समस्याओं के बारे में अवगत कराया उप समस्याओं के जल्द से जल्द हल करने कादिया कलेक्टर महोदय ने आश्वासन इसी बारे में ये ज्ञापन दिया गया: ~



        श्रीमान कलेक्टर महोदय,

        जिला इंदौर मध्य प्रदेश ।


द्वारा:- नायब तहसीलदार महोदय टप्पा उप तहसील मानपुर।


विषय:- विभिन्न ग्राम पंचायतों के ग्रामीणजन, आदिवासियों और किसानों की समस्याओं का समाधान करने बाबत।


 महोदय,


 उपरोक्त विषय अंतर्गत निवेदन है कि हम सभी ग्रामीण जन किसान आदिवासी अलग-अलग ग्राम पंचायतों से आपके समक्ष निम्नलिखित बिंदुओं पर समाधान चाहते है

 1. ग्राम पंचायत यशवंत नगर में स्थित आदिम जाति सेवा सहकारी संस्था मैं छोटे किसानों को खाद नहीं दिया जा रहा है और किसानों के साथ में भेदभाव किया जा रहा है बड़े किसानों को रात में ही शाम में ही ट्रैक्टर ट्राली पिकअप में भर कर एक ही दिन में खाद दे दिया जाता है जबकि छोटे व मझोले किसानों को नगद में नहीं दिया जा रहा है और यह बोला जा रहा है कि खाद खत्म हो गया जबकि अभी तक कई बार गाड़ियां भरकर आया तुरंत इस पर हाल ही में माननीय मुख्यमंत्री आदेशानुसार जांच कर संबंधित कर्मचारियों के ऊपर पर कार्रवाई की जानी चाहिए ।


2. ग्राम सीतापाठ में आदिवासी सामुदायिक भवन के पास में शासकीय भूमि पर विष्णु चौधरी नामक व्यक्ति द्वारा अवैध कब्जा किया जा रहा है जिसकी f.i.r. डोंगरगांव चौकी बडगोंडा थाने में दर्ज करवाई गई है और स्थानीय समाज जन द्वारा कई बार नायब तहसीलदार और एसडीएम महोदय को घटना की जानकारी दी है लेकिन राजनीतिक रसूख रखने वाले चौधरी के ऊपर अभी तक कार्यवाही नहीं की गई है जो कि निंदनीय है तत्काल एट्रोसिटी एक्ट में कार्रवाई की जानी चाहिए।


3.ग्राम गड़बड़ी में 4 से 5 साल पहले शमशान बनाने की मांग की जाती रही है लेकिन अभी तक भी जिम्मेदारों ने इस ओर ध्यान नहीं दिया है दूसरी ओर डालिया मऊ और सेजगढ़ में शमशान का कार्य आधा अधूरा ही छोड़ दिया गया है दिक्कत का सामना करना पड़ता है इस विषय पर गंभीरता से ध्यान दिया जाना चाहिए।


4.प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के अंतर्गत मिलने वाली राशि 120000 से बढ़ाकर ढाई लाख की जानी चाहिए क्योंकि सरिया सीमेंट रेती गिट्टी बेलदार और मिस्त्री के भाव ग्रामीण व शहरी देखकर कम नहीं किए जाते और योजना अंतर्गत प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना और शहरी आवास योजना में काफी अंतर है जो कि मानव मानव में भेद भाव को दर्शाता है इसलिए योजना अंतर्गत राशि एक समान दी जानी चाहिए।


5.ग्राम पंचायत छापरिया के अंतर्गत शासकीय उचित मूल्य की दुकान के लिए भवन स्वीकृत कर बनाया जाना चाहिए ताकि गरीबों के राशन पर किसी प्रकार का कोई डाका नहीं डाला जा सके।


6.ग्राम पंचायत कांकरिया के अंतर्गत शमशान की बाउंड्री वॉल का निर्माण किया जा रहा है जिसमें पूर्णतः पारदर्शिता होनी चाहिए और स्वीकृत हुई जमीन पर नक्शा अनुसार निर्माण कार्य किया जाना चाहिए ।


