मामला धार नगरपालिका का....., अपने बयान पर कायम आवेदिका, एसडीएम के सामने कहा मुझसे पैसा नहीं लिया कर्मचारी ने

आशीष यादव, धार 

नगरपालिका में एक माह में दो मर्तबा अलग-अलग शाखाओं में पैसे लेने की शिकायतों के बाद एसडीएम पहुंची व्यवस्थाओं को देखने 

हर शाखा में लोक सेवा के तहत नि:शुल्क मिलने वाली सेवाओं की सूची लगेगी, नामांतरण शाखा में लगेगा शुल्क ब्यौरा 

प्रत्येक शाखा में सीसी टीवी कैमरे लगाने के निर्देश, समग्र आईडी में कार्यरत धर्मेन्द्र राठौर की सेवा समाप्त करने के दिए निर्देश ।

कुछ समय पूर्व राठौर के खिलाफ पैसा लेने की मिली थी शिकायत, आवेदकों ने राठौर के समर्थन में दिए थे बयान, दबाव में हटाया 

नगरपालिका में अब जन सहुलियत के लिए प्रत्येक शुल्क वाले कार्यों की शुल्क सूची फ्लैक्स के माध्यम से प्रदर्शित रहेगी। इसी के साथ विभिन्न प्रकार के कार्यों में नागरिकों को लगने वाले दस्तावेज की जानकारी भी फ्लैक्स के माध्यम से प्रदर्शित रहेगी। इस तरह के निर्देश एसडीएम दीपाश्री गुप्ता ने शुक्रवार को नगरपालिका की अलग-अलग शाखाओं में निरीक्षण करने के दौरान दिए है। दरअसल पिछले एक महीने में नगरपालिका की दो शाखाओं में कर्मचारियों द्वारा लोगों से कार्य के बदले रिश्वत लेने को लेकर आरोप-प्रत्यारोप हुए थे। इस तरह की स्थितियां आने के बाद एसडीएम ने निरीक्षण किया और कई सुधारात्मक निर्देश दिए है। 

सीसी टीवी कैमरे लगाने के लिए कहा 

एसडीएम ने नगरपालिका कार्यालय अधीक्षक को प्रत्येक शाखा में सीसी टीवी कैमरे लगाने के लिए कहा है। एसडीएम ने कहा कि सुरक्षा और निगरानी दोनों के महत्व से कैमरे आवश्यक है। इससे अप्रिय स्थितियों और शिकायतों के दौरान जांच में पारदर्शिता रहेगी। उल्लेखनीय है कि दो दिन पूर्व जन्म-मृत्यु प्रमाण पत्र शाखा में पदस्थ कर्मी कमलेश पर इंडोरामा निवासी आवेदिका से जन्म-मृत्यु प्रमाण पत्र में सुधार के नाम पर रिश्वत लेने की शिकायत सामने आई थी। एसडीएम ने आवेदिका से बात की है। आवेदिका ने एक बार फिर से अपने बयान पर कायम रहते हुए कर्मचारी को शपथ पत्र के लिए पैसे देने की बात कही है, लेकिन यह भी कहा कि कर्मचारी ने पैसा लेने से इंकार करते हुए लौटा दिया था। महिला के बयान के बाद भी एसडीएम ने कर्मचारी कमलेश को चेतावनी दी है। वहीं शाखा में प्रमाण पत्र के लिए लगने वाले प्रत्येक दस्तावेज की जानकारी का फ्लैक्स लगाने के लिए कहा है। शुक्रवार को एसडीएम दीपाश्री गुप्ता नगरपालिका पहुंची थी। इस दौरान उन्होंने जन्म-मृत्यु प्रमाण पत्र शाखा, नामांतरण एवं समग्र आईडी शाखा को देखा। 

3 शाखाओं को लेकर दिए निर्देश 

एसडीएम ने सबसे पहले उन शाखाओं की जानकारी ली जहां पर प्रतिदिन नगद के रूप में आय होती है। इसके बाद उन्होंने नामांतरण शाखा को लेकर भी निर्देश दिए है। इस शाखा में नामांतरण शुल्क की जानकारी लेकर कहीं भी कोई सूचना पत्रक नहीं लगा था। एसडीएम ने कहा कि नामांतरण के लिए फार्म की कीमत से लेकर लगने वाले सभी प्रकार के शुल्क एवं कुल शुल्क सहित तमाम प्रकार की जानकारी बोर्ड पर अंकित की जाए। इसी के साथ लगने वाले दस्तावेज और कार्य पूर्ण होने की समयावधि सहित तमाम तरह की जानकारी सार्वजनिक रखे। इससे आम लोगों को सुविधा होगी। 

समग्र आईडी शाखा भी पहुंची 

नगरपालिका में कर्मियों पर रिश्वत लेने का पहला आरोप समग्र आईडी शाखा के कर्मी पर लगा था। इस मामले में जांच के पश्चात कर्मी धर्मेन्द्र राठौर को क्लीनचिट मिल गई थी। इसके बावजूद पूर्व में भी उनके खिलाफ लगातार मिलने वाली शिकायतों को संज्ञान रखते हुए उन्हें सेवा से पृथक किया जा रहा है। धर्मेन्द्र दैनिक वेतन भोगी कर्मचारी थे और पिछले कई सालों से अपने परिवार का पोषण नगरपालिका में नौकरी करके कर रहे थे। इस मामले में धर्मेन्द्र को सूचना पत्र जारी किया जा रहा है। इस बात की तस्दीक दीपाश्री गुप्ता ने की है। शुक्रवार को उन्होंने समग्र आईडी कार्य कक्ष को देखा है। यहां पर भी उन्होंने दस्तावेजों की प्रदर्शित करने के निर्देश दिए है। 

सुझाव पर एक्शन, चस्पा किए पत्रक 

एसडीएम के दौरे के चंद घंटे के भीतर नगरपालिका में लोक कार्यों से जुड़े कक्षों में दस्तावेजों सहित अन्य प्रकार की जानकारियों के कागज के पत्रक चस्पा किए गए है। आगामी दिनों में यहां पर फ्लैक्स के माध्यम से विस्तृत जानकारियां रहेगी। 



टिप्पणियाँ
Popular posts
स्टेयरिंग फेल होने से घर में घुसी पिकअप, ड्राइवर की मौके पर ही मौत तीन घायल, - घटना के बाद ग्रामीणों ने स्टेट हाईवे पर लगाया जाम, वाहनों की लंबी कतार
चित्र
कोठीदा का मिट्टी वाला बांध हुआ लिकेज, एक दर्जन से अधीक ग्राम के लोग घबराए
चित्र
तबाही का मंझर आंखों के सामने~~~ 2 दिन से चल रहा डेम में लीकेज सही करने का काम, बाँध को खाली करने की जा खुदाई में आ रही दिक्‍कत दोनों ओर बनाई जा रही चेनल
चित्र
दोषियों पर कारवाई क्यो नही:, वीडियो से मिली डेम की लगी जानकारी जिम्मेदार अधिकारी को पानी रिसने की नही थी जानकारी, जल संसाधन मंत्री तुलसी सिलावट ने उद्योग मंत्री दत्तीगांव के साथ किया मुआयना
चित्र
बाग में पटवारी की मिलीभगत से दूसरे जमीन घोटाले में भी केस दर्ज
चित्र