वेक्सिनेशन ओन व्हील के लिए जिला दंडाधिकारी को डॉ लेखी का प्रस्ताव

 

मरीजों के लिए कई बार मसीहा साबित हुए डॉ लेखी का नया कॉन्सेप्ट । 


पीथमपुर औद्योगिक क्षेत्र और ग्रामीण क्षेत्रों के लिए वैक्सीनेशन ऑन व्हील का प्रस्ताव पीथमपुर के वरिष्ठ चिकित्सक डॉ राजेश लेखी ने एक आवेदन के माध्यम से धार जिला कलेक्टर , बीएमओ एवं सीएचएमओ से किया है । डॉक्टर लेखी ने बताया कि तीसरी लहर से पहले वेक्सिनेशन का काम तीव्रता से शुरू करना है इसके लिए अधिक आवश्यक है कि जो जहां हो वहीं वैक्सीन लगवाई जाए। 


हालांकि डॉ लेखी ने अपनी तरफ से मुफ्त सेवाएं भी पीथमपुर क्षेत्र में अपने इस कॉन्सेप्ट के जरिए दी है जिनमे से निशुल्क ए सी एंबुलेंस जो कि अत्याधुनिक एवं सभी सुविधाओं से लैस है । वेक्सिनेशन हेतु ड्राईवर एवं स्टाफ , एंबुलेंस में आवश्यक उपकरण इमरजेंसी मेडिसिन फ्रीज मल्टी पेरा मॉनिटर , सेनेटाईजर , मास्क , ग्लब्स , प्पीई कीट , गाउन इत्यादि सुविधाओं के साथ एंबुलेंस देने की बात कही। 



वेक्सिनेशन ऑन व्हील के क्या फायदे ….? 


डॉ लेखी ने इस प्रस्ताव से होने वाले कई फायदे बताए जिनमें से 1. पीथमपुर की तमाम कंपनियों में काम कर रहे मजदूरों को इससे काफी राहत मिल सकती है । 2. पीथमपुर के आसपास के ग्रामीण क्षेत्र जिनमे , अकोलीया , बरदरी , खेड़ा , सुलावड , मंडलवदा , सागौर , बगदुन , काली खेड़ा , आसुखेडी सभी ग्रामीण क्षेत्रों में वैक्सीनेशन ऑन व्हील् के जरिए काफी आसानी एवं तेजी से वेक्सिनेशन किया का सकता है।

3. मोबाइल व्हेन से लगने वाले वेक्सिनेशन में एबुलेंस में होने वाली इमरजेंसी सुविधाएं भी राहत भरी हो सकती है ।  4. एंबुलेंस के जरिए जन जागरूकता संदेश भी दिया जा सकता है 


सेवा का एक भी मौका नहीं छोड़ते लेखी , मरीज की देखभाल से लेकर गरीबों के भोजन तक सारी व्यवस्थाएं करते है ।  


बताते चले डॉ लेखी पिछले मार्च 2020 से लगातार कोरोना मरीजों को अपनी चिकिस्ता सेवा दे रहे है , जिस दौरान कई महीनों तक वो हॉस्पिटल में ही रहे है। जब लोग वर्क फ्रॉम होम कर रहे थे उस वक्त तक डॉ लेखी ने वर्क फ्रॉम क्लीनिक का कॉन्सेप्ट दिया। इस दौरान एक लम्हा ऐसा भी रहा जब उन्होंने 30 दिन लगातार कार में गुजारकर भी अपनी सेवाएं जारी रखी।

वहीं इस हेतु  डॉ लेखी को भास्कर ग्रुप द्वारा को योद्धा अवॉर्ड से भी सम्मानित भी किया गया। डॉ लेखी ने महामारी से निपटने के लिए पूर्व में भी स्वास्थ्य विभाग को अपनी एंबुलेंस भेंट की थी । अपनी सेवाएं यही नहीं रोकते हुए पुलिस कर्मियों और सभी फ्रंट लाइन वर्कर्स को पूरे धार जिले में कई थानों एवं सरकारी दफ्तरों में जाकर मास्क , सेनेटाइजर , गलब्स इत्यादि मुफ्त में दिए। वहीं लेखी ने गरीबों और पलायन कर्ताओं के लिए भोजन , कपड़ों की भी व्यवस्थाएं भी पूर्व राज्यमंत्री नंदकिशोर वर्मा के साथ मिलकर किया।



Popular posts
आंबेडकर विश्वविद्यालय, महू की "बाबू जगजीवन राम पीठ" के प्रोफेसर के रूप में डॉ शैलेंद्र मणि त्रिपाठी ने किया अपना कार्यभार ग्रहण
चित्र
रामचरित्र मानस पर आधारित प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता का हुआ आंबेडकर विश्वविद्यालय में आयोजन, कई महान विभूतियों ने लिया भाग
चित्र
अम्बेडकर विश्वविद्यालय, महू में भक्तिमयी शबरी पर कार्यक्रम का मंचन
चित्र
विश्व हिंदू परिषद जिला महू की मातृशक्ति-दुर्गा वाहिनी द्वारा शस्त्र पूजन, महाआरती का किया गया आयोजन
चित्र
शक्ति उपासना राष्ट्रीय कवि सम्मेलन के आयोजन को लेकर डा. दवे के नेतृत्व वाले दल ने लिया जायजा
चित्र