रजिस्ट्री करवाना होगा महंगा, अप्रैल से रजिस्ट्री में बढ़ोतरी का प्रस्ताव

 आशीष यादव, धार

केंद्रीय मूल्यांकन बोर्ड को पंजीयक विभाग ने भेजा शुल्क बढ़ोतरी का प्रस्ताव

६५ लोकेशन पर बढ़ोतरी का सीधा असर, जबकि २० लोकेशन पर शुल्क में होगी कमी 

जिलेभर में नए वित्तीय वर्ष 1 अप्रैल से रजिस्ट्री करवाना महंगा हो जाएगा। दरअसल जिला मूल्यांकन समिति की बैठक में शुल्क बढ़ोतरी का के लिए प्रस्ताव केंद्रीय मूल्यांकन बोर्ड भोपाल को भेजा गया है। बोर्ड की स्वीकृति से 1 अप्रैल से नए शुल्क लागू हो जाएंगे। इसके तहत प्रत्येक रजिस्ट्री पर ०.१७ प्रतिशत का शुल्क बढ़ेगा। लेकिन कुछ लोकेशन ऐसी है, जहां इसका असर काफी अधिक रहेगा। जिले की गाइडलाइन को लेकर सोमवार को कलेक्टोरेट में जिले की सभी पांच उप जिला मूल्यांकन समितियों के साथ एक बैठक हुई। इसमें इस प्रस्ताव पर सहमति बनी। 

गौरतलब है कि इसके पहले वर्ष २०१४-१५ में रजिस्ट्री शुल्क में ७-८ प्रतिशत की बढ़ोतरी की गई थी। इसके बाद से कोई बढ़ोतरी नहीं हो पाई थी। पांच साल बाद शुल्क बढ़ोतरी का प्रस्ताव रखा गया है। हालांकि इस बार राहत यह है कि ०.१७ प्रतिशत की ही बढ़ोतरी प्रस्तावित की गई है। इस कारण थोड़ी राहत जरूर मिलेगी। 

गाइडलाइन से अधिक पर रजिस्ट्री 

- धार शहर सहित जिले की कुछ लोकेशन ऐसी है, जहां सरकारी गाइडलाइन से कई गुना अधिक दर पर रजिस्ट्रियां करवाई जा रही थी। 

- इस कारण यहां पर रजिस्ट्री शुल्क को बढ़ा दिया गया है। जिले में ६५ लोकेशन ऐसी है, जहां गाइडलाइन से अधिक दर पर रजिस्ट्री हो रही थी। 

- इनमें केसूर में ८, पीथमपुर में १४, बगदून में १७, मंडलावदा में १८, तिरला में १९ व राजोद में १४ प्रतिशत अधिक दर पर रजिस्ट्री हो रही थी। इस कारण इन लोकेशन अब गाइडलाइन बढ़ा दी गई है। 

- वहीं धार शहर में भी महालक्ष्मी नगर, मालवा कुंज, पंचशील, दीनदयालपुरम, दौलत नगर व मालीवाड़ा में रजिस्ट्री भी गाइडलाइन से अधिक रेट पर हुई है। 

२० लोकेशन जहां दर कम होगी

वहीं जिले की २० लोकेशन ऐसी है, जहां पर रजिस्ट्री शुल्क नए वित्तीय वर्ष से रेट कम हो जाएंगे। ८ से १० प्रतिशत रजिस्ट्री शुल्क कम करने का प्रस्ताव है। इनमें धार की शास्त्री कॉलोनी, जबरन कॉलोनी व चिराखान गांव के अलावा बदनावर के पिटगारा, बटवाडिय़ाकलां व बावडिय़ा में भी रेट कम हो जाएंगे। इसी तरह सरदारपुर के आंबा, सियावट व करनावल में भी रजिस्ट्री शुल्क कम हो जाएगा। ऐसा इसलिए हो रहा है, क्योंकि इन लोकेशन पर बीते पांच वर्ष में एक भी रजिस्ट्री नहीं हुई है। 


लक्ष्य से अधिक राजस्व वसूली 

कोरोनाकाल के बावजूद इस बार रजिस्ट्रियों की संख्या में कमी नहीं आई है। यहीं कारण है कि इस बार राजस्व वसूली के लक्ष्य १५८ करोड़ पर १७० करोड़ की वसूली की जा चुकी है। अप्रैल अंत तक २० करोड़ और आने की संभावना है। वही पिछले वर्ष लक्ष्य १५० करोड़ थी वही १८३ करोड़ राजस्व प्राप्त हुआ।


केस 1 : 

शहर के महालक्ष्मी नगर एक वर्ष में कुल ४२ रजिस्ट्रियां हुई। इनमें से ३६ रजिस्ट्री कॉलोनी की गाइडलाइन से १८ प्रतिशत अधिक रेट पर हुई। यहां पर बीते एक वर्ष में जो रजिस्ट्री हुई वह ५६०० रुपए प्रति वर्ग मीटर के हिसाब से हुई। इस कारण इसे बढ़ाकर ६ हजार रुपए प्रति वर्ग मीटर प्रस्तावित कर दिया गया है। 


केस 2

इसी तरह पीथमपुर की छत्रछाया कॉलोनी में एक वर्ष में ३० रजिस्ट्री हुई। इनमें से २३ रजिस्ट्री अधिक दाम पर हुई। यहां भी गाइडलाइन से २२ प्रतिशत अधिक दाम पर रजिस्ट्रियां करवाई गई। यह रजिस्ट्रियां ७२०० रुपए प्रति वर्ग मीटर के हिसाब से हुआ है। इस कारण इस कॉलोनी में नए वित्तीय वर्ष से ७८०० रुपए प्रति वर्ग मीटर के हिसाब से रजिस्ट्रियां करवाई जा सकेगी। 


करवा सकते है रजिस्ट्री 

- अप्रैल से रजिस्ट्री शुल्क बढ़ाने का प्रस्ताव रखा गया है। इसे केंद्रीय मूल्यांकन बोर्ड भोपाल को भेज दिया गया है। ३१ मार्च तक लोग वर्तमान शुल्क के आधार पर रजिस्ट्रियां करवा सकते है। जिलेभर के पंजीयक विभाग अवकाश के दिन भी खुले रहेंगे~~ दीपक कुमार शर्मा, जिला पंजीयक धार 



टिप्पणियाँ
Popular posts
*धरती माँ की प्यास बुझाने के लिए महु में होंगा हलमा*
चित्र
तिरला पुलिस के 3 दिन के रिमांड पर भू कारोबारी भोला तिवारी, जमीन खरीदी में धोखाधड़ी के मामले में महिला की शिकायत पर दर्ज हुआ था प्रकरण
चित्र
प्रेशर से फीस मांग नहीं सकते,छात्रवृत्ति मिली आधी रोकस ने थमा दिए 1 करोड़ चुकाने के नोटिस, मुश्किल में 12 नर्सिंग कॉलेज के संचालक, कोविड काल में ट्रेनिग की राशि मांग
चित्र
अलीराजपुर जिले की स्थापना दिवस पर चंद्रशेखर आजाद नगर में गौरव रैली का आयोजन
चित्र
नगर परिषद के वार्ड 04, 11, 13,14, 06 में करोड़ो की लागत से बनने वाले सीसी व पहुच मार्ग का सांसद ,विधायक , नगर परिषद अध्यक्षा ने किया भूमि पूजन
चित्र