ममलेश्वर में पंडा पुजारियों के साथ प्रशासन भारतीय पुरातत्व विभाग कर रहा सौतेला व्यवहार बर्दाश्त नहीं किया जाएगा - - - दिपाली तिवारी प्रदेश अध्यक्ष महिला मोर्चा

ओकारेश्वर ( ललित दुबे )ज्योतिर्लिंग भगवान ओकारेश्वर के ममलेश्वर मंदिर पिछला द्वार भारतीय पुरातत्व विभाग एवं प्रशासन द्वारा कोविड-19 के चलते प्रतिबंध कर दिया गया था लगभग 10 माह से गेट बंद होने तथा मंदिर प्रांगण में तीर्थ पंडितों को पूजन हेतु अनुमति नहीं दिए जाने से पंडितों में आक्रोश बढ़ने लगा है 5 जनवरी को सनातन ब्राह्मण महासभा प्रदेश अध्यक्ष के समक्ष अपनी पीड़ा बताते हुए ओकारेश्वर महिला मंडल एवं पीड़ित पंडितों ने द्घार खोलने एवं अपनी जीविका चलाने हेतु पूजन अनुमति दिलाने की मांग की मीडिया से चर्चा करते हुए प्रदेश अध्यक्ष ने कहा पुरातत्व विभाग एवं प्रशासन ने सौतेला व्यवहार बंद नहीं किया तो महिला मंडल ब्राह्मणों के हित में मैदान पर उतरकर आंदोलन प्रारंभ करेगी। संगठन की खंडवा जिला मीडिया प्रभारी श्रीमती ममता दुबे ने बताया कि ममलेश्वर ज्योतिर्लिंग पंडा पुजारी ने संपूर्ण सनातन ब्राह्मण महासभा कि प्रदेश महिला मोर्चा अध्यक्ष श्रीमती दिपाली तिवारी के ओकारेश्वर आगमन पर ज्योतिर्लिंग ममलेश्वर पंडा पुजारी संघ के सुधीर अत्रे राजेश गीते महेश शर्मा अन्य पंडे पुजारियों के 7 महिला मोर्चा की गायत्री बाई उपाध्याय उषा शर्मा प्रियका शर्मा . ममता त्रिवेदी. प्रदेश प्रभारी बबीता शर्मा प्रतिनिधि मंडल की महिलाओं ने ब्राह्मण परिवार के साथ हो रहे सौतेले व्यवहार के संबंध में अवगत कराया ब्राह्मण समाज महिला मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष को स्थानीय प्रशासन एवं भारतीय पुरातत्व विभाग द्वारा ब्राह्मण परिवार को ममलेश्वर मंदिर प्रांगण में अनुमति नहीं दिए जाने तथा शीघ्र पिछला द्वार गेट नहीं खोले जाने के संबंध में अवगत कराया तथा तीर्थ ब्राह्मणों के साथ भारतीय पुरातत्व विभाग एवं प्रशासन द्वारा किए जा रहे सौतेले व्यवहार के संबंध में चर्चा की इस पर प्रदेश अध्यक्ष दिपाली तिवारी ने तहसीलदार उदय मंडलोई से दूरभाष पर चर्चा कर ब्राह्मण परिवार को पूर्ण शीघ्र सहयोग करने की बात कही तहसीलदार मंडलोई ने कहा भारतीय पुरातत्व विभाग एवं वरिष्ठ अधिकारियों से चर्चा कर शीघ्र गेट एवं जीविका चलाने हेतु ब्राह्मणों को अनुमति शीघ्र दिए जाने संबंधी वरिष्ठ से चर्चा करेंगे दिपाली तिवारी ने मीडिया को कहा कि ब्राह्मण परिवार के साथ अन्याय बर्दाश्त नहीं करेंगे अगर प्रशासन सहयोग करता है तो ठीक नहीं तो भोपाल में जाकर पदाधिकारियों से चर्चा कर शीघ्र कार्रवाई कराएंगे क्या कहते हैं जिम्मेदार _ _ भारतीय पुरातत्व विभाग को कोविड-19 के चलते ममलेश्वर पिछला द्वार बंद करने के निर्देश दिए थे पुनः खोलने हेतु पत्र लिख दिया है शीघ्र ही द्वार श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए खुलवा दिया जाएगा उदय मंडलोई तहसीलदार मांधाता




Popular posts
अम्बेडकर विश्वविद्यालय, महू में भक्तिमयी शबरी पर कार्यक्रम का मंचन
चित्र
रामचरित्र मानस पर आधारित प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता का हुआ आंबेडकर विश्वविद्यालय में आयोजन, कई महान विभूतियों ने लिया भाग
चित्र
आंबेडकर विश्वविद्यालय, महू की "बाबू जगजीवन राम पीठ" के प्रोफेसर के रूप में डॉ शैलेंद्र मणि त्रिपाठी ने किया अपना कार्यभार ग्रहण
चित्र
औद्योगिक क्षेत्र पीथमपुर के युवा तरुणाई शुभम पाराशर का जन्म दिवस मनाया गया धूमधाम से
चित्र
अम्बेडकर विश्वविद्यालय का ‘नक्सल ऑपरेशन एंड लेसन्स’ विषय पर राष्ट्रीय परिसंवाद का आयोजन
चित्र