अधिकारियों की अनदेखी के चलते बिना परमिट बेलगाम दौड़ रही अलीराजपुर जिले में अवैध बसे ~ यशवंत जैन

 जिले में अधिकारियों की अनदेखी: -

बिना परमिट बेलगाम दौड़ रही अलीराजपुर जिले में अवैध बसे।

अलीराजपुर। अलीराजपु जिले के चांदपुर के समीप रविवार अल सुबह जो बस हादसे का शिकार हुई उसमें क्षमता से अधिक सवारी भरी थी कई लोग खड़े-खड़े सफर कर रहे थे दूसरी परिवहन विभाग हादसे के घंटों बाद भी न तो बस के परमिट का पता कर सका और ना ही बस मालिक का पुलिस ने विभिन्न धाराओं में प्रकरण तो दर्ज किया लेकिन नामजद नहीं सुबह मौके पर पहुंचने में प्रशासन ने जितनी तेजी दिखाई उतनी हादसे के जिम्मेदार ऊपर कार्यवाही करने में नजर नही आयी।

          ऐसा नहीं है कि बिना परमिट बसों के संचालन के खेल से अफसर अनजान है मध्य प्रदेश गुजरात के बीच संचालित एसी बसें जिला परिवहन कार्यालय के सामने से भी गुजर रही है इतना ही नहीं जिले के तीन प्रमुख थाने चांदपुर अलीराजपुर कोतवाली और नानपुर के सामने से भी ऐसी बसों की आवा जाही हो रही है। 

         सब कुछ जानकर भी अफसर हमेशा अनजान ही बने रहते हैं ऐसे वाहन अनफिट तो है ही इनमें ओवर लोडिंग भी की जा रही है यात्रियों की जान से खिलवाड़ के बाद अफसर कभी कभार कार्यवाही कर अपने कर्तव्यों से इतिश्री कर लेते है।

      मध्य प्रदेश गुजरात के बीच जिले के आदिवासी श्रमिकों की आवाजाही निरंतर बनी रहती है कई निजी यात्री बस बिना परमिट के ही दौड़ाई जा रही है क्योंकि परिवहन विभाग के पास इनका कोई रिकॉर्ड नहीं है इसलिए इनके फिटनेस आदि की भी कभी जांच नहीं की जाती है।

             ऐसी जानकारी प्राप्त हुई है कि दुर्घटनाग्रस्त बस चांदपुर बैरियर अलीराजपुर और चांदपुर थाने के सामने से दिन में अनेकों बार निकलती है, धड़ल्ले से यात्रियों से भरी अवैध बसों का परिवहन हो रहा है, सबका साथ सबका विकास की तर्ज पर जिले मे सेटिंग से चल रहा है, इन पर कार्यवाही ना होना समझ से परे, प्रशासन की भूमिका संदेह के घेरे मे दिखाई देती है।  

                   सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार उक्त वाहन के कागजात कंप्लीट नहीं है लेकिन इसकी जानकारी जिम्मेदार अधिकारियों को भी नहीं है कि कागज कंप्लीट है या नहीं बहुत गजब बात है।

               इतनी बड़ी घटना होने के बाद जानकारी देने के लिए संबंधित अधिकारी फोन उठाना भी उचित नहीं समझते। 

          इस संबंध में बड़ी मुश्किल से फोन उठाकर जिला परिवहन अधिकारी वीरेंद्र रावत ने बताया कि बस का ओनर गुजरात का है पिछले महीने का परमिट था इस महीने की जानकारी निकाल रहे हैं गुजरात की वेबसाइट नहीं चल रही है इसलिए परेशानी आ रही है।

            मामले में एसपी मनोज कुमार सिंह ने कहा कि सभी थानों को कहा है कि ऐसे वाहनों को सूचीबद्ध कर कार्यवाही करे, अवैध वाहन संचालित होने पर सख्त कार्रवाई करे।

                     हालांकि इस घटना के बाद कलेक्टर मनोज पुष्प ने घटना की जांच के आदेश दिए हैं जांच का जिम्मा अनुविभागीय अधिकारी अलीराजपुर लक्ष्मी गामड़ को सौंपा गया।

                कुछ दिन पहले ही कलेक्टर मनोज पुष्प ने आदैश दिऐ थे जिसमें नरेंद्र यादव चांदपुर नाका प्रभारी को बसो के फिटनेस परमिट टैक्स चेक करने का मगर आदैश का पालन नहीं हुआ नियम को ताक मे रख कर उपरी इंकम से सब गाड़िया चल रही है।जिसका नतीजा दुर्घटना के समय दिखता है।

             कांग्रेस जिला अध्य्क्ष महेश पटेल ने कहा कि अलीराजपुर जिले में आर टी ओ की निगरानी में पूरी तरह से पूरे जिले में बसे अवेध चल रही है।चाँदपुर बेरियर पर अवैध बसे, ट्रक, ट्राले गुजरात की ओर ओवर लोडिंग होकर जाते है

 न तो इनका परमिट चेक होता है, सिर्फ वसूली होती है,ओर गाड़िया अवैध निकाली जाती है।पूरे जिले में लाखों रुपये की अवैध वसूली हो रही है। दुर्घटना में पूरी तरह आर टी ओ जिम्मेदार है,इसे तत्काल सस्पेंड किया जाना चाहिए।

   बस दुर्घटना में 28 से अधिक लोग घायल हो गए हैं और 3 लोगों की मौत हो गई है इन तीन लोगों की मौत के जिम्मेदार कौन है और उन पर क्या कार्रवाई की जा रही है क्या बस मालिक और बस चालक पर कार्यवाही कर खानापूर्ति की जाएगी या जिम्मेदार आरटीओ, थाना प्रभारी थाना प्रभारी आलीराजपुर और चांदपुर आरटीओ बैरियर प्रभारी पर भी कोई एक्शन लिया जाएगा।