मामला हॉकर्स झोन का...... 169 दुकानों का निर्माण, आवंटन कर दिया नंबरों से 184 को, रूक-रूक कर हो रहा है काम, अभी दो महीने दुकानें नहीं मिलेगी

आशीष यादव धार। 


दुकान निर्माण पूर्ण हो जाए तो निकाय को बकाया वसूली से मिलेंगे 1 करोड़

शहर के सबसे बड़े स्ट्रीट वेंडर्स झोन निर्माण में बड़ी गलती सामने आई है। नगरपालिका ने 184 दुकानों का मार्केट निर्माण करने के साथ 184 लोगों को दुकानों का नंबर से आवंटन भी कर दिया है। धरातल पर सिर्फ 169 दुकानें ही आकार ले रही है। करीब 15 दुकानें अभी अस्तित्व में नहीं है। वहीं झोन में अब 15 दुकानों के लिए भूमि की जगह भी नहीं बची है। इस तरह का मामला विधायक प्रतिनिधि शिव पटेल द्वारा संज्ञान में लाया गया है। अब नगरपालिका के अधिकारी झोन के दूसरी और के हिस्से में दुकानें पूर्ण करने की बात कह रहे हैं। सवाल यह है कि दुकानें जब 169 थी तो 184 लोगों को आवंटन कैसे किया गया।

पिछली दीपावली पर होना था मार्केट पूर्ण

स्ट्रीट वेंडर्स झोन निर्माण का काम पूरा होने के बाद आदर्श सड़क एवं आसपास के फुटपॉथ पर बैठे छोटे दुकानदारों को यहां पर शिफ्ट कर दिया जाएगा। इससे सड़क अतिक्रमण मुक्त हो जाएगी। इस मार्केट का काम पिछली दीपावली यानि 5 महीने पहले पूर्ण करने का दावा किया गया था। 5 माह बीतने के बाद भी 100 करीब दुकानों पर ही चद्दर की छत दीवारें लग पाई है। अभी भी 50-60 दुकानों पर पतरे की दर्रो-दीवार बनाना बाकी है। सबसे बड़ा काम शर्टर लगाने का है। ऐसी परिस्थिति में आने वाले दो-तीन महीनों में भी इसका काम पूर्ण होने की उम्मीद नहीं दिख रही है। सूत्रों की माने तो कुछ अधिकारी चाहते हैं कि 2023 के आगामी नगरपालिका चुनाव तक इस काम को धीमी गति से चलाते हुए अपूर्ण रखा जाए। दरअसल इस तरह की कवायद दुकान आवंटन पॉलिसी को प्रभावित करने के लिए की जा रही है।

अग्रिम लेकर शुरु किया था काम

नगरपालिका ने जब यह मार्केट का प्लान बनाया था। उस दौरान वित्तीय हालत ठीक थी। कोरोना काल में वित्तीय हालत बिगड़ने के बाद स्ट्रीट वेंडर्स झोन का काम प्रभावित हुआ है। इसको पूर्ण करने के लिए लॉटरी सिस्टम से दुकानें नंबरों के आधार पर 184 लोगों को स्वीकृत की गई। इनसे पहली किश्त के तौर पर 20-20 हजार यानि करीब 40 लाख रुपए लिए गए। इसके बाद कुछ काम कराया और दूसरी किश्त मांगी गई। इस दौरान 100 करीब लोगों ने दूसरी किश्त समय पर जमा करवाई। इसके बाद जमा करवाने गए लोगों से सीएमओ का आदेश नहीं है, कहकर किश्तें नहीं ली जा रही है। दो मर्तबा में लोगों से करीब 50 लाख रुपए जुटाए गए। इसके बावजूद निर्माण कार्य आज भी अपूर्ण है।

फ्रंट पर दे सकते हैं 15 दुकानें

स्ट्रीट वेंडर्स झोन मोहन टॉकिज पर मोदी पंप के सामने लिंक रोड पर बसाया जा रहा है। 169 पतरे दुकानों के निर्माण से स्थान पूर्ण हो गया है। ऐसी स्थिति में सेहता हॉस्पिटल के सामने अतिक्रमण करके गुमटी संचालित करने वाले लोगों को हटाकर शेष 15 दुकानें यहां बनाई जा सकती है।

फिलहाल काम बंद है

स्ट्रीट वेंडर्स झोन निर्माण का काम धरमपुरी की बसारत कंस्ट्रक्शन कंपनी के पास में है। कंपनी का लाखों रुपए नगरपालिका के ऊपर विभिन्न निर्माण कार्यों का बकाया है। निकाय ने स्ट्रीट वेंडर्स झोन के नाम से अग्रिम उगाए गए 50 लाख रुपए में आंशिक भुगतान किया है। जिसके बाद काम शुरु हुआ, लेकिन शेष पैसा ना मिलने के कारण काम फिलहाल बंद है।

बॉक्स-1

48 ठेकेदारों को काम ना शुरु करने पर दिया नोटिस

स्ट्रीट वेंडर्स झोन निर्माण का काम बंद पड़ा है। इधर नगरपालिका ने 40 करीब ठेकेदारों को कारण बताओं सूचना पत्र जारी कि है। दरअसल यह वह ठेकेदार है जिन्होंने 2020 में शहर में सीसी रोड नाली निर्माण से लेकर कई निर्माण कार्यों के लिए ठेके लिए हैं। इनमें से अनेकों लोगों ने अनुबंध भी कर लिए थे। इसके बावजूद नगरपालिका की वित्तीय हालातों को देखते हुए काम शुरु नहीं किया गया था। शहर के वार्डों के लंबित कामों को पूर्ण कराने के लिए इन्हें नोटिस जारी किया गया है। ठेकेदार इसके बाद भी यदि काम शुरु नहीं करते हैं तो पुन: टेंडर जारी किए जाएंगे। वहीं ठेकेदारों को ब्लैक लिस्टेड भी किया जा सकता है।


टिप्पणियाँ
Popular posts
*धरती माँ की प्यास बुझाने के लिए महु में होंगा हलमा*
चित्र
म.प्र. के गुना में हुए शिकार, शिकारियों द्वारा तीन पुलिसकर्मियों की हत्या & शिकारियों की पृष्ठभूमि का वरिष्ट पत्रकार अतुल गुप्ता द्वारा बहुत ही सटीक विश्लेषण
चित्र
तिरला पुलिस के 3 दिन के रिमांड पर भू कारोबारी भोला तिवारी, जमीन खरीदी में धोखाधड़ी के मामले में महिला की शिकायत पर दर्ज हुआ था प्रकरण
चित्र
प्रेशर से फीस मांग नहीं सकते,छात्रवृत्ति मिली आधी रोकस ने थमा दिए 1 करोड़ चुकाने के नोटिस, मुश्किल में 12 नर्सिंग कॉलेज के संचालक, कोविड काल में ट्रेनिग की राशि मांग
चित्र
अलीराजपुर जिले की स्थापना दिवस पर चंद्रशेखर आजाद नगर में गौरव रैली का आयोजन
चित्र