वनों की हो रही है कटाई और अवैध शराब का फल फूल रहा है कारोबार

वन क्षेत्र मे सागौन के वृक्षों को काटकर किया जा रहा में लाखों का अवैध शराब कारोबार फल-फूल रहा आबकारी पुलिस वन विभाग की पकड़ से दूर अवैध शराब माफिया ओकारेश्वर ( ललित दुबे ) वन परिक्षेत्र कोठी के अंतर्गत ग्राम भीलाया. गुंजारी ड्डहिक्या क्षेत्र में पुलिस विभाग. आबकारी विभाग तथा वन विभाग में आपसी तालमेल के अभाव में बड़ी मात्रा में अवैध शराब बिक्री का कारखाना क्षेत्र में धड़ल्ले से चल रहा है इसको लेकर कई बार सामाजिक एवं धार्मिक संगठनों द्वारा अवैध चल रहे शराब बिक्री को शीघ्र बंद करने की मांग शासन प्रशासन से की गई जिसे खंडवा जिला प्रशासन द्वारा गंभीरता से नहीं लिया जा रहा इसके चलते कई परिवार बर्बादी के कगार पर आ खड़े हो गए हैं कई बार फिल्मी अंदाज में पुलिस एवं आबकारी विभाग द्वारा अलग-अलग कार्यवाही की गई वन क्षेत्र में फल-फूल रहे व्यवसाय को बंद करने के लिए कार्रवाई तीनों विभाग के तालमेल के अभाव में की गई कार्रवाई के कारण आरोपी पुलिस पकड़ से दुर है पुलिस विभाग द्वारा कई बार लाखों रुपए के लहान एवं अवैध शराब की भट्टी नष्ट की गई किंतु आरोपी पकड़ से दूर हमेशा की तरह रहे है जानकार सूत्रों ने बताया कि वन विभाग के अधिकारियों की सांठगांठ से बहुमूल्य कीमत की सागवान की लकड़ी या अवैध व्यापार एवं शराब बनाने में लकड़ियां काटकर भटियों में उपयोग की जा रही है इससे लगता है कि वन विभाग द्वारा कुंभकरणी निद्रा में सोकर मौन स्वीकृति अवैध धंधों में लिप्त लोगों को दे रखी है या लंबी सांठगांठ है। मध्य प्रदेश महिला सुरक्षा संगठन खंडवा पुनासा एवं विभिन्न विभिन्न महिला संगठनों ने प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान एवं जिम्मेदारों को ज्ञापन भेजकर मांधाता थाना क्षेत्र एवं वन परिक्षेत्र कोठी गुंजारी झिलार. भीलाया नर्मदा के किनारे बड़ी मात्रा में फल-फूल रहे शराब के अवैध व्यापार को शीघ्र बंद करने की मांग की है महिलाओं ने ज्ञापन में लिखा है कि अवैध जखीरा एवं बड़ी मात्रा में वन भूमि पर फल-फूल रहे अवैध कारोबार को बंद नहीं किया तो उग्र आंदोलन किया जाएगा तथा जिम्मेदारों के विरुद्ध आवश्यक कार्रवाई की मांग भी की है बड़ी मात्रा में अवैध कच्ची शराब के कारण कई घर बर्बाद होने के लिए जिम्मेदार शासन प्रशासन को ठहराया है