7. मानपुर में भी कई व्यापारी शासकीय मूल्य से अधिक में यूरिया खाद बेच रहे हैं बिल मांगने पर कच्चा बिल बनाया जाता है एक तरफ शासकीय उचित मूल्य की दुकानों पर खाद खत्म हो गया है वहीं दूसरी ओर व्यापारियों के पास में गोदामों में खाद भरा पड़ा है जिसको शासकीय मूल्य से अधिक में बेचकर किसानों को लूटा जा रहा है और खाद की कालाबाजारी की जा रही है इनकी भी जांच कर उचित कार्रवाई की जानी चाहिए।


8.ग्रामपंचायत नांदेड़ के ईश्वर पिता रतन के कब्जे वाली जमीन पर गैर आदिवासियों द्वारा जबरन कब्जा किया जा रहा है जबकि ईश्वर पिता रतन कई वर्षों से खेती किसानी कर जीवन यापन कर रहे हैं। इस मामले की भी गंभीरता से जांच की जानी चाहिए और गरीब आदिवासी किसान को न्याय दिया जाना चाहिए।


महोदय उपरोक्त बिंदु के संदर्भ में पहले भी कई बार आवेदन निवेदन किया जा चुका है गंभीरता से संबंधित विभाग अधिकारियों को निर्देशित कर निम्नलिखित समस्याओं का निराकरण जल्द से जल्द किया जाए ताकि ग्रामीण जनों को आदिवासियों को किसानों को राहत मिल सके समय अनुसार अगर कार्रवाई नहीं की जाती है आदिवासी समाज संगठन संविधान के दायरे में रहकर अनिश्चितकालीन धरने पर बैठने को मजबूर होंगे निम्नलिखित बिंदुओं पर क्या क्या कार्रवाई होना है कार्रवाई होने पर समय अनुसार हमें अवगत कराने की भी कृपा करेंगे।


            प्रार्थी 

ग्रामीणजन/ किसान/ आदिवासी

जयस प्रभारी मनोज वास्केल अध्यक्ष भीम सिंह गिरवाल उपाध्यक्ष शेरसिंह परमार कोषाध्यक्ष अशोक कटारे, 

मीडिया प्रभारी श्रवण भाबर,

प्रकाश बारूड भारतीय ट्राईबल पार्टी इंदौर ग्रामीण जिला अध्यक्ष,

अर्जुन सिंगारे, राकेश परमार,

शांतिलाल वास्केल 

धर्मेंद्र दशाना, योगेश भाबर मानपुर जयस, कृष्णा राठौर, रोहित चौहान, अजय, दुर्गेश चौहान, आनंद गिरवाल, मनोज सिंगारे, जितेन निनामा, गोविंद गांवड, बहादुर गांवड, 

लखन निनामा, दिनेश बारिया, अजय निनामा, धीरज राठौर, सुनील गीरवाल, बाबू, अजय, विकास कटारे ।

ग्राम पंचायत सीतापाठ।



 प्रतिलिपि:-

1.श्रीमान अनुविभागीय अधिकारी अंबेडकर नगर महू।

2.श्रीमान तहसीलदार महोदय डॉक्टर अंबेडकर नगर महू।

3.कृषि विस्तार अधिकारी डॉक्टर अंबेडकर नगर महू ।

4.संबंधित ग्राम पंचायत के पटवारी

टिप्पणियाँ
Popular posts
धार में आयोजित होगा देश का प्रतिष्ठित साहित्योत्सव नर्मदा साहित्य मंथन का द्वितीय सौपान भोजपर्व!
चित्र
स्वतंत्रता के अमृत महोत्सव के अवसर पर समर्थ पार्क में निवासरत पूर्व सैनिकों का किया गया सम्मान
चित्र
त्योहारों के मद्देनजर एसडीएम का चंद्रशेखर आजाद नगर में हुआ दौरा, झोलाछाप डॉक्टरों पर गिरी गाज
चित्र
Workshop under STRIDE project for e- development of BRAUSS campus held
चित्र
राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 का क्रियान्वयन संभावना और चुनौती पर अंबेडकर राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 का क्रियान्वयन संभावना और चुनौती पर अंबेडकर राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 का क्रियान्वयन संभावना और चुनौती पर अंबेडकर विश्वविद्यालय में राष्ट्रीय संगोष्ठी में राष्ट्रीय संगोष्ठी में राष्ट्रीय संगोष्ठी
चित्र