जिला पंचायत सभापतियों के लिए मगलवार को हुआ निर्वाचन, 4 समतियों पर कांग्रेस का कब्जा भाजपा के खाते में दो ही समितियां आई

आशीष यादव, धार 

जिला पंचायत सभा कक्ष में समितियों के सभापति चुनने के लिए मंगलवार को निर्वाचन प्रक्रिया हुई। इसमें कांग्रेस ने चार समितिया जीती जबकि भाजपा के खाते में दो ही समितियां आई। सभी प्रमुख समितियों पर कांग्रेस समर्थित जिपं सदस्य सभापति बने है। जबकि जैव विविधता और महिला एवं बाल विकास विभाग से संतोष करना पड़ा है। वहीं जिपं अध्यक्ष सरदार मेड़ा के पास सामान्य प्रशासन व जिपं उपाध्यक्ष संगीता पटेल के पास शिक्षा समिति रहेगी।


गौरतलब है कि जिला पंचायत सदस्य चुनाव में भाजपा और कांग्रेस को बराबर सदस्यों का बहुमत मिलने के कारण सभापति चुनाव में भी कशमकश देखने को मिली थी। इस कारण समिति सदस्यों का फैसला भी गोटी से करना पड़ा। इनमें चार समितियों में कांग्रेस के पास बहुमत आया और भाजपा को दो समिति में सदस्य संख्या ठीक रही। ऐसे में कांग्रेस के पास 4 और भाजपा के पास 2 समितियां गई है।


जिपं समिति चुनाव में कांग्रेस की स्थिति मजबूत देखने को मिली है। पर्चियों के कारण हुए फायदे से कांग्रेस के पक्ष में चार समितियां आई है। इनमें संचार तथा संकर्म निर्माण समिति, कृषि समिति, सहकारिता व वन समिति में कांग्रेस समर्थित अध्यक्ष यानी सभापति निर्वाचित हुए।


– सरदारसिंह मेड़ा : सामान्य प्रशासन समिति

– संगीता हेमसिंह पटेल : शिक्षा समिति

– शिखा निर्देश सोनगरा : संचार तथा संकर्म निर्माण समिति

– अशोक डावर : कृषि समिति

– कमला धार्वे : सहकारिता और उद्योग समिति

– निर्मला सुनील चौगड़ : वन समिति

– गणेश जर्मन : जैव विविधता प्रबंधन समिति

– टीना कुलदीपसिंह पीपलीपाड़ा : स्वास्थ्य महिला एवं बाल विकास 




टिप्पणियाँ
Popular posts
पति ने उठाया खौफनाक कदम: धारदार हथियार से पत्नी की हत्या कर किया सुसाइड, जांच में जुटी पुलिस
चित्र
त्योहारों के मद्देनजर एसडीएम का चंद्रशेखर आजाद नगर में हुआ दौरा, झोलाछाप डॉक्टरों पर गिरी गाज
चित्र
कर्मसत्ता किसी को नहीं छोड़ती चाहे राजा हो या रंक --प्रिय लक्ष्णा श्री जी म सा
चित्र
मॉम्स ने बताए सर्दी से बचाव के तरीके
चित्र
ठेकेदार की लापरवाही भुगत रहे ग्रमीण, यह कैसा विकास ? ग्रामीणों को हर रोज करनी पड़ती है नाली की साफ सफाई जिम्मेदार सोए कुम्भकर्ण की नींद पानी की निकासी की व्यवस्था नहीं सड़क पर कीचड़ से निकलना तक मुश्किल गांव की सूरत बनाना तो दूर , जगह जगह पसरी गंदगी
चित्र