आखिर कब होगी बैंक अनलॉक- यशवंत जैन

 

बरझर । जिले में दो महीने से चल आ रहा लोकडौन तो खुल गया लेकिन ग्रामीण बैंक में अब भी काम काज नही हो पा रहा है ।आखिर कब इस बैंक का अनलॉक होगा यह तो खुद बैंक वालो को भी नही पता ।।

   वैसे तो क्षेत्र की एक मात्र बैंक होने का गौरव प्राप्त मध्यप्रदेश ग्रामीण बैंक आज की ऑनलाइन सुविधा से पूरी तरह महरुम है लेकिन जो सुविधायें यहाँ मौजूद है वह भी उपभोक्ता को नही मिल पाती कारण सिर्फ एक  का बोर्ड लगा होता है ।

       जिला जब से लोकडॉवन हुआ है तभी से बैंक के कामकाज भी बंद है ओर तभी से बीएसएनएल की सेवा के साथ बैंक की लिंक भी फेल है । क्षेत्र की एक मात्र बैंक होने से सरकारी खातों के साथ ही दुकानों का लेनदेन भी इसी बैंक के द्वारा होता है लेकिन लिंक फेल होने से सभी उपभोक्ताओं को खाली हाथ लोटना पड़ता है ।

38 दिन से लगातार बन्द है लिंक

बैंक की लिंक पिछले 38 दिनों से बंद है वैसे यदि बीच मे दो तीन चालू रही उसे नजरअंदाज कर दिया जाए तो दो माह से भी ज्यादा से यही हाल है ।उपभोक्ता राकेश का कहना है कि बैंक में उस तरह के दिनों तक लिंक फेल रहना कोई नई बात नही है यहाँ तो महीन में चार पांच दिन ही सही से काम ही पाता है । दिलीप भाई ने बताया उनके बैंक से जुड़े सारे काम इसी बैंक से करते बे लेकिन सिवाय परेसानी के कूछ नही मिलता ।

  ऐसा नही है कि इस बात की जानकारी वरिष्ठ अधिकारी को नही है परन्तु कोई स्थायी समाधान नही निकाल पाए ग्रामीणों ने कई बार आर ओ से मिलकर शाखा में वीसेट लगाने की मांग भी की परन्तु अधिकारियों द्वरा कोई पहल नही की जाती नतीज़न ग्रामीण या तो कॅश लेनदेन करते है या बाहर दूसरी बैंको में खाता खुलवाते है।

        बैंक के शाखा प्रबंधक भिंडे का कहना है की यहाँ लिंक ओरी तरह से बीएसएनएल की लाइन से ही चलती है लाइन बंद होने पर लिंक फेल ही जाती हैं वरिष्ट अधिकारियों को जानकारी देदेते है वीसेट की मांग हमेशा करते रहते है बीएसएनएल का कोई कर्मचारी स्थानीय नही होने से उनके अधिकारी को बताया जाता है परंतु लाइन चालू नही हो रही है।